Top
शिक्षा

जनज्वार EXCLUSIVE : यूपी के सोनभद्र में सरकारी स्कूल का रखा गया जातिसूचक नाम, भीम आर्मी ने दी चेतावनी

Nirmal kant
18 Nov 2019 2:05 AM GMT
जनज्वार EXCLUSIVE : यूपी के सोनभद्र में सरकारी स्कूल का रखा गया जातिसूचक नाम, भीम आर्मी ने दी चेतावनी
x

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में शिक्षा की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है इसी बात से कि सोनभद्र जिले के एक स्कूल में जातिसूचक शब्द (हरिजन) का किया गया है इस्तेमाल, जबकि इस गांव में कई अन्य बिरादरियों के भी रहते हैं लोग...

सोनभद्र से पवन जायसवाल की ग्राउंड रिपोर्ट

त्तर प्रदेश की योगी सरकार में शिक्षा की स्थिति क्या है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सोनभद्र जिले के एक गांव के स्कूल में जातिसूचक शब्द (हरिजन) का इस्तेमाल किया गया है, जबकि इस गांव में कई अन्य जाति-बिरादरी के लोग रहते हैं। ऐसे में किसी वर्ग विशेष की बिरादरी से गांव के स्कूल और शैक्षणिक संस्थान को चिह्नित करना कहां तक उचित है, ये लोगों के लिये सोचनीय विषय बना हुआ है।

संबंधित खबर : जनज्वार एक्सक्लूसिव - मिड डे मील योजना का खुलासा करने वाले पत्रकार पवन जायसवाल की जान को खतरा

ह पूरा मामला सोनभद्र जिले के लोढ़ी गांव का है। इसको लेकर भीम आर्मी के चंदोली जिला उपाध्यक्ष शैलेश कुमार ने एक वीडियो जारी कर कहा कि एक समुदाय को नीचा दिखाने के लिए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया गया है। हम चाहते हैं कि यहां पर जो शब्द लिखा गया है, इसको हटा दिया जाए और ग्रामसभा का नाम लिखा जाए।

शैलेश कुमार ने कहा कि 'हमने एक समुदाय को नीचा दिखाने के लिए जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किये जाने को लेकर स्थानीय लोगों से बात की तो उन्होंने बताया कि हमारे ग्राम प्रधान ने लिखवाया है। इसको लेकर हम शासन-प्रशासन और सोनभद्र जिला अधिकारी से आग्रह करते हैं कि इसको जल्द से जल्द बदल दिया जाए। ताकि हमें अपमानित न होना पड़े। इसलिए जल्द से जल्द कार्रवाई की जाए।'

संबंधित खबर : मिड डे मील में नमक-रोटी परोसने की खबर ब्रेक करने वाले पत्रकार पर दर्ज हुई एफआईआर

शैलेश कुमार ने कहा कि हमें सूचना मिली थी, स्कूल पर हरिजन बस्ती लिखवाया गया है। किसी भी शिक्षण संस्थान नाम जाति या धर्म के नाम पर नहीं होना चाहिए। यहां अन्य कई जाति धर्मों के लोग रहते हैं। यह असंवैधानिक है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि इसे जल्द से जल्द बदला जाए। इसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे, अन्यथा हम बड़ा आंदोलन करेंगे।

संबंधित खबर : यूपी के मिर्जापुर में मचा बाढ़ से हाहाकार, समय रहते सुन ली होती अधिकारियों ने तो गरीब किसान नहीं होते तबाह

बीते कुछ वर्षों में स्कूलों में हुई कई घटनाओं से उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की मंशा पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं। इससे पहले सोनभद्र के ही नजदीकी जिला मिर्जापुर की एक सरकारी स्कूल में स्कूल के बच्चों को मिड-डे-मील में नमक रोटी परोसी गई थी। यह खुलासा करने वाले पत्रकार पर पहले राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया, लेकिन देशभर से उठी विरोध की आवाजों के बाद इसे वापस ले लिया गया था।

Next Story

विविध

Share it