Top
उत्तर प्रदेश

Lockdown: मुंबई से पैदल चलकर 1500 किलोमीटर दूर अपने गांव पहुंचा शख्स, कुछ घंटे बाद क्वारंटाइन सेंटर में हुई मौत

Manish Kumar
28 April 2020 7:17 AM GMT
Lockdown: मुंबई से पैदल चलकर 1500 किलोमीटर दूर अपने गांव पहुंचा शख्स, कुछ घंटे बाद क्वारंटाइन सेंटर में हुई मौत
x

मुंबई के वसई में रहने वाले मजदूर अली ने रास्ते में भोजन और पानी के लिए खासा संघर्ष किया लेकिन उन्होंने चलना जारी रखा और लगभग 1,500 किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव पहुंचे...

श्रावस्ती: पंद्रह दिन पहले उत्तर प्रदेश के इंसाफ अली ने श्रावस्ती जिले में अपने घर पहुंचने के लिए मुंबई से पैदल चलना शुरू किया था। मुंबई के वसई में रहने वाले मजदूर अली ने रास्ते में भोजन और पानी के लिए खासा संघर्ष किया लेकिन उन्होंने चलना जारी रखा और लगभग 1,500 किलोमीटर पैदल चलकर अपने गांव पहुंचे।

न्यूज एजेंसी आईएएनएस के मुताबिक वह सोमवार को अपने गांव के बाहरी इलाके में पहुंचे और उसे तुरंत जिले के मल्हीपुर पुलिस स्टेशन के अंतर्गत मटखनवा में एक क्वारंटीन केंद्र में ले जाया गया। कुछ घंटे बाद, पानी की कमी और थकावट के कारण उसकी मृत्यु हो गई।

श्रावस्ती के पुलिस अधीक्षक अनूप कुमार सिंह ने कहा कि अली सुबह 7 बजे के करीब मटखनवा पहुंचे और स्थानीय स्कूल में बुनियादी परीक्षण करने के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

यह भी पढ़ें - जानबूझकर कर्ज न चुकाने वालों पर RBI मेहरबान, भगोड़े मेहुल चौकसी समेत टॉप 50 डिफॉल्टर्स का 68,607 करोड़ का कर्ज माफ

सिंह ने कहा, "उन्हें एक उचित नाश्ता भी दिया गया जिसके बाद उन्होंने आराम किया। लेकिन, पांच घंटे के बाद, उन्हें पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द की शिकायत शुरू हुई और तीन बार उल्टी भी हुई।" इससे पहले कि डॉक्टरों को बुलाया जाता, अली की मृत्यू हो गई।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ए.पी.भार्गव ने कहा कि उन्होंने उसके नमूने ले लिए थे और लखनऊ में डॉ. राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कोरोनावायरस के परीक्षण के लिए भेज दिया था।

सीएमओ ने कहा, "रिपोर्ट सामने आने के बाद ही, हम अली की मौत के सही कारणों का पता लगाने के लिए उसके शव का पोस्टमार्टम करेंगे।"

यह भी पढ़ें- उत्तर प्रदेश के BJP विधायक ने कहा- मुसलमानों से सब्जी न खरीदे कोई, VIDEO वायरल

हालांकि, उन्होंने कहा, डॉक्टरों की एक टीम द्वारा किए गए प्रारंभिक जांच के दौरान, कोरोनोवायरस के कोई संकेत या लक्षण का पता नहीं लगा था।

मटखनवा के ग्राम प्रधान अगियाराम ने कहा कि अली 24 अप्रैल को श्रावस्ती पहुंचे थे और लगभग 10 किलोमीटर दूर अपने ससुराल में रुके। उन्होंने कहा, "सोमवार को वह मटखनवा गांव में अपने घर के लिए निकले और वह अस्वस्थ थे।"

अली अपने पीछे पत्नी सलमा बेगम और उनके 6 साल के बेटे को छोड गए हैं।

Next Story

विविध

Share it