file photo

राजधानी दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव डॉक्टरों की संख्या 4 हो गयी है, जिसके बाद दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट को बंद कर दिया गया है….

जनज्वार। दुनियाभर और देशभर में कोरोना पॉजिटिव मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। बड़ी संख्या में स्वास्थ्यकर्मी भी इसका शिकार हो रहे हैं, मगर बावजूद इसके उनके पास इलाज के दौरान पहने जाने वाले कपड़े और मॉस्क तक नहीं है, जिस कारण वे रेनकोट पहनकर इलाज कर रहे हैं। ऐसे में उनका कोरोना पॉजिटिव होना कोई बड़ी बात नहीं है।

यह भी पढ़ें : CORONA के आतंक से भयभीत गोपाल कृष्ण ने कर ली आत्महत्या, इलाके में हड़कंप

राजधानी दिल्ली में कोरोना पॉजिटिव डॉक्टरों की संख्या 4 हो गयी है, जिसके बाद दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट को बंद कर दिया गया है।

ज 1 अप्रैल की शाम को एक और डॉक्टर का कोविड-19 परीक्षण पॉजिटिव आने के साथ दिल्ली में इस संक्रमण से प्रभावित डॉक्टरों की कुल संख्या चार हो गई है। यह डॉक्टर सरदार पटेल अस्पताल के हैं और प्रशासन अब इनके संक्रमण के स्रोत का पता लगा रहा है।

संबंधित खबर : बिहार में कोरोना वायरस के 6 मामले पॉजिटिव-एक की मौत, मरीजों की जांच रिपोर्ट में हो रही देरी

Support people journalism

ससे पहले, दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूशन के एक डॉक्टर भी इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जिसके बाद इस अस्पताल को सैनिटाइजेशन के लिए बंद कर दिया गया था। बाबरपुर और मौजपुर मोहल्ला क्लिनिक के दो डॉक्टरों का भी कोरोनावायरस परीक्षण पॉजिटिव निकला था। अधिकारियों ने इनके रोगियों को घर पर क्वारेंटाइन में रहने के लिए कहा है।

गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोनवायरस मामलों की गिनती 120 तक पहुंच गई है, जिसमें 49 लोग ऐसे हैं, जिन्होंने विदेश यात्रा की थी।

संबंधित खबर: दिल्ली के पहले कोरोना वायरस पॉजिटिव रोगी ने कैसे रिकवर की जिंदगी, बताए अपने अनुभव

दिल्ली स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट के डॉक्टर के कोरोना पॉजिटिव होने पर अस्पताल प्रशासन का कहना है कि उनको अपने रिश्तेदार से यह संक्रमण हुआ है, जो विदेश से वापस आया था।

संबंधित खबर : कोरोना वायरस से भारत के 80 फीसदी से ज्यादा प्रवासी मजदूरों की आजीविका पर संकट

सी के बाद अस्पताल प्रशासन ने ओपीडी के साथ अस्पताल को भी सेनिटाइजेशन के लिए बंद करने का निर्णय लिया।

इनपुट : आईएएनएस


Edited By :- Janjwar Team