राजनीति

घर लौट रहे मजदूर के माथे पर पुलिस ने लिखा, 'मैने लॉकडाउन का उल्लंघन किया, मुझसे दूर रहना'

Janjwar Team
29 March 2020 5:43 AM GMT
घर लौट रहे मजदूर के माथे पर पुलिस ने लिखा, मैने लॉकडाउन का उल्लंघन किया, मुझसे दूर रहना
x

पीएम मोदी के तीन सप्ताह के राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के ऐलान के बाद घर लौट रहा था प्रवासी मजदूर, रास्ते में पुलिस ने रोककर माथे पर लिख दिया- मैने लॉकडाउन का उल्लंघन किया, मुझसे दूर रहना...

जनज्वार न्यूज। कोरोना वायरस के कारण 21 दिन के देशव्यापी लॉकडाउन के चलते महानगरों में मजदूरी कर जीवन यापन करने वाले प्रवासी मजदूर इन दिनों बड़ी संख्या में अपने घरों को लौट रहे हैं। इस लॉकडाउन के चलते प्रवासी मजदूरों को उन जगहों पर रहना बहुत मुश्किल हो रहा है जहां वह दिहाड़ी कर रोजाना कमाते थे। पीएम मोदी ने 25 मार्च को जब तीन सप्ताह के लॉकडाउन की घोषणा की तो सभी अपनी-अपनी जगहों पर फंस गए थे। लेकिन जब उनको वहां खाना भी नहीं मिला तो पैदल ही अपने घरों को लौटना शुरु कर दिया।

इस दौरान कई जगह प्रशासन उन्हें सुरक्षित घर पहुंचाने में मदद कर रहा है तो कहीं पुलिस उनके साथ अमानवीय व्यवहार कर रही है। ताजा मामला मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले से सामने आया है जहां इसांनियत की हदें पार करते हुए एक महिला पुलिसकर्मी ने मजदूरे के माथ पर मार्कर पेन से लिखा कि मैने लॉकडाउन का उल्लंघन किया, मुझसे दूर रहना।

स्थानीय मीडिया की रिपोर्ट्स की माने तो यह गौरिहार थाना के चंद्रपुरा का मामला है। ये मजदूर उत्तर प्रदेश से छतरपुर अपने घर वापस लौट रहे थे, तभी मजदूर के माथे पर मध्यप्रदेश पुलिस ने लिख दिया कि लॉकडाउन का उल्लंघन किया, मुझसे दूर रहना। महिला सब इंस्पेक्टर अमिता अग्निहोत्री पर यह लिखने का आरोप है। बताया जा रहा है कि वे गोरिहार थाना में महिला सब इंस्पेक्टर के पद पर पदस्थ हैं।

संबंधित खबर : कोरोना वायरस - प्रवासी मजदूरों के लिए हरियाणा में बनेंगे सुरक्षित कैंप

हिला पुलिसकर्मी का एक और वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें उनके एक सहयोगी पुलिसकर्मी उनसे मजदूरों के चेकअप को लेकर कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि दोनों मजदूरों को खांसी हो रही है तो इस पर महिला अधिकारी कहती हैं- क्या चेक करा दें, जाने तो देना ही है..।

ध्यप्रदेश कांग्रेस ने भी इस वीडियो को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया है और मध्यप्रदेश की शिवराज सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, 'संवेदनहीन शिवराज सरकार -‪छतरपुर अपने घर वापस लौट रहे मजदूर के माथे पर मध्यप्रदेश पुलिस ने लिख दिया लॉकडाउन का उलंघन किया, मुझसे दूर रहना। ‪शिवराज ने जनता को दो ही विकल्प दिये हैं या तो कोरोना से मरो या फिर भूख से।‬ ‪शिवराज जी,‬

‪आपने मज़दूर के नहीं, भारत माता के माथे पर लिखा है।

सामाजिक कार्यकर्ता हिमांशु कुमार ने इसी वीडियो को फेसबुक पोस्ट पर अपलोड करते सवाल किया, 'मजदूर के माथे पर शासन की पुलिस ने लिख दिया मैंने लॉक डाउन का उल्लंघन किया मुझसे दूर रहो। जन गण मन का अधिनायक कौन है ? यह मजदूर या शासन की बन्दूक ?'

Next Story

विविध

Share it