राष्ट्रीय

UP Elections 2022: सपा से चंद्रशेखर के गठबंधन पर बोले राजभर, कहा- मंत्री पद के साथ 3 सीट और एक MLC ऑफर हुआ था

Janjwar Desk
15 Jan 2022 4:20 PM GMT
UP Elections 2022: सपा से चंद्रशेखर के गठबंधन पर बोले राजभर, कहा- मंत्री पद के साथ 3 सीट और एक MLC ऑफर हुआ था
x

ओमप्रकाश राजभर ने चंद्रशेखर पर किया पलटवार

UP Elections 2022: भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर आजाद ने अखिलेश से मुलाकात की, जिसके बाद दोनों के बीच गठबंधन की बात कही जा रही थी। मगर, शनिवार को मीडिया से बात करते हुए चंद्रशेखर ने कहा कि, 'अखिलेश दलितों को नहीं चाहते हैं।' ओम प्रकाश राजभर ने इसपर बयान दिया है...

UP Elections 2022: उत्तर प्रदेश (UP Election 2022) में चुनावी तारीखों के ऐलान के साथ ही गठबंधन को तोड़ जोड़ का सिलसिला भी जारी है। तमाम राजनीतिक पार्टियां (Political Parties) जहां ज्यादा से ज्यादा लोगों को अपने पक्ष में करना चाहती हैं तो वहीं, आजाद समाज पार्टी के चीफ चंद्रशेखर आजाद (Azad Samaj Party) का समाजवादी पार्टी के साथ चुनाव लड़ने का सपना अधूरा रह गया। शनिवार 15 जनवरी को आजाद समाज पार्टी के अध्यक्ष और भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Bhim Army Chief Chandrashekhar Azad) ने प्रेस कांफ्रेंस आयोजित कर खुद इस बात की जानकारी दी कि वे सपा के साथ चुनाव नहीं लड़ेंगे। साथ ही चंद्रशेखर ने कहा कि अखिलेश यादव दलितों के साथ चुनाव नहीं लड़ना चाहते। अबतक इस पूरे मामले में सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर (Om Prakash Rajbhar) ने चंद्रशेखर आजाद पर निशाना साधा है। उन्होंने दावा किया कि चंद्रशेखर को मंत्री पद, तीन सीट और एक एमएलसी पद का ऑफर दिया गया था, लेकिन उन्होंने वादा तोड़ दिया।

वहीं, सियासी खींचतान के बीच सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के चीफ ओम प्रकाश राजभर (Omprakash Rajbhar) ने कहा कि, 'तीन दिन पहले खुद चंद्रशेखर की तरफ से संदेश आया था कि किसी तरह सपा से गठबंधन करा दें। उनके लिए तीन सीट, एक एमएलसी पर बात भी हुई थी। साथ ही सरकार बनने पर चंद्रशेखर को मंत्री बनाने का वादा भी था, लेकिन उन्होंने खुद वादा तोड़ा है।'

'अखिलेश को दलितों की जरूरत नहीं'

बता दें कि बीते दिन भीम आर्मी संस्थापक चंद्रशेखर आजाद अखिलेश (Akhilesh Yadav) से मुलाकात करने पहंचे थे, जिसके बाद उनकी पार्टी और सपा के बीच गठबंधन की बात कही जा रही थी। शुक्रवार को दोनों नेताओं के बीच चर्चा के बाद खबर आई कि जल्द ही दोनों दलों के बीच समझौता हो जाएगा। मगर, आज यानि शनिवार को मीडिया से बात करते हुए चंद्रशेखर ने अखिलेश पर आरोप लगाते हुए कहा है कि, 'गठबंधन (Sapa Alliance) में वे दलितों को नहीं चाहते हैं।' चंद्रशेखर ने कहा कि, 'सपा (Samajwadi Party) को दलितों की जरूरत नहीं है। अखिलेश जी सामाजिक न्याय का मतलब नहीं समझ पाए हैं। हमसे बातचीत की। इसमें उन्होंने कुछ भी नहीं कहा। वे दलितों की लीडरशिप खड़ी नहीं होने देना चाहते हैं'

चंद्रशेखर ने कहा कि मेरी लड़ाई कभी भी सत्ता के लिए नहीं रही है। उन्होंने कहा कि, '1 महीना 1 दिन कोशिश की, लेकिन अखिलेश यादव से कोई जवाब नहीं मिला। कल मेरा विश्वास टूट गया। यह लड़ाई प्रतिनिधित्व की है। अखिलेश को दलित समाज की जरूरत नहीं है, उन्हें मेरी बधाई।'

10 मार्च को आएंगे चुनावी नतीजे

गौरतलब है कि, समाजवादी पार्टी ने यूपी विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) में भाजपा (BJP) को कड़ा मुकाबला देने के लिए राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, अपना दल, महान दल, टीएमसी, राष्ट्रीय लोकदल, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) और जनवादी पार्टी से गठबंधन किया है। यूपी में 10 फरवरी से 7 मार्च तक कुल 7 चरणों में चुनाव होने हैं। वहीं, मतगणना (UP Election Result) 10 मार्च को होगी।

Next Story

विविध

Share it