Top
राष्ट्रीय

हरियाणा के मानेसर में बिहार के मजदूरों से हुई मारपीट, कोरोना फैलाने वाला कह कर लोग कर रहे अपमानित

Vikash Rana
11 April 2020 2:30 AM GMT
हरियाणा के मानेसर में बिहार के मजदूरों से हुई मारपीट, कोरोना फैलाने वाला कह कर लोग कर रहे अपमानित
x

घायल हुए ये मजदूर कुढ़नी के पदमौल के रहने वाले है इन मजदूरों का नाम राजकिशोर साह, सोनू, रोहित, नीरज है। कुढ़नी के रहने वाले लगभग दर्जनों मजदूर मानेसर स्थित मारुति कंपनी में काम करते हैं...

जनज्वार। कोरोना वायरस के संकट से देश पहले ही मुश्किल में है बावजूद कई ऐसी घटनाए सामने आ रही हैं जो मानवतो को शर्मसार कर रही हैं। मानेसर में बिहार के प्रवासी मजदूरों के साथ मारपीट करने का मामला सामने आया है।हरियाणा के मानेसर में बुधवार को कुढ़नी के छह मजदूरों की स्थानीय लोगों ने पिटाई कर दी।

भी मजदूर गंभीर रूप से जख्मी है। घटना पर पीड़ितो का कहना है कि हमलावरों ने हमें कोरोना फैलाने वाला बताते हुए बिहार भागने की धमकी दी थी। घटना के बाद सभी मजदूरों काफी डरे और सहमे हुए हैं। डरे हुए ये मजदूर घर जाना चाहते है लेकिन लॉकडाउन के चलते घर भी नहीं जा पा रहे है। मजदूरों ने स्थानीय थाने में इसकी शिकायत की है।

संबंधित खबर : पानीपत में प्रवासी मजदूरों का बुरा हाल, नहीं मिल रहा खाना, आर्थिक मदद का भी कुछ पता नहीं

घायल हुए ये मजदूर कुढ़नी के पदमौल के रहने वाले है इन मजदूरों का नाम राजकिशोर साह, सोनू, रोहित, नीरज है। कुढ़नी के रहने वाले लगभग दर्जनों मजदूर मानेसर स्थित मारुति कंपनी में काम करते हैं। मंगलवार को वह लोग स्थानीय सब्जी हाट में गए थे। वहां पर स्थानीय लोग उन्हें देख कर भड़क गए और उन्हें कोरोना फैलाने का आरोपी कहने लगे। जिसके बाद वह लोग चुपचाप सब्जी लेकर अपने कमरे में आ गए।

बुधवार को अचानक 15 से 20 लोग कमरे पर आ गए और मजदूरों को धमकाने के साथ गाली-गलौज करते हुए उन्हें यहां से भागने के लिए कहने लगे उनके विरोध करने पर उन लोगों ने मजदूरों के साथ पिटाई कर दी। पिटाई में सिर फटने से सिवान जिले के मजदूर सोनू गंभीर रूप से घायल हो गया

ही घटना की जानकारी मिलने के बाद विधायक केदार प्रसाद गुप्ता ने मामलेकी जानकारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को देकर मामले पर हस्तक्षेप करने को कहा है। केदार ने कहा कि किसी भी प्रदेश का व्यक्ति देश के किसी कोने में रहकर काम कर सकता है ऐसे हमलों का होना गलत है।

संबंधित खबर :हरियाणा में अब कोरोना पीड़ितों की देखभाल में लगे डाक्टरों और स्टाफ को मिलेगा डबल वेतन

लॉकडाउन के कारण पूरे देश में भारत बंद है जिस कारण लोग अपने घरों में बंद रहने को मजबूर हैं कोरोना में लॉकडाउन के कारण लोगों के काम-धंधे पूरी तरीके से बंद हो चुके हैं। ऐसे में लॉकडाउन का सबसे ज्यादा असर इन मजदूरों पर पड़ा है। कंपनियों के बंद हो जाने से ये सभी मजदूर बेरोजगार हो गए हैं। बता दे हरियाणा के गुरुग्राम जिले का औद्योगिक क्षेत्र मानेसर लॉकडाउन के बाद से सूना पड़ा है। मानेसर में औद्योगिक इकाईयों में मारुति, होंडा, हीरो जैसी कई बड़ी और छोटी फैक्ट्रियां हैं। जिसमें हजारों की संख्या में ये अप्रवासी मजदूर काम करते है लेकिन 25 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा के बाद ये फैक्ट्रीयां शांत पड़ी हुई हैं।

Next Story

विविध

Share it