Top
दिल्ली

कथित दंगाई BJP नेता कपिल मिश्रा ने US प्रदर्शनों पर कहा- दिल्ली दंगे की तरह प्रदर्शनकारियों के सामने उतरे सही लोग

Raghib Asim
2 Jun 2020 6:30 AM GMT
कथित दंगाई BJP नेता कपिल मिश्रा ने US प्रदर्शनों पर कहा- दिल्ली दंगे की तरह प्रदर्शनकारियों के सामने उतरे सही लोग
x

कथित दंगाई बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने अमेरिका में हो रहे दंगों को लेकर ट्वीट कर कहा है कि अगर सड़कों पर गलत लोग आकर दंगे करें, आग लगाएं तो सही लोगों को उनके सामने खड़े होकर मजबूती से बताना होगा कि वो किसी को भी ऐसा नहीं करने देंगे...

नई दिल्ली, जनज्वार। भारतीय जनता पार्टी नेता (BJP) कपिल मिश्रा ने अमेरिका में अश्वेत शख्स जॉर्ज फ्लॉयड की मौत पर हो रहे प्रदर्शन को लेकर ट्वीट किया है. पुलिस की बर्बरता के चलते सोमवार को हुई फ्लॉयड की मौत के बाद अमेरिका के कई शहरों में लगातार प्रदर्शन हो रहे हैं. यहां कई शहरों में प्रदर्शन दंगों में बदल गए हैं. वहीं पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच कुछ हिंसक झड़पें भी हुई हैं. ऐसे में बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने इन दंगों को लेकर ट्वीट किया है. ट्वीट में उनका कहना है कि अगर सड़कों पर गलत लोग आकर दंगे करें, आग लगाएं तो सही लोगों को उनके सामने खड़े होकर मजबूती से बताना होगा कि वो किसी को भी ऐसा नहीं करने देंगे.

यह भी पढ़ें : 15 वर्षीय बेटे की मौत पर पिता नहीं कर सका तेरहवीं का भोज तो गांव के लोगों ने किया समाज से बहिष्कार

कपिल मिश्रा ने ट्वीट किया, ‘प्यारे अमेरिकावासियों, जब गलत लोग आपकी सड़कों को हाईजैक कर लेते हैं, आपका शहर जलाते हैं और पुलिस पर हमला करते हैं तो सही लोगों को चुप नहीं रहना चाहिए. उन्हें सड़कों पर आना चाहिए और इन लोगों की आंखों में देखकर मजबूती से बोलना चाहिए- हम तुम्हें हमारा शहर नहीं जलाने देंगे. बिना हिंसा के, लेकिन पूरी मजबूती के साथ. यह काम करता है. #USAonFire.'

ता दें कि साल के शुरुआत में CAA-NRC को लेकर दिल्ली में हुए दंगों को लेकर कपिल मिश्रा लपेटे में आए थे. आम आदमी पार्टी ने आरोप लगाया था कि उन्होंने ही शहर में दंगे भड़काए थे. मिश्रा पर CAA प्रदर्शनकारियों के खिलाफ भड़काऊ भाषण देने और पुलिस को प्रदर्शनकारियों की ओर से ब्लॉक रास्ते को खुलवाने का अल्टीमेटम देने का आरोप लगा था. सत्ताधारी पार्टी का आरोप था कि कपिल मिश्रा के बयानों से ही दोनों पक्षों में दंगे शुरू हो गए थे.

यह भी पढ़ें : करोड़ों श्रमिकों की ऐतिहासिक त्रासदी के लिए मोदी सरकार की अराजक नीतियां जिम्मेदार

Next Story

विविध

Share it