Top
अंधविश्वास

हजारों टन सोना दबा होने की घोषणा करने वाले शोभन सरकार मरते-मरते भी करा गए हजारों पर मुकदमा

Manish Kumar
15 May 2020 5:59 AM GMT
हजारों टन सोना दबा होने की घोषणा करने वाले शोभन सरकार मरते-मरते भी करा गए हजारों पर मुकदमा
x

हजारों टन सोना दबा होने का दावा करने वाले महंत की जल समाधि के दौरान कानपुर नगर और कानपुर देहात जिले के कई विधायक, सांसद और मंत्री भी पहुंचे थे सुनौड़ा और उड़ीं थीं सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां...

मनीष दुबे की रिपोर्ट

कानपुर, जनज्वार। उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात स्थित शोभन आश्रम के महंत विरक्तानंद महाराज उर्फ शोभन सरकार 13 मई को ब्रह्मलीन हो गए थे। उनके अंतिम दर्शनों के लिए उमड़ी भीड़ पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस का कहना है कि भीड़ ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को दरकिनार किया। जिसके बाद पुलिस ने भीड़ पर लॉकडाउन उल्लंघन और महामारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की है।

गौरतलब है कि शोभन आश्रम के महंत विरक्तानंद महाराज उर्फ शोभन सरकार के ब्रह्मलीन शरीर को बुधवार 13 मई कोको जलसमाधि दी गई थी। इस दौरान चौबेपुर के सुनौड़ा गांव के पास गंगातट पर हजारों की भीड़ उमड़ पड़ी थी। सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का उल्लंघन होने पर अधिकारियों के आदेश पर चौबेपुर एसओ और दो दरोगाओ ने 4100 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

की जल समाधि के दौरान कानपुर नगर और कानपुर देहात जिले के कई विधायक, सांसद और मंत्री भी सुनौड़ा पहुंचे थे।

धर, शिवली कोवताली पुलिस ने लॉकडाउन उल्लंघन में 100 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई है। यह सभी लोग शोभन मंदिर परिसर में पहुंचे थे। कोतवाली प्रभारी वीरपाल सिंह तोमर ने जनज्वार को बताया कि लॉकडाउन के बावजूद भी 100 से अधिक लोग शोभन मंदिर पहुंचे थे।

यह भी पढ़ें - यात्रियों से 650 की जगह 6600 की वसूली, ट्रांसपोर्टरों का आरोप केजरीवाल के अधिकारी ले रहे 6 से 9 हजार प्रति परमिट घूस

चौबेपुर एसओ विनय तिवारी के मुताबिक महंत विरक्तानंद जी महाराज की अंतिम यात्रा में लोगों की भीड़ चौबेपुर के प्रमुख बाजारों से होते हुए गंगातट पर पहुंची थी। पुलिस ने कई लोगों को कानून का हवाला देकर रोका भी था। इसके बावजूद भी लॉकडाउन का उल्लंघन किया गया। इसी का संज्ञान लेकर आलाधिकारियों के निर्देश पर थाने के दारोगा देवेंद्र कुमार, अंजलि तिवारी ने कुल 4100 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

शोभन आश्रम के महंत विरक्तानंद महाराज उर्फ शोभन सरकार के अंतिम संस्कार में उमड़ी हजारों लोगों की भीड़

शोभन सरकार उर्फ विरक्तानंद की अंतिम यात्रा में मंत्री नीलिमा कटियार, सांसद देवेंद्र सिंह भोले, विधायक अमिताभ बाजपेई, प्रतिभा शुक्ला, सुरेंद्र मैथानी सहित कई पूर्व विधायक और कई पार्टियों के वर्तमान और पूर्व पदाधिकारी भारी जनसैलाब के बीच अपनी अपनी राजनैतिक रोटियां सेंकने के लिए मौजूद रहे थे। एसओ ने बताया कि वीडियो और उपलब्ध फोटो के आधार पर नियम उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाएगी

यह भी पढ़ें - भूख! कटिहार रेलवे स्टेशन पर प्रवासी मजदूरों के बीच बिस्कुट को लेकर हुई छीनाझपटी

सीओ बिल्हौर देवेंद्र कुमार मिश्रा का कहना है कि नियम सभी के लिए बराबर हैं, बुधवार को लोगों ने लॉकडाउन का मजाक बना दिया था। हजारों लोगों पर महामारी का अंदेशा बढ़ गया है।

कभी की थी हजारों टन सोना दबे होने की भविष्यवाणी

आपको बताते चलें कि कानपुर देहात स्थित शोभन मंदिर उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के कई राज्यों में रहने वाले लोगों के लिए आस्था का मुख्य केंद्र था। इन्हीं शोभन सरकार ने ही उन्नाव के डौंडियाखेड़ा में हजारों टन सोना दबा होने की भविष्यवाणी की थी, जिसके बाद सरकार ने दिन रात खुदाई करवाकर डौंडियाखेड़ा की खाख छानी थी।

गौरतलब है कि कानपुर देहात स्थित शोभन मंदिर उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के कई राज्यों में रहने वाले लोगों के लिए आस्था का मुख्य केंद्र था। यहां के संत शोभन सरकार ने उन्नाव के डौंडियाखेड़ा में हजारों टन सोना दबा होने की भविष्यवाणी की थी, जिसके बाद सरकार सहित देश और विदेश तक लोगों की नींद उड़ गई थी। सरकार ने दिन रात खुदाई करवाकर डौंडियाखेड़ा की खाख छानी थी, तो पूरे उत्तर प्रदेश में चारों ओर बदमाशों ने सोना निकलने की उम्मीद में तमाम जगहें खोद डाली थीं।

शोभन सरकार के बाद इतने बड़े पैमाने पर लोगों पर दर्ज मुकदमे की बात पर सीओ बिल्हौर देवेंद्र कुमार मिश्रा का कहना है कि नियम सभी के लिए बराबर हैं, लोगों ने लॉकडाउन का मजाक बना दिया था। इससे हजारों लोगों पर महामारी का अंदेशा बढ़ गया है।

Next Story

विविध

Share it