Top
राजनीति

संघ प्रमुख भागवत बोले सबसे सुखी मुसलमान भारत में इसलिए क्योंकि हम हिंदू हैं

Prema Negi
13 Oct 2019 6:59 AM GMT
संघ प्रमुख भागवत बोले सबसे सुखी मुसलमान भारत में इसलिए क्योंकि हम हिंदू हैं
x

मोहन भागवत बोले, यह कहना बिल्कुल गलत है कि हमारे देश की उन्नति अंग्रेजों की वजह से हुई। हम क्लासलेस सोसायटी की स्थापना वेदों के आधार पर भी कर सकते हैं...

जनज्वार। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) चीफ मोहन भागवत ने एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि दुनियाभर में सबसे सुखी मुसलमान भारत में मिलेंगे, क्योंकि हम हिंदू हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि हिंदू कोई भाषा या प्रांत नहीं है, ये एक संस्कृति है।

मोहन भागवत ने न केवल मुस्लिमों बल्कि पारसियों के लिए भी सबसे सुखी और सु​रक्षित देश भारत को बताया। उन्होंने कहा कि यदूही दुनियाभर में मारे-मारे फिरते थे, अकेले भारत है जहां उनको आश्रय मिला। पारसियों की पूजा और मूल धर्म केवल भारत में सुरक्षित है।

यह भी पढ़ें : नसीरुद्दीन शाह के बाद अब मोहन भागवत हुए भारत में असुरक्षित?

मोहन भागवत ने कहा कि यह कहना बिल्कुल गलत है कि हमारे देश की उन्नति अंग्रेजों की वजह से हुई। हम क्लासलेस सोसायटी की स्थापना वेदों के आधार पर भी कर सकते हैं। हिंदू धर्म कोई भाषा या प्रांत नहीं है, ये एक संस्कृति है जो भारत के लोगों की सांस्कृतिक विरासत है।

भागवत बोले हमारे संगठन आरएसएस का लक्ष्य सिर्फ हिंदू समुदाय को बदलना नहीं है, बल्कि देश में पूरे समाज को संगठित कर हिंदुस्तान को बेहतर भविष्य की ओर ले जाना है। सबसे सही तरीका यही है कि अच्छा व्यक्ति तैयार किया जाए, जो समाज और देश को बदलने में अहम भूमिका निभा सके। देश के 130 करोड़ लोगों को बदलना संभव नहीं है, इसके लिए अच्छे व्यक्ति तैयार करना जरूरी है, जो स्वच्छ चरित्र का हो और हर गली, हर कस्बे में नेतृत्व करने की क्षमता रखता हो। राष्ट्रवाद लोगों को डराता है क्योंकि वह तुरंत इसे हिटलर और मुसोलिनी से जोड़ देते हैं। लेकिन भारत में राष्ट्रवाद ऐसा नहीं है, क्योंकि यह राष्ट्र अपनी सामान्य संस्कृति से बना है।

यह भी पढ़ें : मुस्लिम औरतों को न्याय क्या संघ की शरण में जाने से पहले नहीं दिला पातीं फरहा फ़ैज़

गौरतलब है कि संघ प्रमुख अपने नौ दिवसीय दौरे पर ओडिशा के सतरुदे पहुंचे हैं। जानकारी के मुताबिक वहां भागवत अखिल भारतीय कार्यकारी मंडल की पहली बैठक में शिरकत करेंगे। इस दौरान उनके साथ भैयाजी जोशी के होने की खबरें भी सामने आ रही हैं। आरएसएस कार्यकारिणी समिति की बैठक ओडिशा के एक निजी विश्वविद्यालय में 16 से 18 अक्टूबर तक होने की खबर है। बताया यह भी जा रहा है कि भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा भ्ज्ञी आरएसएस की बैठक में हिस्सेदारी करेंगे, क्योंकि उनका अगले सप्ताह ओडिशा का चार दिवसीय दौरा है।

हालांकि मोहन भागवत के मुस्लिम सबसे ज्यादा सुखी भारत में वाले बयान ने सोशल मीडिया पर बहस भी छेड़ दी है। कोई उनकी बात का समर्थन कर रहा है तो कई लोगों ने यह कहना शुरू कर दिया है कि अगर ​मुस्लिम इतना ही सुरक्षित है देश में तो आये दिन झूठी गोहत्याओं की अफवाह मात्र पर मॉब लिंचिंग का शिकार क्यों बनाया जाता है। तब कहां चला जाता है यह सुख।

Next Story

विविध

Share it