Top
हरियाणा

हरियाणा में अब कोरोना पीड़ितों की देखभाल में लगे डाक्टरों और स्टाफ को मिलेगा डबल वेतन

Nirmal kant
10 April 2020 2:30 AM GMT
हरियाणा में अब कोरोना पीड़ितों की देखभाल में लगे डाक्टरों और स्टाफ को मिलेगा डबल वेतन
x

हरियाणा में सीएम मनोहर लाल ने घोषणा की है कि डाक्टरों व स्टाफ को अगले आदेश तक डबल वेतन दिया जायेगा। इसके अलावा इलाज कर रहे डाक्टर प्रदेश के रेस्ट हाउस में रहेंगे। यह सुविधा भी सरकार की ओर से दी गयी है।

जनज्वार ब्यूरो चंडीगढ़। कोरोना संक्रमण के मरीजों का इलाज कर रहे डाक्टरों, व स्टाफ को अब हरियाणा सरकार डबल वेतन देगी। यह घोषणा सीएम मनोहर लाल ने की है। उन्होंने बताया कि वेतन तब तक दिया जाएगा जब तक बीमारी है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही एंबुलेस चालक जो कोरोना के मरीजों को अस्पताल तक लेकर आयेंगे उन्हें भी डबल वेतन दिया जायेगा। सीएम ने आज प्रदेश के सीएमओ के साथ बैठक कर यह निर्णय लिया है।

न्होंने कहा कि यह मुश्किल घड़ी है। हमें कोरोना के वायरस को हर हालत में खत्म करना है। इसके लिए किसी भी तरह की कमी नहीं आने दी जायेगी। इसके साथ ही सीएमने यह भी बताया कि डाक्टर अब प्रदेश के रेस्ट हाउस और पर्यटन विभाग के होटल में रह सकते हैं।

खबर : पॉजिटिव न्यूज- मोहाली की 81 साल की महिला ने दी कोरोना को मात

न्होंने आगे कहा कि यह सुविधा इसलिए दी गयी है, क्योंकि वायरस के संक्रमण के चलते डाक्टर घर जाने से बच रहे हैं। इसलिए उन्हें रहने की दिक्कत न आये। इसे देखते हुए ही यह निर्णय लिया गया है। कोरोना को लेकर डाक्टर कुछ डरे हुए हैं। क्योंकि उनके पास पर्याप्त सुरक्षा उपाय नहीं है। डाक्टरों के मनोबल को बढ़ाने के लिए ही सरकार ने यह निर्णय लिया है।

रकार के इस निर्णय से डाक्टर खुश तो हैं, लेकिन एक सरकारी डाक्टर ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अभी भी उनके पास बचाव के लिए ज्यादा इंतजाम नहीं है। ऐसे में सबसे ज्यादा खतरा डाक्टरों को है। उन्होंने कहा कि सरकार को इस ओर भी ध्यान देना चाहिए। जिससे डाक्टर बेखौफ होकर मरीजों का इलाज कर सके। करनाल के कल्पना चावला मेडिकल कालेज में एक डाक्टर कोरोना संक्रमण से पीड़ित एक मरीज का इलाज करते हुए खुद भी संक्रमण की चपेट में आ गयी थी।

धर स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने बताया कि हरियाणा के कैथल में एक नौ साल का बालक कोरोना से संक्रमित पाया गया है। इस मरीज समेत अब प्रदेश में 154 केस सामने का चुके हैं।

एनसीआर के इलाकों में संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इसमें गुरुग्राम, फरीदाबाद, नूंह और पलवल में तेजी से मरीज सामने आ रहे हैं। विज ने बताया कि गुरुग्राम में जहां 32 मरीज है, वहीं फरीदाबाद में 28, नूंह में 38 पलवल में 28 मामले सामने आ चुके हैं।

संबंधित खबर : मीडिया जब कोरोना को मुसलमानों से जोड़ रहा था, उसी वक्त मुस्लिमों ने उठाई हिंदू पड़ोसी की अर्थी, नहीं आए रिश्तेदार

विज ने कहा कि हम स्थिति पर नजर रखे हुये। उन्होंने बताया कि 106 मामले तब्लीकी जमात से जुड़े हुये सामने आये है। अभी भी यह लोग सहयोग नहीं कर रहे हैं। इससे स्थिति खराब हो रही है। अभी भी जमात से जुड़े हुए कुछ लोग यहां वहां छुपे हुये हैं। उन्हें बार बार बोला गया कि वह अपने स्वास्थ्य की जांच करा लें। लेकिन इसके बाद भी वह सामने नहीं आ रहे हैं। इस वजह से उनके खिलाफ कठोर कदम उठाये जा रहे हैं।

Next Story

विविध

Share it