Top
पंजाब

कोरोना अलर्ट : पंजाब में NRI ने सरकार से छुपाई कोई जानकारी तो हो जायेगा पासपोर्ट रद्द

Prema Negi
5 April 2020 12:51 PM GMT
कोरोना अलर्ट : पंजाब में NRI ने सरकार से छुपाई कोई जानकारी तो हो जायेगा पासपोर्ट रद्द
x

सरकार के लिये विदेश से पंजाबी बन रहे बड़ी समस्या, क्योंकि बहुत से एनआरआई ने अपने बारे में प्रशासन को जानकारी ही नहीं दी है, सरकार के पास भी विदेश से आये पंजाबियों का नहीं है रिकार्ड...

जनज्वार ब्यूरो, चंडीगढ़। विदेश से पंजाब वापस आये एनआरआई पर पंजाब सरकार सख्त हो गयी है। लाख कोशिशों के बाद भी अभी तक बाहर से आये पंजाबियों का आंकड़ा सरकार के पास नहीं आ पाया है। मुख्यमंत्री अमरेंदर सिंह ने बताया कि अब तय किया गया कि यदि किसी ने अपने बारे में जानकारी छुपायी तो उसका पासपोर्ट ही रद्द कर दिया जायेगा, क्योंकि इसके सिवाय सरकार के पास कोई चारा नहीं रह गया है।

मुख्यमंत्री अमरेंदर सिंह ने कहा कि सरकार की ओर से लोगों को कई मौके दिये गये हैं। यहां तक की अब तो यह भी सुविधा दे दी कि वह अपने घर से ही एक फार्म भर कर खुद ही अपनी यात्रा के बारे में प्रशासन को जानकारी दे। इसके बाद भी जब लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं तो इस तरह के कड़े कदम उठाने ही पड़ रहे हैं।

यह भी पढ़ें : नवरात्रों के बाद अब अच्छे दिनों की उम्मीद कर रहे पंजाब-हरियाणा के पोल्र्टी फार्मर्स

पंजाब में बड़ी संख्या में लोग विदेश में बसे हुये हैं, लेकिन कोरोना वायरस के फैलते ही वह वापस अपने घरों में आ गये हैं। सरकार की समस्या यह है कि उनके पास इस बात का सही आंकड़ा नहीं है कि विदेश से कितने पंजाबी वापस आये हैं। कभी यह संख्या पचास हजार तो कभी नब्बे हजार बतायी जा रही है।

मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये कि जो भी व्यक्ति चाहे एनआरआई नहीं हो, लेकिन फिर भी विदेश गया और अपनी यात्रा के बारे में नहीं बता रहा, उसके खिलाफ भी सख्त कार्यवाही की जाये।

यह भी पढ़ें : कोरोना वायरस ने बढ़ाई कैप्टन अमरिंदर सिंह की चिंता, पीएम को पत्र लिखकर की ये मांग

धर हिमाचल में भी निजामुद्दीन मरकज में भाग लेने वालो की जानकारी छुपाने के आरोप में हिमाचल में तब्लीगी जमात के प्रमुख हुकमदीन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

सिरमौर के एसपी अजय कृष्ण शर्मा ने कहा कि धारा 188, 269 और 270, आईपीसी के तहत मामला दर्ज किया गया। उन्होंने कहा कि ऐसे मौके पर जब प्रदेश संकट के दौर से गुजर रहा है। लोगों से उम्मीद की जाती है कि वह सहयोग करेंगे, जिससे प्रशासन का काम आसान हो सके। लेकिन जब लोग जानकारी छुपाते हैं तो दिक्कत आती है। इस वजह से यह कदम उठाया गया है।

यह भी पढ़ें : न्यूयॉर्क में कोरोना केस बढ़ने से डर के साये में पंजाब के लोग

रियाणा में भी निजामुद्दीन जमात में हिस्सेदारी करने वालों की तलाश तेज कर दी गयी है। डीजीपी मनोज यादव ने बताया कि बड़ी संख्या में जमात से लोग हरियाणा में आये हैं। लॉकडाउन से पहले भी जमात से भाग लेकर प्रदेश में लोग आये हैं। उनकी लगातार तलाश की जा रही है।

पुलिस की ओर से आग्रह किया गया कि यदि कोई व्यक्ति ऐसा है जो निजामुद्दीन जमात में भाग लेकर आया हो तो वह अपनी जानकारी दे। यदि बाद में उसके बारे में पता चलता है तो कड़ी कार्यवाही की जायगी। डीजीपी ने बताया कि पुलिस ऐसे लोगों की पहचान में लगी हुई है। इसके लिए स्थानीय स्तर पर जानकारी जुटायी जा रही है।

Next Story
Share it