Top
बिहार

अमित शाह की वर्चुअल रैली पर भड़के तेजस्वी, कहा लोग भूखों मर रहे हैं और भाजपा-जदयू चुनावों की तैयारियों में व्यस्त

Prema Negi
3 Jun 2020 6:21 AM GMT
अमित शाह की वर्चुअल रैली पर भड़के तेजस्वी, कहा लोग भूखों मर रहे हैं और भाजपा-जदयू चुनावों की तैयारियों में व्यस्त
x

तेजस्वी बोले, कोरोना और लॉकडाउन की भयावहता में गरीब-मजदूर सड़कों पर मर रहे हैं, बेरोजगारी की स्थिति भयावह है। भूख और गोलियों से लोग मर रहे हैं और बीजेपी चुनावी तैयारियों में लग गयी है...

जनज्वार, पटना। बॉलीवुड का एक मशहूर गाना है 'तेरा पीछा ना छोड़ेंगे...' बिहार की राजनीति अभी कुछ इसी तर्ज पर चल रही है। बीजेपी जिस दिन वर्चुअल रैली की घोषणा कर रही है, प्रमुख विपक्षी दल राजद उसी दिन 'थाली पीटो कार्यक्रम' का ऐलान कर दे रहा है।

बुधवार 3 जून की सुबह नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने कहा कि वे लोग गरीब-मजदूरों की मदद में जुटे हैं और बीजेपी चुनाव की तैयारियों में, पर वे बीजेपी का पीछा नहीं छोड़ने वाले। उन्होंने घोषणा की है कि अब उनका 'थाली पीटो'-सह मजदूर अधिकार रैली का कार्यक्रम भी अब 7 जून को ही होगा।

यह भी पढ़ें : देश में दिनोंदिन बढ़ रहे कोरोना के मामले और बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारियां जोरों पर

उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के इस दौर में बीजेपी का गरीब विरोधी चेहरा खुलकर सामने आ गया है। राज्य की जदयू-बीजेपी की डबल इंजन की सरकार हर मोर्चे पर फेल है और वे चुनाव तक इन लोगों का पीछा छोड़ने वाले नहीं। चुनाव बाद जनता ही इन्हें बाहर कर देगी।



?s=20

उन्होंने कहा कि गरीब-मजदूर सड़कों पर मर रहे हैं, बेरोजगारी की स्थिति भयावह है।उन्होंने आरोप लगाया कि लोग भूख और गोलियों से मर रहे हैं और बीजेपी चुनावी तैयारियों में लग गयी है। पर वे गरीबों-मजदूरों-बेरोजगारों की लड़ाई लड़ते रहेंगे। उनकी चिंता यह है कि मजदूर अपने घर कैसे पहुंचे। सबके पेट भरने की व्यवस्था कैसे हो।

यह भी पढ़ें : बिहार में महादलित महिला के साथ पकड़ा गया युवक तो ग्रामीणों ने हाथ-पैर बांधकर पिला दिया पेशाब

उन्होंने कहा कि एक तरफ बिहार के उपमुख्यमंत्री बीजेपी के सुशील कुमार मोदी कह रहे हैं कि केंद्रीय गृह मंत्री का कार्यक्रम रैली नहीं है, वहीं दूसरी तरफ बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल कह रहे हैं कि यह वर्चुअल रैली है। यानी बीजेपी के लोग खुद ही कन्फ्यूज हैं।

उल्लेखनीय है कि देश में चल रहे कोरोना संकट के बीच ही बीजेपी ने बिहार में केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह की 9 जून को एक वर्चुअल रैली कराने की घोषणा की थी। जवाब में प्रमुख विपक्षी दल राजद ने 9 जून को ही 'थाली पीटो' कार्यक्रम कर 'मजदूर अधिकार दिवस' मनाने की घोषणा कर दी, जिसके बाद राजनीतिक गलियारों में हलचल तेज हो गयी थी। इस बीच मंगलवार 2 जून को बीजेपी ने 9 जून को प्रस्तावित वर्चुअल रैली की तिथि बदलकर 7 जून कर दी है।

Next Story

विविध

Share it