उत्तर प्रदेश

Rajya Sabha elections: राहुल के विरोधी कपिल सिब्बल को राज्यसभा भेजेंगे अखिलेश, नाराज आजम को साधने की कोशिश

Janjwar Desk
25 May 2022 6:54 AM GMT
दिल्ली के विकास मॉडल को निशाना बना रही सरकार, कपिल सिब्बल बोले - भगवा हो गए सीबीआई के पंख
x

दिल्ली के विकास मॉडल को निशाना बना रही सरकार, कपिल सिब्बल बोले - भगवा हो गए सीबीआई के पंख

राज्यसभा चुनाव : पिछले कुछ दिनों से समाजवादी पार्टी आजम खान (Azam Khan) और शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) के बगावती तेवर से परेशान है। अखिलेश यादव को शिवपाल यादव से अधिक खतरा नहीं दिख रहा, लेकिन आजम खान को वे छोड़ना नहीं चाह रहे हैं। ऐसे में उन्हें मनाने में कपिल सिब्बल बड़ी भूमिका निभा सकते हैं।

Rajya Sabha Elections : उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में राज्यसभा चुनाव 2022 (Rajyasabha Election 2022) की गहमागहमी चरम पर है। समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) ने सभी को चौंकाते हुए सपा से नाराज आजम खान ( Azam Khan ) के वकील कपिल सिब्बल ( Kapil Sibbal ) को राज्यसभा भेजने का फैसला लगभग कर लिया है। ऐसा कर उन्होंने एक तीर से दो निशाने साधने की कोशिश कर रहे हैं। पहला नाराज आजम खान नरम पड़ जाएंगे तो पार्टी के अंदर जारी गुटबाजी पर भी विराम लग जाएगा। साथ ही सपा को राज्यसभा में एक बुलंद आवाज मिल जाएगी।

बता दें कि लंबे समय से कपिल सिब्बल ( Kapil Sibbal ) राहुल गांधी ( Rahul Gandhi ) को खुलकर विरोध कर रहे हैं। वह कांग्रेस में जी-23 गुट के अगुवा नेताओं में से एक हैं।

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से समाजवादी पार्टी आजम खान (Azam Khan) और शिवपाल यादव (Shivpal Yadav) के बगावती तेवर से परेशान है। अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav ) को शिवपाल यादव से अधिक खतरा नहीं दिख रहा, लेकिन आजम खान को वे छोड़ना नहीं चाह रहे हैं। ऐसे में उन्हें मनाने में कपिल सिब्बल ( kapil Sibbal ) बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। अखिलेश यादव ने कपिल सिब्बल के माध्यम से आजम को मनाने के साथ-साथ कांग्रेस के एक बड़े चेहरे को अपने साथ जोड़कर पार्टी को बड़ा झटका देने की भी कोशिश की है।

आजम खान को खोना नहीं चाहते अखिलेश

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल ( kapil Sibbal ) को राज्यसभा भेजकर अखिलेश यादव पार्टी की अंदरूनी राजनीति को समाप्त करना चाहते हैं। सपा के कद्दावर नेता आजम खान 27 माह बाद सीतापुर जेल से बाहर निकले हैं। कोर्ट में उनकी पैरवी पूर्व केंद्रीय मंत्री और मशहूर वकील कपिल सिब्बल ने की है। दावा किया जा रहा है कि आजम खान की पैरवी के लिए समाजवादी पार्टी की ओर से कपिल सिब्बल को तैयार किया गया था। ऐसे में कपिल सिब्बल को पार्टी की ओर से आजम खान को मनाने की जिम्मेदारी दी जा सकती है। यदि वे इसमें कामयाब होते हैं तो उन्हें बतौर ईनाम राज्यसभा भेजा जाएगा।

सपा से इन लोगों को राज्यसभा भेजने की तैयारी

Rajya Sabha Elections : यूपी ( Uttar Pradesh ) से राज्यसभा चुनाव के लिए सपा के उम्मीदवारों की सूची में कपिल सिब्बल, डिंपल यादव और जावेद अली खान के नाम की चर्चा है। सपा ने तीनों नेताओं का नाम राज्यसभा के लिए लगभग फाइनल माना जा रहा है। बहुत जल्द तीनों नेता समाजवादी पार्टी से राज्यसभा का पर्चा भरेंगे। 10 जून को उत्तर प्रदेश की 11 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने हैं। इसके लिए 31 मई तक नामांकन किया जाना है।


(जनता की पत्रकारिता करते हुए जनज्वार लगातार निष्पक्ष और निर्भीक रह सका है तो इसका सारा श्रेय जनज्वार के पाठकों और दर्शकों को ही जाता है। हम उन मुद्दों की पड़ताल करते हैं जिनसे मुख्यधारा का मीडिया अक्सर मुँह चुराता दिखाई देता है। हम उन कहानियों को पाठक के सामने ले कर आते हैं जिन्हें खोजने और प्रस्तुत करने में समय लगाना पड़ता है, संसाधन जुटाने पड़ते हैं और साहस दिखाना पड़ता है क्योंकि तथ्यों से अपने पाठकों और व्यापक समाज को रू-ब-रू कराने के लिए हम कटिबद्ध हैं।

हमारे द्वारा उद्घाटित रिपोर्ट्स और कहानियाँ अक्सर बदलाव का सबब बनती रही है। साथ ही सरकार और सरकारी अधिकारियों को मजबूर करती रही हैं कि वे नागरिकों को उन सभी चीजों और सेवाओं को मुहैया करवाएं जिनकी उन्हें दरकार है। लाजिमी है कि इस तरह की जन-पत्रकारिता को जारी रखने के लिए हमें लगातार आपके मूल्यवान समर्थन और सहयोग की आवश्यकता है।

सहयोग राशि के रूप में आपके द्वारा बढ़ाया गया हर हाथ जनज्वार को अधिक साहस और वित्तीय सामर्थ्य देगा जिसका सीधा परिणाम यह होगा कि आपकी और आपके आस-पास रहने वाले लोगों की ज़िंदगी को प्रभावित करने वाली हर ख़बर और रिपोर्ट को सामने लाने में जनज्वार कभी पीछे नहीं रहेगा, इसलिए आगे आयें और जनज्वार को आर्थिक सहयोग दें।)

Next Story

विविध