Top
दिल्ली

दिल्ली की तिहाड़ जेल में 16 कैदियों समेत एक जेल कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

Prema Negi
16 May 2020 6:06 PM GMT
दिल्ली की तिहाड़ जेल में 16 कैदियों समेत एक जेल कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप
x

यह पहला मौका है जब देश की राजधानी दिल्ली की किसी जेल में कोरोना वायरस के संक्रमण का मामला प्रकाश में आया है। तिहाड़ जेल के अधीन आने वाली रोहिणी जेल में 16 कैदी और जेल का एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं...

जनज्वार, दिल्ली। दिल्ली की बादली विधानसभा में स्थित रोहिणी जेल में 16 कैदी और एक जेल का कर्मचारी जांच में कोरोनो पॉजिटिव पाया गया है। जेल के 19 कैदियों की कोरोनो की जांच कराई गई थी। इन सभी को क्वारंटाइन किया गया है, जिसके बाद अब पूरी जेल को सेनेटाइज किया जा रहा है। जेल में मौजूद बाकी कैदियों को इन कोरोना पॉजिटिव कैदियों से अलग किया गया है।

गौरतलब है कि दिल्ली की रोहिणी जेल में कोरोना की जांच तब की गयी, जबकि पिछले दिनों एक कैदी को आंतों में परेशानी के चलते सर्जरी के लिए दीनदयान अस्पताल में भर्ती कराया गया था। यहां उस कैदी का कोरोना का भी टेस्ट कराया गया था, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद से ही वह जिस बैरक में था उसमें रखे गए 19 कैदियों और पांच जेल कर्मचारियों को क्वारंटीन कर उनकी कोरोना जांच कराई गई थी।

यह भी पढ़ें : लॉकडाउन के बीच तिहाड़ जेल में बंद है गर्भवती महिला, दिल्ली पुलिस ने UAPA के तहत लगाया था आरोप

कोविड-19 का संक्रमण अब दिल्ली की जेलों तक भी पहुंचने लगा है। यह पहला मौका है जब देश की राजधानी दिल्ली की किसी जेल में कोरोना वायरस के संक्रमण का मामला प्रकाश में आया है। तिहाड़ जेल के अधीन आने वाली रोहिणी जेल में 16 कैदी और जेल का एक कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं।

कोरोना के इतने बड़े पैमाने पर मामले सामने आने पर जेल के डीजी संदीप गोयल ने कहा कि 19 में से 15 कैदियों और पांच में से एक कर्मचारी की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। बाकी सभी की रिपोर्ट निगेटिव है। वो 15 कैदी जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, उन्हें अन्य कैदियों से अलग आइसोलेशन बैरक में रखा गया है। वहीं संक्रमित हेड वार्डर को होम क्वारंटीन पर भेज दिया गया है। कुछ अन्य कर्मचारियों को भी घर पर क्वारंटीन किया गया है।

यह भी पढ़ें : कोरोना की जंग में देश का साथ दे रहे जेलों में बंद हजारों सजायाफ्ता कैदी

जेल प्रशासन का कहना है कि जेलों में कोरोनो संक्रमण से कैदियों को बचाने के लिए लगातार तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, बावजूद इसके इस तरह का मामला देखने को मिला है। इसी कड़ी में करीब 3500 कैदियों को पेरोल और फ़रलो पर छोड़ा भी गया था। लेकिन रोहिणी जेल में एक साथ इतने कोरोना संक्रमण के मामलों ने जेल प्रशासन को मुश्किल में डाल दिया है।

सके अलावा दिल्ली पुलिस में भी कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। अब तक दिल्ली पुलिस के 180 जवान कोरोना पॉजिटिव हुए हैं। इनमें से 70 इलाज के बाद ठीक भी हो गए हैं। दिल्ली पुलिस की एक महिला एसीपी भी कोरोना संक्रमित हो गई हैं। वे साउथ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट की क्राइम अगेंस्ट वूमेन सेल में पोस्टेड हैं और फिलहाल साउथ ईस्ट डिस्ट्रिक्ट में बने कोविड सेल की इंचार्ज हैं।

यह भी पढ़ें : यूपी में जेलों की क्षमता 58000 मगर कैदी एक लाख से अधिक, कोरोना के बीच कैदियों का जीवन खतरे में

रोहिणी जेल के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर जनज्वार को बताया कि जेल में कोरोना संक्रमण का वो भी इतनी बड़ी संख्या में लोगों के संक्रमित होने का मामला पहली बार आया है। जेलों की ऐसी स्थिति नहीं है कि हम हर कैदी को 6 फ़ीट की दूरी में रख सकें। बैरकों में जगहें कम हैं और कैदियों की संख्या अधिक। साथ ही साथ यह भी जांच का विषय है कि आखिर बाहर से कोरोना अंदर आया या अंदर से बाहर गया।

गौरतलब है कि कोई भी कैदी इस समय लॉकडाउन के दौरान बाहर नहीं जा रहा है। ज्यादातर सभी की तारीखें या पेशियां वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होती हैं। फिर कोरोना का संक्रमण कैसे फैला, यह जांच का विषय है। जेल अधिकारी के मुताबिक ये जरूर मुमकिन हो सकता है कि हमारे ही विभाग का कर्मचारी संक्रमित होकर इन कैदियों के संपर्क में आया हो और इतनी बड़ी मात्रा में यह कोरोना संक्रमण फैल गया।

Next Story

विविध

Share it