Top
राष्ट्रीय

सोनिया गांधी पर 'आपत्तिजनक टिप्पणी' मामले में अर्णब गोस्वामी से मुंबई पुलिस ने की साढ़े 12 घंटे पूछताछ

Manish Kumar
28 April 2020 1:21 AM GMT
सोनिया गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में अर्णब गोस्वामी से मुंबई पुलिस ने की साढ़े 12 घंटे पूछताछ
x

सोनिया गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी के मामले में मुंबई पुलिस ने अर्णब गोस्वामी को दो नोटिस जारी किए थे…

मुंबई: सोनिया गांधी पर आपत्तिजनक टिप्पणी मामले में मुंबई पुलिस ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी से 12 घंटे से भी ज्यादा समय तक पूछताछ की.

बता दें मुंबई पुलिस ने रविवार को सोनिया गांधी पर बयान देने के मामले में दो नोटिस थमाए थे. एफआईआर कांग्रेस नेता नितिन राउत ने दर्ज कराई थी. सीआरपीसी की धारा 41 के तहत यह एफआईआर नागपुर में दर्ज कराई गई थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर यह एफआईआर मुंबई शिफ्ट कर दी गई.

यह भी पढ़ें- अर्णब गोस्वामी के इस दावे को राजदीप सरदेसाई ने बताया झूठ, कहा- फेकूगिरी की भी कोई लिमिट होती है

पुलिस के सामने पेश होने से पहले अर्णब गोस्वामी ने रविवार को बयान जारी करते हुए कहा था कि अर्णब ने अपने बयान में कहा है कि मुंबई पुलिस ने मेरे खिलाफ दर्ज मामले में आज 12 घंटे के भीतर पूछताछ के लिए दो-दो नोटिस जारी किए है. मैं कानून का पालन करूंगा और इस मामले में जांच में पूरा सहयोग करूंगा, लेकिन पुलिस को मेरे और मेरी पत्नी के खिलाफ हुए हमले की भी जांच में तेजी दिखानी चाहिए.

सुप्रीम कोर्ट से मिली थी अर्णब को राहत

सुप्रीम कोर्ट ने 24 अप्रैल को रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्णब गोस्वामी की याचिका पर सुनवाई करते हुए उनको राहत दी थी. सुप्रीम कोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश में याचिकाकर्ता अर्णब गोस्वामी के खिलाफ 3 सप्ताह की अंतरिम सुरक्षा और कोई ठोस कार्रवाई नहीं करने का आदेश दिया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अर्णब गोस्वामी तीन सप्ताह में अग्रिम जमानत की अर्जी दे सकते हैं.

यह भी पढ़ें- अर्णब का राजनीतिक कनेक्शन, पिता लड़ चुके BJP से एमपी चुनाव तो मामा हैं BJP सरकार में मंत्री

सुप्रीम कोर्ट ने अर्णब गोस्वामी के खिलाफ सभी एफआईआर (एक को छोड़कर जो नागपुर में दायर की गई थी और जिसे अब मुंबई स्थानांतरित कर दिया गया है) पर रोक लगा दी है. सुप्रीम कोर्ट ने अर्णब गोस्वामी और रिपब्लिक टीवी को सुरक्षा प्रदान करने के लिए मुंबई पुलिस आयुक्त को निर्देश भी दिए हैं. अर्नब गोस्वामी ने एफआईआर दर्ज करने के लिए किसी भी कार्रवाई पर रोक लगाने की मांग की थी।

कहां से शुरू हुआ पूरा विवाद?

बता दें कांग्रेस की अंतिरम अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने के बाद अर्णब गोस्वामी विवादों के केंद्र में आए गए थे. अर्णब के खिलाफ मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, तेलंगाना और महाराष्ट्र में कई शिकायते दर्ज हो चुकी हैं. केवल छत्तीसगढ़ के सभी 28 जिलों में ही कुल 100 से ऊपर एफआईआर दर्ज़ हुई है।

बता दें रिपब्लिक टीवी के एडिटर अर्णब गोस्वामी ने महाराष्ट्र के पालघर में दो साधुओं समेत तीन लोगों की मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर एक डिबेट शो के दौरान यह टिप्पणी की थी. अर्णब शो के दौरान इस घटना को लेकर सोनिया गांधी कथित चुप्पी पर सवाल उठा रहे थे.

Next Story

विविध

Share it