Top
उत्तर प्रदेश

हाथरस कांड में नया मोड़ फॉरेंसिक रिपोर्ट में नहीं हुआ बलात्कार का खुलासा, योगी बोले विपक्ष कर रहा षड्यंत्र

Janjwar Desk
5 Oct 2020 5:40 AM GMT
हाथरस कांड में नया मोड़ फॉरेंसिक रिपोर्ट में नहीं हुआ बलात्कार का खुलासा, योगी बोले विपक्ष कर रहा षड्यंत्र
x
पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि पीड़ित की मौत उसकी गर्दन की चोट के कारण हुई। यूपी पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी प्रशांत कुमार ने कहा 'एफएसएल रिपोर्ट में भी नमूनों में शुक्राणु नहीं मिले हैं, जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि कुछ लोगों ने जाति-आधारित तनाव को भड़काने के लिए मामले को घुमा दिया। ऐसे लोगों की पहचान और कानूनी कार्रवाई की जाएगी।'

जनज्वार, हाथरस। उत्तर प्रदेश के हाथरस में दलित युवती की फोरेंसिक रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उसके साथ बलात्कार नहीं हुआ है। आगरा में फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) की अंतिम रिपोर्ट में कहा गया है कि नमूनों में शुक्राणु नहीं थे। पुलिस ने दावा किया था कि 20 वर्षीय युवती की विसरा की फोरेंसिक रिपोर्ट ने साबित कर दिया था कि उसके साथ बलात्कार या सामूहिक बलात्कार नहीं हुआ था।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहा गया है कि पीड़ित की मौत उसकी गर्दन की चोट के कारण हुई। यूपी पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी प्रशांत कुमार ने कहा 'एफएसएल रिपोर्ट में भी नमूनों में शुक्राणु नहीं मिले हैं, जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि कुछ लोगों ने जाति-आधारित तनाव को भड़काने के लिए मामले को घुमा दिया। ऐसे लोगों की पहचान और कानूनी कार्रवाई की जाएगी।'

युवती के नमूनों को घटना के 11 दिनों बाद आगरा की फॉरेंसिक लैब में भेजा गया था और विशेषज्ञों का कहना है कि शुक्राणु उस समय तक नमूनों में मौजूद नहीं होंगे। उसके नमूने 22 सितंबर को अलीगढ़ के एक अस्पताल में एकत्र किए गए और फॉरेंसिक रिपोर्ट के अनुसार तीन दिन बाद 25 सितंबर को आगरा में फॉरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला में भेजे गए।

चंदपा में युवती पर 14 सितंबर को उसके गांव के तथाकथित उच्च जाति समुदाय के चार लोगों द्वारा हमला किया गया था। वह अपने परिवार के साथ खेतों में गई थी, जहां पर उसके साथ इस घटना को अंजाम दिया गया। परिवार ने उसको नग्न अवस्‍था में बरामद किया, उसके शरीर से खून बह रहा था। उसके शरीर में कई जगह फ्रैक्चर थे। पुलिस ने दावा किया कि उसकी जीभ गला दबाने से कट गई थी।

सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस मामले को केंद्रीय जांच ब्यूरो को सौंप दिया है। इस बीच, हाथरस के नए पुलिस अधीक्षक ने कहा कि भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आज़ाद, जो रविवार को परिवार से मिले थे, उसके बाद युवती के परिवार के लिए सुरक्षा व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि वे असुरक्षित महसूस कर रहे थे और वे गांव से बाहर जाना चाहते थे। इस परिवार की सुरक्षा के संबंध में पुलिस द्वारा सभी आवश्यक कदम उठाए गए हैं।

एसपी विनीत जायसवाल ने बताया क‍ि पीएसी के जवान अपने घर के बाहर 24 घंटे कैंप कर रहे हैं। पीड़ित के भाई को दो सुरक्षाकर्मियों द्वारा 24 घंटे सुरक्षा दी जा रही है। गांव में पर्याप्त संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। वे 24 घंटे ड्यूटी पर रहते हैं, क्योंकि परिवार में महिलाएं हैं। घर के पास दो महिला सब-इंस्पेक्टर और छह महिला कांस्टेबल तैनात हैं।

वहीं योगी आदित्यनाथ ने कल एक वीडियो जारी करते हुए विपक्ष पर निशाना साधा है। योगी ने कहा 'जिन्हें विकास अच्छा नहीं लग रहा है, वह जातीय और सांप्रदायिक दंगा भड़काना चाहते हैं। इन दंगों की आड़ में उन्हें राजनीतिक रोटियां सेंकने का अवसर मिलेगा,इसलिए वे नित नए षड्यंत्र करते हैं, इन षड्यंत्रों के प्रति पूरी तरह आगाह होते हुए हमें विकास की प्रक्रिया को तेजी से आगे बढ़ाना है।'

Next Story

विविध

Share it