Top
बिहार

बिहार के गाड़ी मैकेनिक ने हैदराबाद में की आत्महत्या, कमरे का किराया चुकाने के नहीं थे पैसे

Nirmal kant
14 April 2020 3:44 PM GMT
बिहार के गाड़ी मैकेनिक ने हैदराबाद में की आत्महत्या, कमरे का किराया चुकाने के नहीं थे पैसे
x
Representative Image

लॉकडाउन की घोषणा के बाद आमिर अकेले रह गया था और उसके पास पैसे नहीं थे और वह घर भी नहीं जा पाया था जिस कारण था वह तनाव में...

जनज्वार टीम। कोरोनावारयस की वजह से लगे लॉकडाउन के कारण घर नहीं जा पाने और आर्थिक तंगी से निराश होकर बिहार के रहने वाले एक प्रवासी कामगार ने हैदराबाद में आत्महत्या कर ली। पुलिस ने यह जानकारी दी।

24 वर्षीय मोहम्मद आमिर ने सोमवार 13 अप्रैल को उप्पल में अपने किराए के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना तब सामने आई जब बिहार में उसके परिवार के सदस्यों ने फोन कॉल का जवाब नहीं मिलने पर घबराकर उसके दोस्त को फोन किया और उसका दोस्त उसके कमरे पर पहुंचा।

संबंधित खबर : हिमाचल में लॉकडाउन 3 मई तक रहेगा जारी, 20 अप्रैल के बाद मिल सकती है कुछ राहत

पुलिस के मुताबिक, गाड़ी मैकेनिक के रूप में काम करने वाला युवक परेशान था, क्योंकि वह घर नहीं जा सकता था और उसके पास कमरे का किराया देने के लिए पैसे नहीं थे।

एक अन्य शख्स अजीम के साथ कमरा साझा करता था, वह भी बिहार का रहने वाला है। अजीम 13 मार्च को बिहार चला गया था।

संबंधित खबर : झारखंड में राशन वितरण की निगरानी में कांग्रेसियों की मुस्तैदी पर बीजेपी ने खड़े किए सवाल

लॉकडाउन की घोषणा के बाद आमिर अकेले रह गया था और उसके पास पैसे नहीं थे। उसने फोन पर परिवार के सदस्यों को अपनी समस्या बताई थी और परिजनों ने उसे आश्वासन दिया था कि वे किराए का भुगतान करने के लिए कुछ पैसे भेजेंगे।

Next Story

विविध

Share it