समाज

पंजाब में पहला कोरोना वायरस केस मिला पॉजिटिव, सरकार अलर्ट

Janjwar Team
11 March 2020 7:10 AM GMT
पंजाब में पहला कोरोना वायरस केस मिला पॉजिटिव, सरकार अलर्ट
x

डॉक्टरों ने बताया कि पंजाब के लोग बड़ी संख्या में विदेशों में बसे हुए हैं। वहां से उनका आना जाना लगा रहता है। होली के अवसर पर भी बड़ी संख्या में बाहर से प्रवासी पंजाबी अपने घरों में आए हैं...

जनज्वार ब्यूरो। पंजाब के अमृतसर में कोरोना का पहला पॉजिटिव केस मिला है। रिपोर्ट में मरीज के वायरस ग्रस्त होने की पुष्टि हुई है। गुरुनानक देव अस्पताल में पिता पुत्र को निगरानी में रखा गया था। यह दोनों इटली से अमृतसर पहुंचे थे। एयरपोर्ट पर जांच के दौरान दोनों को सदिग्ध पाया गया। इस वजह से निगरानी में रखा गया था।

नके सैंपल जांच के लिए पहले एम्स भेजे गए। वहां से दोनों पॉजिटिव पाए गए। इस पर पंजाब के सेहत विभाग ने सैंपल पुणे लैब में भेजे। यहां पिता को कोरोना वायरस पॉजिटिव बताया गया। पुत्र की रिपोर्ट नेगटिव आयी है। इटली में कोरोना वायरस काफी फैला हुआ है। वहां सात हजार मरीज सामने आ चुके हैं। जबकि कोरोना से 366 लोगों की मौत भी हो चुकी है।

संबंधित खबर : कोरोना वायरस का कहर : पंजाब से प्रभावित देशों की यात्रा करने वाले 925 लोगों का पता नहीं

स तरह से पंजाब में कोरोना वायरस का यह पहला मामला सामने आया है। हेल्थ विभाग अब चौकस हो गया है। एयरपोर्ट पर चौकसी बढ़ा दी गयी है। अब विदेश से आने वाले हर यात्री की बारीकी से जांच की जा रही है। यात्री को जब तक बाहर नहीं जाने दिया जा रहा तब तक कि उसकी जांच पूरी नहीं हो जाती।

के अवकाश के दौरान भी सेहत विभाग के अधिकारी मुस्तैद रहे। अमृतसर की सिविल सर्जन डाक्टर प्रभदीप कौर जौहल ने बताया कि लोगों को जागरूक होने की जरूरत है। इस वायरस को फैलने से रोकने का एक ही उपाय है कि हम सब इसके बारे में जागरूक रहे। उन्होंने बताया कि जो मरीज सामने आया है, उसके निगरानी में रखा गया है। परिजनों से मिलने की उन्हें इजाजत नहीं है।

डॉक्टरों ने बताया कि पंजाब के लोग बड़ी संख्या में विदेशों में बसे हुए हैं। वहां से उनका आना जाना लगा रहता है। होली के अवसर पर भी बड़ी संख्या में बाहर से प्रवासी पंजाबी अपने घरों में आए हैं। इस वजह से यहां वायरस को लेकर अतिरिक्त सावधानी बरती जा रही है।

पंजाब के प्रिंसिपल सेक्रेटरी हेल्थ अनुराग अग्रवाल ने बताया कि जो मरीज वायरस से ग्रसित पाया गया, वह किस किसके संपर्क में आया है। उनकी पहचान की जा रही है। उनकी भी जांच कर उचित कदम उठाए जाए। उन्होंने बताया कि घबराने की बात नहीं है। हम स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। अनुराग अग्रवाल ने बताया कि लोग थोड़ा जागरूक रहे। भीड़ भाड़ से बचे रहे।

बार लोग अपने हाथ साबुन से धोते रहे। इस तरह से यदि छोटे छोटे उपाय किए जाए तो वायर को बहुत हद तक काबू किया जा सकता है। उन्होंने यह भी बताया कि लोग बस अपना ध्यान रखे। यदि किसी को थोड़ा सा भी शक हो तो तुरंत जांच के लिए सरकारी अस्पताल पहुंचे।

संबंधित खबर : भारत-पाक बार्डर पर कोरोना वायरस का असर, पहली बार रिट्रीट सेरेमनी में दर्शकों का प्रवेश बंद

नुराग अग्रवाल ने यह भी लोगों से यह भी अपील की कि वह ऐसे आयोजन करने से बचे जिसमें भीड़ होने की संभावना है। क्योंकि भीड़ में वायरस के फैलने का खतरा बहुत ज्यादा रहता है। यदि कोरोना वायरस से ग्रसित एक भी व्यक्ति इस भीड़ में शामिल होगा तो इसका वायरस तेजी से फैल सकता है। इसलिए ऐसे स्थानों पर जाने से भी बचना चाहिए।

Next Story

विविध

Share it