Top
पंजाब

मनरेगा मजदूरों से करायी जाए हरियाणा, पंजाब में गेहूं की कटाई : गुलाम नबी आजाद

Nirmal kant
11 April 2020 4:03 PM GMT
मनरेगा मजदूरों से करायी जाए हरियाणा, पंजाब में गेहूं की कटाई : गुलाम नबी आजाद
x

राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष और हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी महासचिव गुलाम नबी आज़ाद ने किसानों को राहत देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी को दिए 8 बड़े सुझाव, पीएम के सामने उठाई किसानों की वित्तीय स्थिति सुधारने के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि की मांग...

जनज्वार ब्यूरो, चंडीगढ़। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष और हरियाणा कांग्रेस के प्रभारी महासचिव ग़ुलाम नबी आज़ाद ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को किसानों की समस्याओं से अवगत करवाया है। उन्होंने समस्या के समाधान हेतु 8 बड़े सुझाव भी दिए हैं।

पीएम मोदी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के ज़रिए हुई बैठक में उन्होंने सरकार का ध्यान किसान, मजदूर, कर्मचारी, व्यापारी और ग़रीबों की तरफ़ दिलाया। उन्होंने सुझाव दिया कि तमाम तबकों को लॉकडाउन के दौरान किस प्रकार राहत पहुंचाई जा सकती है। किसानों के लिए उन्होंने 8 सुझाव प्रधानमंत्री के सामने रखे। बैठक में 15-16 दलों के नेता शामिल हुए थे। कांग्रेस की तरफ से ग़ुलाम नबी आज़ाद ने इसमें हिस्सा लिया।

संबंधित खबर: लॉकडाउन - भूख से परेशान हजारों प्रवासी मजदूरों ने गुजरात में बवाल, घर जाने की मांग को लेकर फूंक दीं गाड़ियां

ज़ाद ने कहा कि रबी की फसल कटने के लिये तैयार है। सरसों की कटाई हो चुकी है और गेहूं की कटाई शुरू हो गई है। इसलिए लॉकडाउन के दौरान अनाज मंडियों को खुला रखा जाए, ताकि किसान अपनी फसल बेच सकें। लगातार बढ़ती लागत और मौसम की मार झेल रहे किसान को फसलों का उचित रेट देने की ज़रूरत है। उन्होंने प्रधानमंत्री को सुझाव दिया कि फसलों की रूस्क्क में बढ़ोत्तरी की जाए, ताकि किसानों की आर्थिक स्थिति बेहतर हो सके।

तना ही नहीं, उन्होंने सलाह दी कि सरकारी ख़रीद की सीमा को बढ़ाया जाए। तमाम ख़रीद एजेंसियों को कहा जाए कि वो अपनी ख़रीद क्षमता को बढ़ाए। ये पूरी अर्थव्यवस्था के लिए मुश्किल का दौर है। किसान आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं। इसलिए कम से कम 6 महीनों के लिए किसानों को तमाम तरह के लोन की अदायगी में छूट दी जाए। आज़ाद ने कहा कि इसके साथ ज़रूरी है कि किसान क्रेडिट कार्ड की लिमिट को भी बढ़ाया जाए। ऐसा इसलिए भी आवश्यक है कि किसान आने वाली फ़सल के लिए बीज, खाद, दवाई और सिंचाई का खर्च क्रेडिट कार्ड से कर सके।

गुलाम नबी आज़ाद ने किसानों और मनरेगा मज़दूरों के हित में एक और बड़ा सुझाव प्रधानमंत्री के सामने रखा। उन्होंने कहा कि आज किसानों के साथ मजदूरों पर विशेष ध्यान देने की ज़रूरत है। ज़रूरी है कि मजदूरों को काम मिले। इसलिए मनरेगा मज़दूरों का इस्तेमाल फसल कटाई के लिए किया जाना चाहिए। इससे किसानों की फसल कटाई का काम मुफ्त में हो जाएगा और मनरेगा मजदूरों को भी काम मिल जाएगा।

संबंधित खबर : कोरोना - लॉकडाउन से कंबाइन हार्वेस्टर चालक न घर के रहे, न बाहर के

रियाणा कांग्रेस के प्रभारी महासचिव ने कहा कि पहले खेती के उपकरणों, खाद और दवाईयों पर किसी तरह का टैक्स नहीं होता था। लेकिन, आज इन तमाम चीज़ों पर भारी Gस्T वसूला जाता है। अब वक्त आ गया है कि कृषि संबंधी तमाम मशीनों, सामान, खाद और दवाईयों से Gस्T फ़ौरन ख़त्म किया जाए। उन्होंने कहा कि मानवता पर छाए इस घोर संकट के समय कांग्रेस पार्टी ने केंद्र व राज्य सरकारों को अपना पूरा सहयोग दिया है। कांग्रेस पार्टी ने कोरोना से लड़ाई में लॉकडाउन समेत देशहित के तमाम फ़ैसलों में सरकार का पूर्ण समर्थन किया है और निरंतर अपना सहयोग जारी रखेगी।

Next Story

विविध

Share it