कश्मीर

जम्मू कश्मीर के छात्रों ने खाली किया जामिया विश्वविद्यालय का हॉस्टल, लौटे अपने घर

Nirmal kant
11 May 2020 1:30 AM GMT
जम्मू कश्मीर के छात्रों ने खाली किया जामिया विश्वविद्यालय का हॉस्टल, लौटे अपने घर
x

अचानक लागू हुए लॉकडाउन के कारण यह छात्र-छात्राएं यहां अपने हॉस्टल में ही फंसे रह गए थे। अब इन्हें वापस जम्मू-कश्मीर भेजने की व्यवस्था की गई है...

जनज्वार ब्यूरो। जामिया मिलिया विश्वविद्यालय के हॉस्टल में रह रहे जम्मू-कश्मीर की छात्र-छात्राएं रविवार 10 मई को श्रीनगर के लिए रवाना हो गए। हॉस्टल खाली करने वाले इन छात्रों को श्रीनगर भेजने की व्यवस्था विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा की गई। छात्रों की सुरक्षा के मद्देनजर उनके साथ सुरक्षाकर्मियों को भी विशेष बस द्वारा श्रीनगर भेजा गया है।

विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक, अचानक लागू हुए लॉकडाउन के कारण यह छात्र-छात्राएं यहां अपने हॉस्टल में ही फंसे रह गए थे। अब इन्हें वापस जम्मू-कश्मीर भेजने की व्यवस्था की गई है। विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा छात्रों की बस को पहले सैनिटाइज करवाया गया। इसके उपरांत सभी छात्रों, बस चालक व अन्य लोगों की मेडिकल जांच भी की गई।

संबंधित खबर : कश्मीरी महिला पत्रकार के खिलाफ ‘राष्ट्रविरोधी’ पोस्ट करने पर UAPA के तहत मुकदमा दर्ज

विश्वविद्यालय प्रशासन ने एक लिखित आधिकारिक जानकारी साझा करते हुए कहा, 'छात्रों को जम्मू-कश्मीर भेजने से पहले यात्रा के दौरान उनके स्वास्थ्य की देखरेख, भोजन, पेयजल आदि की सभी व्यवस्थाएं की गई। कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए बस में सोशल डिस्टेंसिंग की भी व्यवस्था की गई।'

जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन ने कहा, 'छात्र-छात्राएं वापस अपने घरों को लौटना चाहते थे। दरअसल कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण विश्वविद्यालय में सभी प्रकार की गतिविधियां स्थगित कर दी गई हैं। विश्वविद्यालय की कक्षाएं रेगुलर छात्रों के लिए अगस्त माह से दोबारा शुरू की जाएंगी। इसे देखते हुए सभी छात्र छात्राओं ने अपने घरों को वापस जाने की इच्छा जताई थी।'

सप्ताह जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन भी छात्रों को हॉस्टल खाली करने के निर्देश दे चुका है। विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार एपी सिद्धकी ने एक पत्र जारी करते हुए कहा, 'जो विद्यार्थी हॉस्टल में रह गए थे उन्हे अब हॉस्टल खाली करने का निर्देश दिया जाता है। विश्वविद्यालय के आसपास का क्षेत्र पहले ही हॉटस्पॉट घोषित किया जा चुका है। ऐसे में विश्वविद्यालय द्वारा आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराना कठिन होगा।'

जामिया विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रों को निर्देश देते हुए कहा है कि सरकार द्वारा जारी की गई नई गाइडलाइंस का पालन करते हुए छात्र अपने घरों को जा सकते हैं।

संबंधित खबर : कश्मीरी पुलित्जर पुरस्कार विजेता पत्रकारों को राहुल गांधी ने दी बधाई तो संबित पात्रा भड़के

विश्वविद्यालय प्रशासन के मुताबिक छात्रों के लिए सरकार की नई गाइडलाइंस में ट्रांसपोर्ट और ट्रैवल प्रोटोकॉल है। गौरतलब है कि लॉकडाउन घोषित किए जाने के कारण कई छात्र अपने घर नहीं जा सके थे और हॉस्टल में ही रुके हुए हैं।

Next Story

विविध

Share it