Top
बिहार

होमगार्ड को बेइज्जत करने वाले अधिकारी को लेकर नीतीश सरकार की सफाई: नहीं हुआ कोई प्रमोशन

Manish Kumar
26 April 2020 9:46 AM GMT
होमगार्ड को बेइज्जत करने वाले अधिकारी को लेकर नीतीश सरकार की सफाई: नहीं हुआ कोई प्रमोशन
x

पिछले दिनों एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार एक चौकीदार से कान पकड़कर उठक-बैठक करवाते दिख रहे थे...

पटनाः अररिया वीडियो मामले में नीतीश सरकार ने सफाई दी है कि होमगार्ड को बेइज्जत करने के आरोपी कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार को कोई प्रमोशन नहीं दिया है. बता दें आरोपी मनोज कुमार पर अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

सरकार की यह सफाई उन खबरों के बाद आई है जिनमें कहा गया था कि राज्य सरकार ने होमगार्ड को बेइज्जत करने के आरोपी कृषि पदाधिकारी को प्रमोट कर डिप्टी डायरेक्टर बना दिया है. सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने वाली इस खबर के बाद आनन फानन में सरकार ने यह सफाई जारी की.

मनोज कुमार अब तक कार्रवाई नहीं सिर्फ ट्रांसफर

दरअसल राज्य सरकार ने अररिया जिला के कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार का कृषि विभाग में डिप्टी डायरेक्टर के पद पर ट्रांसफर कर दिया है.

यह भी पढ़ें- GROUND REPORT : मिडडे मील था जिनके पेट का एकमात्र सहारा, उन हजारों बच्चों के सामने लॉकडाउन में भूखों मरने की नौबत

बता दें पिछले दिनों अररिया का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था जिसमें अररिया के जिला कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार एक चौकीदार के साथ दुर्व्यवहार करते और उससे कान पकड़कर उठक-बैठक करवाते दिख रहे हैं। मनोज कुमार से ड्यूटी पर तैनात चौकीदार ने पास दखाने के लिए कहा था जो उन्हें नागवार गुजरा। उन्होंने सजा के तौर पर चौकीदार से उठक-बैठक करने को कहा।

एसआई पर कार्रवाई लेकिन मनोज कुमार पर नहीं

इस मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस विभाग ने मौके पर मौजूद एएसआई गोविंद सिंह को सस्पेंड कर दिया था क्योंकि उसने भी कृषि पदाधिकारी का ही साथ दिया था. तबसे उम्मीद की जा रही थी कि कृषि पदाधिकारी मनोज कुमार पर भी कार्रवाई की जाएगी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

यह भी पढ़ें- यूपी पुलिस ने फेक न्यूज के लिए दर्ज किए 500 मुकदमे, लेकिन नफरत फैलाने वाले एक भी एंकरों-नेताओं का नाम नहीं शामिल

क्या कहा सरकार ने?

सरकार के कृषि विभाग की तरफ से सफाई में कहा गया है कि DAO अररिया को अररिया से बाहर मुख्यालय में डिप्टी डायरेक्टर, ट्रेनिंग के तौर पर ट्रांसफर कर दिया गया है.



?s=20

सरकार ने कहा है कि उनको कोई प्रमोशन नहीं दिया गया है बल्कि वह पहले से ही डिप्टी डायरेक्टर स्केल में थे. उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई जारी है और उनके खिलाफ FIR भी दर्ज हो चुकी है.

Next Story

विविध

Share it