राजनीति

डॉक्टर ने मांगी सैलरी तो नौकरी से निकाला, अब पत्‍नी संग ठेले पर बेच रहे चाय

Ragib Asim
19 May 2020 4:51 AM GMT
डॉक्टर ने मांगी सैलरी तो नौकरी से निकाला, अब पत्‍नी संग ठेले पर बेच रहे चाय
x

पीड़ित डॉक्टर गौरव वर्मा का आरोप है कि उनकी दो माह की सैलरी बकाया थी। जब उन्होंने सैलरी मांगी तो पहले उनका तबादला कर दिया गया। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया। अब अस्पताल की ड्रेस पहनकर वो करनाल के सेक्टर-13 में ठेले पर चाय बनाकर लोगों को बेच रहे हैं...

जनज्वार। सीएम सिटी करनाल में लॉकडाउन के बीच एक अजीबो-गरीब मामला सामने आया है। यहां एक डॉक्टर सड़क किनारे अपनी नवविवाहिता पत्नी के साथ ठेला लगाकर चाय बेच रहा है। डॉक्टर का आऱोप है कि उसने अस्पताल से जब सैलरी के लिए कहा तो उन्‍हें नौकरी से निकाल दिया गया। पीड़ित डॉक्टर गौरव वर्मा एक निजी अस्पताल में कार्यरत थे। उनका आरोप है कि उनकी दो माह की सैलरी बकाया थी। जब उन्होंने सैलरी मांगी तो पहले उनका तबादला कर दिया गया। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो उन्हें नौकरी से निकाल दिया गया। अब अस्पताल की ड्रेस पहनकर वो करनाल के सेक्टर-13 में ठेले पर चाय बनाकर लोगों को बेच रहे हैं। उन्होंने सरकार से संबंधित अस्पताल के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।

संबंधित खबर : प्रियंका ने यूपी में मजदूरों के लिए जो 980 बसें कराई थीं उपलब्ध, योगी की अनुमति न मिलने से लौटीं वापस

डॉ. गौरव शर्मा एक निजी कंपनी द्वारा संचालित अस्पताल में नौकरी कर रहे थे। आरोप है कि उनको दो माह की सैलरी नहीं दी गई और सैलरी मांगने पर नौकरी से निकाल दिया गया। इससे परेशान डा. गौरव शर्मा ने नवविवाहिता पत्नी के साथ चाय का ठेला लगा दिया। अस्पताल की ड्रेस पहनकर सेक्टर-13 में उन्होंने ठेले पर चाय बनाकर लोगों को दी। यहां से आने-जाने वाले लोगों ने उनके साथ हुई घटना की जानकारी ली तो भीड़ जुट गई। उन्होंने सरकार से संबंधित कंपनी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की।

जानकारी के मुताबिक डा. गौरव शर्मा सेक्टर-13 स्थित प्राइवेट कंपनी के अस्पताल में आरएमओ के पद पर तैनात थे। वह आइसीयू का काम देखते थे। आरोप है कि फरवरी व मार्च में कंपनी की ओर से सैलरी नहीं दी गई। फिलहाल डा. गौरव को एक माह लीव विदआउट पे पर रहने को कहा था। लेकिन इसे उन्होंने स्वीकार न‍हीं किया।

संबंधित खबर : मजदूर पिता ने अपाहिज बेटे को घर ले जाने के लिए साइकिल चुराई, चिट्ठी में लिखा कसूरवार हूँ भाई माफ करना

डॉ. गौरव का कहना है कि उन्‍होंने कंपनी मुख्यालय में इस बारे बातचीत की, लेकिन बात नहीं सुनी गई। वरिष्ठ अधिकारियों से संपर्क किया तो उनका ट्रांसफर गाजियाबाद कर दिया। विवाद बढ़ गया तो उनको नौकरी से निकाल दिया गया। इससे आहत डाॅ. गौरव ने हरियाणा के सीएम विंडो पर भी शिकायत की लेकिन न्याय न मिलता देख उन्‍होंने अस्‍पताल के सामने ही ठेले पर चाय बेचने लगे। शनिवार को अपनी पत्‍नी के साथ सेक्टर-13 में सुबह एक रेहड़ी लेकर आए और चाय बेचने लगे।

डॉ. नीरज शर्मा ने अस्पताल के समीप ही ठेला लगा लिया और नवविवाहित पत्‍नी के साथ चाय बनाकर लोगों को सर्व की। विरोध के इस अनूठे तरीके को लेकर लोग हैरान रह गए। डाॅ. गौरव शर्मा ने बताया कि बीते दिसंबर में उनकी शादी हुई थी। उनकी पत्‍नी भी साथ में चाय बना रही हैं।

की करनाल यूनिट के हेड ने कहा कि लॉकडाउन में सैलरी देने में दिक्कतें आ रही हैं। डाॅ. गौरव ने जो स्टेटमेंट दी है, वह ठीक नहीं है। वह कई बार गैरकानूनी काम करते पाए गए, जिसे लेकर तीन-चार नोटिस जारी कर चेतावनी दी जा चुकी है। कंपनी के सीनियर अधिकारी उनसे मिलने गए लेकिन डाॅ. गौरव शर्मा ने मिलने से मना कर दिया। कोई मामला है तो वह बैठकर ही सुलझाया जा सकता है। दूसरी तरफ, श्रम विभाग के अधिकारियों ने मामले में फिलहाल आधिकारिक रूप से कुछ कहने से इन्‍कार कर दिया लेकिन इतना अवश्य बताया कि उच्च स्तर से आदेश मिले तो जांच की जा सकती है।

Next Story
Share it