Top
दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020

केजरीवाल को हुई नामांकन दाखिल करने में 6 घंटों की देरी, AAP ने कहा ये भाजपा की साजिश

Nirmal kant
21 Jan 2020 4:30 PM GMT
केजरीवाल को हुई नामांकन दाखिल करने में 6 घंटों की देरी, AAP ने कहा ये भाजपा की साजिश
x

दिल्ली चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने में केजरीवाल को हुई छह घंटे की देरी, मनीष सिसोदिया बोले कितनी भी साजिश कर लो, तुम्हारी साजिशें कामयाब नहीं होंगी..

जनज्वार। दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए चुनाव प्रचार जोरों पर हैं। इस बीच मंगलवार 21 जनवरी को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल अपना नामांकन दाखिल करने के लिए खासी मेहनत करनी पड़ गयी।

दरअसल दोपहरर करीब बारह बजे केजरीवाल अपने परिवार के संग नामांकन के लिए जामनगर हाउस पहुंच। इस दौरान वहां पर अन्य पार्टी के उम्मीदवारों और उनके समर्थकों की भारी भीड़ हो गई। इसके बाद अफरातफरी मच गई। इस स्थिति को देखते हुए निर्दलीय उम्मीदवारों ने जमकर हंगामा किया।

संबंधित खबर : दिल्ली चुनाव 2020: कच्ची कॉलोनियों में रहने वाले लोगों की सरकार को लेकर क्या है राय ?

निर्दलीय उम्मीदवारों का कहना था कि केजरीवाल को सीधे एंट्री क्यों दे दी गई जबकि बाकी सभी अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। हालांकि उन्हें यहां पर टोकन नंबर 45 मिला और वह नामांकन दाखिल करने का इंतजार करते रहे। उनका करीब 6 घंटे बाद उनका नंबर आया और उन्होंने नामांकन दाखिल किया।

के उपमुख्यमंत्री और पटपड़गंज से आप के उम्मीदवार मनीष सिसोदिया ने इसे भाजपा की साजिश करार दिया है। वहीं पार्टी के नेता सौरभ भारद्वाज ने इसके पीछे भाजपा का हाथ बताया। सौरभ भारद्वाज ने कहा कि केजरीवाल को 45 नंबर को टोकन दिया गया।

हालांकि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मामले को शांत कराने की कोशिश की। केजरीवाल ने कहा कि कई उम्मीदवार पहली बार नामांकन कर रहे हैं। गलतियां कर रहे होंगे। हमने भी पहली बार गलतियां की थीं। सब मेरे परिवार का हिस्सा हैं।

संबंधित खबर : दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020: बवाना की जनता बोली न्यूनतम वेतन देने में सरकार असफल, मजदूरों के लिए सरकार ने कुछ नहीं किया

ससे पहले केजरीवाल ने कहा कि आज से पांच साल की यात्रा शुरू हो रही है। सभी दल मुझे हराने में लगे हैं। सभी पार्टियां मेरे खिलाफ एक हो गई हैं।

भरने से पहले आज सुबह उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट किया था कि एक तरफ भाजपा, जदयू, लोजपा, जजपा, कांग्रेस और राजद। दूसरी तरफ स्कूल, अस्पताल, पानी, बिजली, फ्री महिला यात्रा और दिल्ली की जनता। मेरा मकसद है भ्रष्टाचार को हराना और दिल्ली को आगे ले जाना। वहीं, उन सब का मकसद है मुझे हराना।

Next Story
Share it