Top
राष्ट्रीय

लॉकडाउन के बीच किसानों को फसल की कटाई के लिए कर्फ्यू पास उपलब्ध कराएगी हिमाचल सरकार

Vikash Rana
15 April 2020 11:06 AM GMT
लॉकडाउन के बीच किसानों को फसल की कटाई के लिए कर्फ्यू पास उपलब्ध कराएगी हिमाचल सरकार
x

इस समय देश व प्रदेश में लॉकडाउन है लेकिन गेहूं की कटाई व गहाई के लिए समय उपयुक्त होने के चलते किसानों को कर्फ्यू पास दिए जाएंगे...

जनज्वार। देश और विदेश में लॉकडाउन व कर्फ्यू की अवधि 3 मई तक बढ़ाए जाने के बाद बिलासपुर जिला में किसानों को गेंहू फसल की कटाई और थ्रैंसिग के लिए कर्फ्यू पास उपलब्ध करवाए जाएंगे। इसके साथ ही कृषि उपकरणों व मशीनरी इत्यादि की मरम्मत के लिए भी परमिशन दी जाएगी। इस बाबत जिला दंडाधिकारी ने ब्लॉकों में कार्यरत सब्जेक्ट मैटर स्पेशलिस्ट को अधिकृत किया है।

से में किसान ब्लॉकों में जाकर या फिर मोबाइल फोन के जरिए रिक्वेस्ट भेजकर भी पास बनवा सकेंगे। इस मसले पर कृषि बिलासपुर के उपनिदेशक कुलदीप पटियाल ने बताया कि हालांकि इस समय देश व प्रदेश में लॉकडाउन है लेकिन गेहूं की कटाई व गहाई के लिए समय उपयुक्त होने के चलते किसानों को कर्फ्यू पास दिए जाएंगे। इसके साथ ही यदि किसान कृषि उपकरण या मशीनरी इत्यादि की मरम्मत करवाना चाहते हैं तो उन्हें परमिशन जारी की जाएगी।

संबंधित खबर: हिमाचल में लॉकडाउन 3 मई तक रहेगा जारी, 20 अप्रैल के बाद मिल सकती है कुछ राहत

न्होंने बताया कि गेंहू की कटाई व गहाई के समय किसानों को सोशल डिस्टेंसिंग और सरकार द्वारा दिए गए निर्देशों का ख्याल रखना होगा। कर्फ्यू पास बनवाने के लिए किसानों को अपने अपने ब्लॉकों के कृषि प्रसार अधिकारी या फिर सब्जेक्ट मैटर स्पेशलिस्ट से संपर्क करना होगा और उन्हें अपने मोबाइल फोन से मैसेज करना होगा। तय प्रक्रिया पूरी होने के बाद किसानों को पास जारी हो जाएंगे।

किसान प्रशासन द्वारा जिला के लिए दी गई सुबह नौ से लेकर बारह बजे की छूट के बीच ब्लॉक दफ्तर जाकर पास प्राप्त कर सकते हैं या फिर मोबाइल फोन पर भी उन्हें पास की प्रतियां व्हाट्सऐप के जरिए मिल प्राप्त होगी। कोरोना वायरस से उत्पन्न हुई परिस्थितियों के बीच कृषि विभाग ने फील्ड से मोबाइल फोन या फिर फील्ड अधिकारियों के माध्यम से डाटा कलेक्ट किया है। जबकि जिला में आठ रिप्पर कंवाइंडर, 200 हिडिंहा ट्रैक्टर और 120 ब्रश कटर इत्यादि उपलब्ध हैं। इस मशीनरा का उपयोग गेहूं की कटाई के लिए किया जाता है।

संबंधित खबर: हिमालच में अब आगे और लॉकडाउन नहीं, राज्य को पटरी पर लाना सरकार की प्राथमिकता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कल संबोधन में लॉकडाउन को बढ़ाया गया है जिसके बाद हिमाचल प्रदेश प्रशासन ने लॉकडाउन के साथ कर्फ्यू को भी तीन मई तक जारी रखने का ऐलान किया है। ऐसे में लॉकडाउन के कारण गेहूं उत्पादक किसानों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। उनकी समस्या यह थी कि फसल कटाई करने के बाद मंडी तक कैसे लेकर जाएं। यदि समय पर कटाई नहीं करते तो बंदर व जंगली जानवर फसल खराब कर देंगे। इससे उन्हें नुकसान हो रहा है। ऐसे किसानों की भी मांग है कि सरकार लॉकडाउन हटाए। क्योंकि यदि इस दिशा में जल्दी ही निर्णय नहीं लिया जाता तो उनकी आर्थिक हालत खराब हो जाएगी।

जिसके बाद सीएम के निर्देश को ध्यान में रखते हुए प्रदेश को छह हिस्सों में बांटा गया है। इसमें लाल, नारंगी और हरा जोन स्थापित किया या है। इसके अनुसार ही कोरोना को लेकर आगे की रणनीति तैयार की जा रही है। संक्रमण का कोई मामला नहीं आएग, उसे बाकी क्षेत्र से अलग किया जाएगा। हॉट स्पॉट अलग होंगे। संवेदनशील और अति संवदेनशील इलाकों में भोजन और अन्य आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति स्थानीय प्रशासन को सौंपी जाएगी।

Next Story
Share it