सिक्योरिटी

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस्लामाबाद में बुलाई आपात बैठक

Prema Negi
26 Feb 2019 8:17 AM GMT
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस्लामाबाद में बुलाई आपात बैठक
x

पाकिस्तान के प्रमुख अखबार द डॉन में छपी खबर के अनुसार, बालाकोट पुलिस प्रमुख सगीर हुसैन शाह का कहना है कि बालाकोट के जिस इलाके में भारत ने हमला किया है वह मानवविहीन मरूस्थलीय और जंगलों वाला इलाका है....

जनज्वार। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारतीय वायुसेना के हमले के बाद इस्लामाबाद में सर्वदलीय आपात बैठक बुलाई है। उससे पहले आज 26 फरवरी की सुबह—सुबह पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह मोहम्मद कुरैशी ने सभी वरिष्ठ राजदूतों, पूर्व सचिवों और सुरक्षा अधिकारियों से ​मुलाकात की।

रेडियो पाकिस्तान के अनुसार कुरैशी ने कहा कि पाकिस्तान शांति चाहता है, लेकिन भारत सीमावर्ती इलाकों में तनाव बढाने की तरफ बढ़ रहा है। भारत को हमें कमजोर समझने की भूल नहीं करनी चाहिए।

रेडियो पाकिस्तान के मुताबिक कुरैशी ने भारत को चेतावनी दी है कि पाकिस्तान को चुनौती न दे। भारतीय वायुसेना की कार्रवाई के बाद जारी बयान में पाकिस्तान ने है कहा कि भारतीय कार्रवाई पर चिंतित नहीं होना चाहिए, क्योंकि पाकिस्तान के सुरक्षाबल किसी भी तरह की आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरे तौर पर निपटने के लिए तैयार है।

गौरतलब है कि आज मंगलवार 26 फरवरी की तड़के सुबह पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने खुद स्वीकार किया था कि भारत ने एलओसी नियमों का उल्लंघन किया है। पाकिस्तानी वायु सेना ने मुकाबला किया। भारतीय विमान वापस चले गए।

पाकिस्तान के प्रमुख अखबार द डॉन में छपी खबर के अनुसार, बालाकोट पुलिस प्रमुख सगीर हुसैन शाह का कहना है कि बालाकोट के जिस इलाके में भारत ने हमला किया है वह मानवविहीन मरूस्थलीय और जंगलों वाला इलाका है।

संबंधित खबर : POK के आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना के हमले की खबर!

वहीं भारत के विदेश सचिव वीके गोखले ने दावा किया है कि बालाकोट स्थित जैश—ए—मोहम्मद के 3 ठिकानों को भारतीय वायुसेना ने नेस्तनाबूद कर दिया है। विदेश सचिव के मुताबिक हमारी वायुसेना के इस हमले में सैकड़ों आतंकी मारे गए हैं।

जहां एक तरफ इमरान खान ने भारतीय वायुसेना के हमले के बाद आपात बैठक ​बुलाई है, वहीं पूर्व राष्ट्रपति और सेनाध्यक्ष परवेज मुशर्रफ पाक सरकार को चेता चुके हैं कि भारत से युद्ध की उसे बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी। 22 फरवरी को दुबई में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुशर्रफ ने कहा था 'भारत-पाकिस्तान के बीच के रिश्ते बेहद खतरनाक स्तर तक पहुंच चुके हैं। बिगड़े हालातों के बाद भी दोनों देशों के बीच परमाणु युद्ध नहीं होगा, क्योंकि अगर हम भारत पर एक परमाणु बम फेकेंगे तो वो हम पर 20 बम फेंककर दुनिया के नक्शे से हमारा नामो-निशान मिटा देगा।'

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने माना था कि राजनीतिक कूटनीति में मौजूदा प्रधानमंत्री इमरान खान अभी बच्चे हैं। जरदारी उस समय पाकिस्तान के राष्ट्रपति थे जब 2008 में लश्कर—ए—तैयबा ने भारत पर हमला किया था। लश्कर—ए—तैयबा पाकिस्तान का आतंकी संगठन है।

Next Story
Share it