Top
राजनीति

भाजपा नेता ने कहा गले लगने से बढ़ती हैं रेप की घटनाएं

Janjwar Team
20 Sep 2017 7:11 PM GMT
भाजपा नेता ने कहा गले लगने से बढ़ती हैं रेप की घटनाएं
x

बीजेपी सांसद ने कहा बाइक पर लड़के-लड़की एक दूसरे से ऐसे चिपके रहते हैं जैसे लड़की, लड़के को खा जाएगी और लड़का, लड़की को। ऐसे युवा जोड़ों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए...

जयपुर। विवादों और बीजेपी सांसद साक्षी महाराज का चोली—दामन का साथ है। अब वे यह बोलकर सुर्खियों में हैं कि 'सार्वजनिक स्थलों पर लड़के—लड़की का एक दूसरे को आलिंग्न करना अश्लील हरकत है, ऐसी हरकतें रेप को बढ़ावा देती हैं।

साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि सार्वजनिक स्थलों, खुली सड़कों पर एक दूसरे को चूमने, एक दूसरे को गले लगाने और एक दूसरे से सटकर बैठने वाले लड़के—लड़कियों को उठाकर थाने में बंद कर देना चाहिए।

यह विवादित बयान साक्षी महाराज ने आज 20 सितंबर को भरतपुर में आयोजित एक कार्यक्रम में दिया। साक्षी महाराज इस मामले में यहीं पर नहीं रुके, बल्कि यह भी कहा कि जवान लड़के—लड़कियां अक्सर मोटरसाइकिलों, कारों एवं पार्कों में अश्लील हरकतें करते हुए देखे जाते हैं, मगर समाज में न तो इस बारे में कोई बात होती है और न ही उनके खिलाफ कोई कार्रवाई की जाती है। ऐसे में अगर कोई रेप की घटना घट जाती है तो उसके बाद मीडिया जरूर पुलिस के पीछे पड़ जाती है, शासन—प्रशासन पर तमाम तरह के सवाल उठने शुरू हो जाते हैं।

साक्षी महाराज के शब्दों में कहें तो 'मोटरसाइकिल पर लड़के-लड़की ऐसे एक दूसरे से चिपके हुए दिखते हैं जैसे लड़की लड़के को खा जाएगी और लड़का लड़की को खा जाएगा। ऐसे युवा जोड़ों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।

जहां साक्षी महाराज को युवाओं के सार्वजनिक स्थानों पर गले लगने और हाथ से हाथ पकड़कर चलने पर भी ऐतराज है, वहीं बलात्कारी बाबा राम रहीम के पक्ष में उनका उतरना चौंकाता है, और उनके दोगलेपन को भी दर्शाता है।

गौरतलब है कि जब राम रहीम को साध्वी रेप प्रकरण में कोर्ट ने सजा सुनाई थी तो इन्हीं साक्षी महाराज ने कहा था कि एक साध्वी ने डेरा प्रमुख के खिलाफ बलात्कार का आरोप लगाया था, लेकिन करोड़ों भक्तों का मानना है कि वह भगवान है। ऐसे में उन्हें बलात्कारी कैसे सिद्ध किया जा सकता है। हालांकि अब वे उस बात से मुकरते साफ देखे जा सकते हैं और कहते हैं कि राम रहीम के साथ उनका कोई संबंध नहीं है। साथ ही यह कहना भी नहीं भूलते कि राम रहीम को पूर्ववर्ती सरकारों का संरक्षण प्राप्त था, जबकि राज्य में सत्तासीन मौजूदा बीजेपी सरकार ने तो उसे सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है।

रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ भी जहर उगलने में साक्षी महाराज पीछे नहीं रहे। उन्होंने कहा कि रोहिंग्या मुसलमानों को शरण देना तो दूर की बात, एक मिनट भी देश में नहीं टिकने देना चाहिए। खदेड़ देना चाहिए देश से बाहर उन्हें।

(स्टोरी में तस्वीर का इस्तेमाल व्यंग्यात्मक तौर पर किया गया है।)

Next Story

विविध

Share it