Top
सिक्योरिटी

पूर्व केंद्रीय मंत्री के 21 वर्षीय बेटे का दिल का दौरा पड़ने से निधन

Janjwar Team
23 May 2018 9:30 AM GMT
पूर्व केंद्रीय मंत्री के 21 वर्षीय बेटे का दिल का दौरा पड़ने से निधन
x

कल रात तकरीबन 10 बजे भोजन करने के बाद वैष्णव अचानक कुर्सी पर से नीचे गिर गये। परिवार वाले तुरंत उन्हें मुशीराबाद के गुरुनानक केयर अस्पताल ले गये। विशेष चिकित्सकों की टीम ने तुरंत उपचार मुहैया कराया, मगर वैष्णव को बचा नहीं पाए...

दिल्ली, जनज्वार। पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा सांसद बंडारू दत्तात्रेय के बेटे बंडारू वैष्णव का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

21 वर्षीय बंडारू वैष्णव एमबीबीएस तृतीय वर्ष के छात्र थे। कल रात को अचानक सीने में दर्द की शिकायत के बाद उन्हें सिकंदराबाद स्थित गुरु नानक हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था, मगर इलाज के दौरान ही कल देर रात उन्होंने दम तोड़ दिया।

पारिवारिक सूत्रों का कहना है कि कल रात तकरीबन 10 बजे भोजन करने के बाद वैष्णव अचानक कुर्सी पर से नीचे गिर गये। परिवार वाले तुरंत उन्हें मुशीराबाद के गुरुनानक केयर अस्पताल ले गये। विशेष चिकित्सकों की टीम ने तुरंत उपचार मुहैया कराया, मगर वैष्णव को बचा नहीं पाए। वे सब नाकाम रहे। कल देर रात तकरीबन साढ़े बारह बजे एमबीबीएस के छात्र वैष्णव ने दम तोड़ दिया।

वैष्णव की मौत की खबर पिता बंडारू दत्तात्रेय को आज सुबह दी गई, क्योंकि वे खुद भी हार्ट पैशेंट हैं।

तेलंगाना के सिकंदराबाद से सांसद बंडारू दत्तात्रेय केंद्र की मोदी सरकार में वर्ष 2014 से लेकर 1 सितंबर 2017 तक श्रम एवं रोजगार मंत्री रहे। दक्षिण भारत की राजनीति में अलग पहचान रखने वाले बंडारू दत्तात्रेय पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजयेपी की सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। मोदी सरकार में रहते देशभर में जॉब फेयर यानी रोजगार मेले के आयोजन की उनकी पहल को काफी सराहा गया था।

बंडारू दत्तात्रेय के बेटे की मौत पर केंद्रीय रक्षा मंत्री निर्मला सीमारमण ने दुख जताते हुए ट्वीट किया है, 'यह खबर स्तब्ध कर देने वाली है। किसी बच्चे की मौत पर शोक जताने के लिए कोई भी शब्द पर्याप्त नहीं हो हैं। एक नौजवान जिसका पूरा जीवन उसके सामने अभी शुरू हो ही रहा था। ईश्वर से प्रार्थना है कि भगवान बंडारू दत्तात्रेय और उनके परिवार को इस अपूर्णीय क्षति को सहन करने की ताकत दे।'

Next Story

विविध

Share it