Top
राष्ट्रीय

गुजरात पुलिस प्रशांत भूषण को करने वाली थी अरेस्ट, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई गिरफ्तारी पर रोक

Manish Kumar
1 May 2020 8:59 AM GMT
गुजरात पुलिस प्रशांत भूषण को करने वाली थी अरेस्ट, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई गिरफ्तारी पर रोक
x

प्रशांत भूषण द्वारा पिछले दिनों रामायण टीवी के दोबारा प्रसारण को लेकर ट्वीट किया था जिसके खिलाफ गुजरात में रिटायर्ड सेना के जवान ने शिकायत दर्ज कराई थी जिसके आधार पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की थी...

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने जाने-माने वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ गुजरात में दर्ज हुई एफआईआर के मद्दनेजर गिफ्तारी पर रोक लगा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में गुजरात पुलिस को नोटिस भी जारी किया है.

ममले की अगली सुनवाई दो हफ्तों के बाद होगी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा सुनवाई की अगली तारीख तक कोई ठोस कार्रवाई नहीं होगी.

यह भी पढ़ें- आतंकियों की मदद करने के आरोप में 1 गिरफ्तार, आरोपी लड़ चुका है BJP के टिकट पर चुनाव

न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की खंडपीठ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए की गई सुनवाई के दौरान भूषण की तरफ से पेश वकील दुष्यंत दवे की दलीलें सुनने के बाद गुजरात पुलिस को नोटिस जारी करके जवाब तलब किया।

बता दें रिटायर्ड सेना के एक जवान जयदेव जोशी की शिकायत पर, गुजरात के भक्तिनगर पुलिस स्टेशन में वकील प्रशांत भूषण के खिलाफ धार्मिक भावनाओं को आहत करने और सरकारी आदेशों पर टिप्पणी करने के लिए एफआईआर दर्ज की गई थी.

यह भी पढ़ें – केजरीवाल पर भड़के ओवैसी, कहा- एक CM को व्हाट्स एप मैसेज के लिए मसाला नहीं बनाना चाहिए

गौरतलब है कि प्रशांत भूषण ने पिछले दिनों ट्वीट कर कहा था कि जब जबरन तालाबंदी के कारण करोड़ों का नुकसान हुआ, तो सरकार दूरदर्शन पर रामायण और महाभारत धारावाहिकों की अफीम खिला रही है.

बता दें लॉकडाउन के दौरान दूरदर्शन ने अपने कई पुराने सीरियलों का दोबारा प्रसारण शुरू किया है.

Next Story

विविध

Share it