Top
राजनीति

अमित शाह तब्लीगी जमात में शामिल हुए 960 मुस्लिम विदेशियों के झूठ पर हुए सख्त, दिया कड़ी कार्रवाई का आदेश

Prema Negi
2 April 2020 4:55 PM GMT
अमित शाह तब्लीगी जमात में शामिल हुए 960 मुस्लिम विदेशियों के झूठ पर हुए सख्त, दिया कड़ी कार्रवाई का आदेश
x

गृह मंत्रालय द्वारा तब्लीगी जमात, निजामुद्दीन के मामले में दिल्ली पुलिस और अन्य सम्बंधित राज्यों के पुलिस महानिदेशकों को विदेशी अधिनियम,1946 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम,2005 के प्रावधानों का उल्लंघन करने के लिए 960 विदेशियों के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं...

जनज्वार। निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात में शामिल हुए विदेशियों के खिलाफ गृह मंत्रालय ने बड़ी कार्यवाही की है। सभी के भारतीय वीजा रद्द कर दिये गये हैं। इसके साथ ही उन्हें ब्लैक लिस्ट भी कर दिया गया है। यह सभी जमाती पर्यटक वीजा पर भारत आये हुये थे। केंद्रीय गृह मंत्री की ओर से इस बाबत एक ट्वीट भी किया गया, जिसमें मामले की पूरी जानकारी दी गयी है।

इसमें बताया गया कि गृह मंत्रालय द्वारा पर्यटक वीजा पर तब्लीगी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने के कारण 960 विदेशियों को ब्लैक लिस्ट किया गया है। साथ ही उनका भारतीय वीजा भी रद्द कर दिया गया है। गृह मंत्रालय द्वारा तब्लीगी जमात, निजामुद्दीन के मामले में दिल्ली पुलिस और अन्य सम्बंधित राज्यों के पुलिस महानिदेशकों को विदेशी अधिनियम,1946 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम,2005 के प्रावधानों का उल्लंघन करने के लिए 960 विदेशियों के विरुद्ध आवश्यक कानूनी कार्यवाई करने के निर्देश दिए हैं।

संबंधित खबर : तबलीगी जमात से जुड़े 400 लोग कोरोना पॉजिटिव, 1,804 को रखा एकांतवास में



ताया जा रहा है कि कार्यक्रम में भाग लेने वाले जमाती बाद में यहां से निकल कर देश के अलग अलग हिस्सों में छुप गये थे। इसमें कुछ जमाती कोरोना वायरस से संक्रमित थे। इस वजह से वायरस कई जगह फैलने का भी अंदेशा बना गया है।

धर हरियाणा में निजामुद्दीन मरकज से हरियाणा में आये जमात के लोगों पर सख्त कार्यवाही की जा रही है। जमात में शामिल हुये लोग अलग-अलग जिलों की मस्जिदों व घरों में थे। सीएम मनोहर लाल खट्टर ने बताया कि हरियाणा में विदेश से 107 लोग हरियाणा आए हुए थे। इनके पासपोर्ट जब्त करके, इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली गई है। वहीं निजामुद्दीन से प्रदेश के 1277 लोग वापस आ गये हैं। इनकी भी पहचान कर ली है। जिसमें से 725 को क्वारैंटाइन किया गया है।

रियाणा में 15,742 लोगों को निगरानी में रखा गया है। कुल 1102 लोगों के सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 885 सैंपल नेगेटिव पाए गए हैं। वर्तमान में राज्य में केवल 22 पॉजिटिव मामले हैं, जोकि पहले 35 पॉजिटिव मामले थे और इनमें से 13 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। यह जानकारी सीएम ने मनोहर लाल ने दी है। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति को लोगों की सेहत से खिलवाड़ा करने की इजाजत नहीं दी जायेगी।

यह भी पढ़ें : निजामुद्दीन की घटना के बाद कोरोना गया तेल लेने, मीडिया ने फैलाना शुरू किया नफरत का वायरस

सीएम ने बताया कि राज्य सरकार आयुष डॉक्टरों की सेवाएं लेने पर विचार कर रही है। जिससे लोगों को लगातार गुणवत्ता वाली स्वास्थ्य देखभाल सेवाएं प्रदान की जा सकें। इसके लिए, इन डाक्टरों को ऑनलाइन प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। इस तरह से प्रदेश में डॉक्टरों की कमी को भी पूरा किया जा सकेगा।

धर पलवल जिले के कई गांवों में भी मरकज से आये लोग ठहरे थे। यहां प्रशासन ने उन गांवों के सरपंचों के खिलाफ भी सख्त कदम उठाया है। उन पर आरोप है कि समय रहते इनकी जानकारी प्रशासन को क्यों नहीं दी गयी। इन सरपंचों में हुंचपुरी, महलूका, दुरैंची, मठेपुर और छांयसा शामिल है। 5 गांवों के नम्बरदारों व चौकीदारों को कारण बताओ नोटिस जारी कर दिए गए है।

संबधित खबर : सरकार है अपराधी? तबलीगी जमात ने मांगा था 17 गाड़ियों का कर्फ्यू पास, फिर भी सोती रही सरकार

रियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने सभी जिला खाद्य नियंत्रक अधिकारियों को निर्देश दिए कि थोक एवं खुदरा व्यापारियों की दुकानों पर रोजमर्रा की आवश्यक वस्तुएं राशन, किरयाना व सब्जी के भाव की सूची सरकार द्वारा निर्धारित मूल्यों पर ही बेचनी जानी सुनिश्चित की जाये। यदि कोई दुकानदार जमाखोरी या कालाबजारी करता है तो उसके खिलाफ महामारी अधिनियम के उल्लघंन के तहत सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में खाने पीने की चीजों का उचित भंडार है। किसी को घराबने की जरूरत नहीं है।

संबंधित खबर : निजामुद्दीज मरकज के धार्मिक अंधविश्वास ने दिल्ली को बनाया कोरोना का रेडजोन, 24 पॉजिटिव मरीज मिले

स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि इस वक्त लोग सहयोग करें। हम सभी के सहयोग से इस वायरस पर काबू पा सकते हैं। उन्होंने पुलिस को सख्त निर्देश देते कहा कि लॉकडाउन को सख्ती से पालन किया जाये। यदि कोई भी व्यक्ति बिना कारण से घर से बाहर है तो उसके खिलाफ भी सख्त कार्यवाही की जानी चाहिए।

Next Story

विविध

Share it