Top
उत्तर प्रदेश

कानपुर : लापरवाही की आग में जलकर खाक हुई गरीबों की झुग्गी-झोपड़ियां, रोजी-रोटी और जीवनभर की कमाई खत्म

Nirmal kant
9 April 2020 3:29 PM GMT
कानपुर : लापरवाही की आग में जलकर खाक हुई गरीबों की झुग्गी-झोपड़ियां, रोजी-रोटी और जीवनभर की कमाई खत्म
x

दमकल द्वारा आग पर काबू पाने से पहले ही कई गरीब परिवारों की गृहस्थी, झोपड़ी, रोजी-रोटी समेत कमाई धमाई का सारा बारदाना जलकर पूरी तरह से राख हो गया....

जनज्वार ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के कानपुर में बिजली विभाग की लापरवाही के कारण गरीबों पर गिरी गाज, लॉकडाउन के समय गरीब परिवारों के झोपड़ों में रखा गृहस्थी व रोजी-रोटी का साधन लापरवाही की आग में जलकर राख हो गया। गोविन्दनगर थाना अन्तर्गत स्थित रतन लाल नगर चौकी से महज 60 मीटर की दूरी पर गुजैनी-सी ब्लाक भीम नगर कच्ची बस्ती में बुधवार की देर रात अचानक भीषण आग लग गई। देखते ही देखते आग ने विकराल रूप लेना शुरू कर दिया। आग को बढ़ता देख इलाकाई लोगों कि भीड़ लगनी शुरू हो गयी सब तरफ हो-हल्ला मचने लगा। जिसके बाद स्थानीय लोगों ने सूचना पुलिस को दी।

सूचना पाकर घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने दमकल को आग लगने कि सूचना देकर उन्हे घटनास्थल पर बुलवाया। जानकारी मिलने के कई घंटों बाद लगभग एक बजे घटनास्थल पर पहुंची दमकल कि तीन गाड़ियां आग पर काबू पाने की कोशिश में लगीं। डेढ़ से दो घण्टे कि कड़ी मशक्कत के बाद ढाई बजे आग पर काबू पाया जा सका। लेकिन दमकल द्वारा आग पर काबू पाने से पहले ही कई गरीब परिवारों की गृहस्थी, झोपड़ी, रोजी-रोटी समेत कमाई धमाई का सारा बारदाना जलकर पूरी तरह से राख हो चुका था।

संबंधित खबर : निजामुद्दीन जमातियों की कानपुर में मूवमेंट के बाद 7 इलाके रेड जोन घोषित

गौरतलब है कि गुजैनी के सी-ब्लॉक स्थित कच्ची बस्ती में बीचों-बीच ट्रांसफार्मर लगा हुआ है। क्षेत्रीय लोगों ने जनज्वार को बताया कि मंगलवार शाम और बुधवार सुबह दो-तीन बार ट्रांसफार्मर मे शॉर्टसर्किट हुआ था। शॉर्टशर्किट के चलते काफी तेज चिंगारीयां भी निकल रहीं थी। स्थानीय लोगों ने इसकी जानकारी केस्को को दी गई थी। लेकिन लॉकडाउन के बीच अपनी सुरक्षा को लेकर आशंकित अफसरों ने उनकी बातो पर ध्यान नहीं दिया।

जिसके बाद बुधवार रात करीब पौने एक बजे बस्ती के बीच लगे ट्रांसफार्मर मे दोबारा शार्ट-सर्किट हुआ। इस शॉर्टशर्किट के बाद ट्रांसफार्मर ने तेज आग पकड़ ली। आग ने धीरे-धीरे विकराल रूप ले लिया जिससे गरीबो कि कई दुकानो समेत बस्ती के कई घरों को भी अपनी जद में लेकर जलाकर खाक कर दिया। ट्रांसफर्मर की चिंगारी से लगी आग में अपना घर बार जलता देखने वाले लॉकडाउन के बीच और अधिक दिक्कत का सामना करने से पहले ही अधमरे से दिख रहे हैं।

रात के वक्त दुकानो व झोपडों के बाहर फुटपाथ पर सो रहा महेशचंद्र का बेटा और उमेश का परिवार आग की तपन लगने एकाएक उठ खड़े हुए। देखा तो भयानक आग लगी हुई थी। अपने झोपड़ों से बाहर सोये लोगो की नींद आग की लपटें देखकर कोसों दूर भाग चुकी थी। देखते ही देखते शोर मचाने लगा। लोगों ने शोर मचाते हुए बस्ती के अन्य लोगों को जगाया। भगदड़ मच गयी जब तक फायरब्रिगेड आती तब तक लोग बाल्टी, थाली, डब्बा, प्लेट, गिलास ले-लेकर आग पर काबू पाने की नाकाम कोशिशों में लगे रहे।

संबंधित खबर : कोरोना से बचने के लिए कानपुर में हुआ हवन, लोग बोले वायरस से बचाएंगे बजरंग बली

इनका हुआ नुकसान

आग से दबौली निवासी राजू आहूजा का टेंट हाउस का समान जल गया तो मर्दनपुर निवासी बाबू के बैंड बाजा की दुकान, बस्ती के महेशचंद्र का किराना स्टोर समेत उसी जगह पर बने कच्चे मकान की गृहस्थी का समान, यहीं के निवासी अखिलेश यादव की रजाई-गद्दा की दुकान व गृहस्थी का समान, उमेश मौर्या की लइया-चना की दुकान समेत गृहस्थी का समान सब आग से जलकर पूरी तरह राख हो गया। इलाकाई लोगों का कहना है कि इस नुकसान से इन सभी लोगों को दोहरी मार पड़ी है, एक तो काम का दूसरा लापरवाही से लगी इस आग ने लोगों को कोरोना के लॉकडाउन से भी बड़ा जख्म दिया है।

Next Story

विविध

Share it