file photo

कोरोना वायरस के चलते केंद्र सरकार ने स्थगित की एनपीआर अपडेशन की प्रक्रिया, 1 अप्रैल से प्रस्तावित थी प्रक्रिया….

जनज्वार। कोरोना महामारी को देखते हुए केंद्र सरकार ने गुरुवार 25 मार्च बड़ा फैसला लिया है। केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर यानी कि एनपीआर को अपडेट करने की प्रक्रिया को अनिश्चितकाल तक के लिए रोक दिया है। बता दें कि एनपीआर की प्रक्रिया कई राज्य 1 अप्रैल से शुरू करने वाले थे।

गुरुवार को भारत के महारजिस्ट्रार एवं जनगणना आयुक्त कार्यालय (गृह मंत्रालय) की ओर से जारी प्रेस नोट जारी किया गया। इसमें कहा गया है कि जनगणना 2021 दो चरणों में की जानी थी। जिसमें पहले चरण में मकान सूचीकरण और मकान गणना (अप्रैल से सितंबर 2020) और दूसरे चरण में जनसंख्या गणना (9 फरवरी से 28 फरवरी 2021) तक प्रस्तावित था। जनगणना 2021 के प्रथम चरण के साथ एनपीआर का अपडेशन असम के अतिरिक्त सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में भी प्रस्तावित था।

समें आगे कहा गया है कि कोविड-19 (कोरोना वायरस) के प्रकोप के कारण भारत सरकार के साथ साथ राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा हाईअलर्ट घोषित किया गया है। गृह मंत्रालय के आदेश के तहत कोविड 19 महामारी को रोकने के लिए भारत सरकार के मंत्रालयों, विभागों व राज्य, केंद्र शासित सरकारों द्वारा उनके सख्त कार्यान्वयन के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं।

यान में आगे कहा गया है कि अनेक राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के द्वारा लॉकडाउन घोषित किया गया है। भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने सामाजिक सावधानी समेत विभिन्न एहतियाती उपायों के लिए सलाह जारी की है।

संबंधित खबर : लॉकडाउन से यूपी में पान-मसाला पर लगी पाबंदी लेकिन घरेलू वस्तुओं पर दुकानदारों के मनमाने दाम से जनता परेशान

स प्रेस नोट के मुताबिक उपर्युक्त बातों को ध्यान में रखते हुए जनगणना 2021 के प्रथम चरण और एनपीआर का अपडेशन तथा फील्ड से जुड़े अन्य कार्य जो 1 अप्रैल 2020 से शुरू होने थे उनको अगले आदेश तक स्थगित किया गया है।

Edited By :- Janjwar Team

जन पत्रकारिता को सहयोग दें / Support people journalism