Top
राजनीति

भारत के दरियादिल पूंजीपति ने दिये चैरिटी के लिए 50 हजार करोड़

Prema Negi
27 March 2019 11:12 AM GMT
भारत के दरियादिल पूंजीपति ने दिये चैरिटी के लिए 50 हजार करोड़
x

अजीम प्रेमजी भारत रत्न के हकदार हैं। उन्होंने अब तक 50,000 करोड़ रुपये दान में दिए हैं। दूसरा सबसे अमीर भारतीय, लो प्रोफाइल और वास्तव में सोने का दिल, अज़ीम जी अद्भुत....

जनज्वार। विप्रो के संस्थापक अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक अजीम एच प्रेमजी ने 50,000 करोड़ रुपये दिये हैं। यह पहली बार नहीं है कि अजीम प्रेमजी इस तरह की चैरिटी कर रहे हों, इससे पहले भी देश के संकट के समय वो इस तरह की मदद करते रहे हैं।

जीम प्रेमजी के इतनी बड़ी चैरिटी पर अशोक स्वैन ने लिखा है, क्यों नहीं हिंदू बिलेनियर्स अडानी और अंबानी इस तरह की ​दरियादिली दिखा रहे हैं।

जावेद कुरैशी कहते हैं, अजीम प्रेमजी भारत रत्न के हकदार हैं। उन्होंने अब तक 50,000 करोड़ रुपये दान में दिए हैं। दूसरा सबसे अमीर भारतीय, लो प्रोफाइल और वास्तव में सोने का दिल, अज़ीम जी अद्भुत।

यह भी पढ़ें : पूंजीपतियों में अडानी ने 2017 में कमाये सबसे ज्यादा पैसे

जेम्स विल्सन कहते हैं, अजीम प्रेमजी ने अपनी कंपनी के 34 प्रतिशत शेयर जिनकी कीमत 52,750 करोड़ रुपये है, चैरिटी में देकर इंडियन स्टेट के हमेशा तने हुए रहने वाले चेहरे पर एक जोरदार थप्पड़ मारने का काम किया है।'

डॉ. अर्पित हल्दिया ने ट्वीट किया है, 'क्या मैं सही पढ़ रहा हूं...अज़ीम प्रेमजी ने 34% विप्रो के शेयरों की कीमत 50,000 करोड़ रुपये से अधिक है। यह उनके परोपकारी दान का कुल मूल्य 1,45,000 करोड़ या 21 बिलियन डॉलर के बराबर है।'

बेन ऐंड कंपनी द्वारा पिछले सप्ताह जारी इंडियन फिलेनथ्रॉपी रिपोर्ट की मानें तो, साल 2014 से लेकर अब तक प्रेमजी को छोड़कर 10 करोड़ रुपये और उससे अधिक दान करने वालों की संख्या में 4 फीसदी की गिरावट आई है, जबकि इस दौरान अल्ट्रा-रिच जिनकी कुल संपत्ति 35 करोड़ या उसे अधिक है, ऐसे लोगों की संख्या में 12 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है।

इंडियन फिलेनथ्रॉपी रिपोर्ट के मुताबिक, 'चैरिटी करने वाले लोगों की लिस्ट पर नजर डालें, तो परोपकार के लिए की गयी कुल चैरिटी में 55 फीसदी हिस्सेदारी यूएचएनआई (अल्ट्रा हाई नेट वर्थ इंडिविजुअल्स) के बड़े दान (10 करोड़ रुपये या अधिक) की है। दिलचस्प बात तो यह है कि इन आंकड़ों में 80 फीसदी हिस्सेदारी अजीम प्रेमजी द्वारा किए गए दान की है। 2014 से लेकर अब तक 10 करोड़ रुपये और उससे अधिक दान करने वालों की संख्या में जहां 4 फीसदी गिरावट आयी है, वहीं अमीरों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इस रिपोर्ट के मुताबिक ही 2022 तक ऐसे परिवारों की संख्या 1,60,600 परिवारों से दोगुनी बढ़कर 3,30,400 और उनकी संपत्ति 1,53,000 करोड़ रुपये से बढ़कर 3,52,000 करोड़ रुपये हो जाने की उम्मीद है।

अजीम प्रेमजी की इतनी बड़ी चैरिटी पर शशि शंकर सिंह ने ट्वीट किया है, 'अजीम प्रेमजी भारत के बिल गेट्स हैं, जो बिना शोर-शराबे के एक महान मानवतावादी सेवा कर रहे हैं। उन्हें मेरा सलाम।'

Next Story

विविध

Share it