Top
राजनीति

मोदी सरकार की माया ऐसी कि नीरव मोदी आज तक भगौड़ा ही नहीं घोषित

Prema Negi
12 July 2018 5:16 AM GMT
मोदी सरकार की माया ऐसी कि नीरव मोदी आज तक भगौड़ा ही नहीं घोषित
x

बैंक घोटालेबाज नीरव मोदी, मेहुल चौकसी तो छोड़िए विजय माल्या को भी इतने सालों से अब तक नहीं किया गया था भगौड़ा घोषित और न ही की गई थी पूरी संपत्ति जब्त

जनज्वार। हजारों करोड़ का बैंक स्कैम कर देश से फरार चल रहे नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को अभी तक मोदी सरकार ने भगौड़ा तक घोषित नहीं किया है। ऐसा इसलिए क्योंकि ईडी ने बैंक घोटाले के इतने महीने बीत जाने के बीत जाने के बाद नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को ‘भगोड़ा आर्थिक अपराधी’ घोषित करने की मांग विशेष अदालत से की है। यही नहीं अभी तक नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की संपत्ति तक जब्त नहीं की गई है।

संबंधित खबर : ये रहे वो 30 बैंक जिनके पैसे लेकर भाग गया नीरव मोदी

भगौड़े नीरव मोदी का हजारों करोड़ का एक और फ्रॉड आया सामने

हालांकि मीडिया से इससे संबंधित तमाम खबरें आईं कि नीरव मोदी और मेहुल चौकसी की सारी चल—अचल संपत्तियां जब्त कर ली गई हैं, मगर यह सिर्फ कोरी अफवाह है। सच अब सामने इसलिए आया है क्योंकि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने कल 11 जुलाई को विशेष पीएमएलए अदालत का दरवाजा खटखटाकर हीरा व्यावसायी नीरव मोदी और मेहुल चोकसी को ‘भगोड़ा आर्थिक अपराधी’ घोषित करने और दो अरब डॉलर के पीएनबी धोखाधड़ी मामले में उनकी 3500 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति जब्त करने की मांग की है।

संबंधित खबर : देखती रह गयी मोदी सरकार, विजय माल्या के बाद अब नीरव मोदी भी भाग गया देश छोड़कर

गौरतलब है कि हीरा व्यवसायी नीरव मोदी और मेहुल चौकसी द्वारा पंजाब नेशनल बैंक के साथ किया गया तकरीबन 13400 करोड़ का फ्राड सामने आया था।

यह भी पढ़ें — खुलासा : प्रधानमंत्री मोदी से दाओस में हुई थी भगोड़े नीरव मोदी की गुप्त मुलाकात



?ref_src=twsrc^tfw|twcamp^tweetembed|twterm^1017037175995752454&ref_url=https://www.khabarindiatv.com/india/national-ed-files-applications-against-nirav-modi-mehul-choksi-under-fugitive-economic-offenders-ordinance-591251

आश्चर्य की बात यह है कि अभी तक भगौड़े विजय माल्या को भी सरकार ने भगौड़ा घोषित नहीं किया था और न ही उसकी तमाम संपत्तियां जब्त की गई थीं। इस महीने की शुरुआत में ईडी ने फ्राड व्यावसायी विजय माल्या के खिलाफ नौ हजार करोड़ रुपये के बैंक धोखाधड़ी मामले में इसी तरह का आवेदन सरकार से किया था। इस संबंध में अदालत द्वारा नए अधिनियम के तहत उसे 27 अगस्त के लिए समन जारी किए थे।

ये भी पढ़ें — फेंकूलॉजी : देश चाह रहा नीरव मोदी पर चर्चा लेकिन मोदी कर रहे परीक्षा पर परिचर्चा

ईडी ने विशेष अदालत से मांग की है कि घोटालेबाज नीरव मोदी और मेहुल चोकसी तथा उनकी कंपनियों की लगभग 3500 करोड़ रुपये की संपत्ति को तुरंत जब्त करने की इजाजत दी जाए। साथ ही यह भी मांग की है कि ईडी उनकी चल-अचल संपति को जब्त करना चाहती है, जिसमें ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात की संपत्ति भी शामिल है। मीडिया में आई खबरों के मुताबिक ईडी की तरफ से दायर दो पीएमएलए आरोप पत्रों के आधार पर यह कार्रवाई की गई है।

संबंधित खबर : कांग्रेस के समय नहीं पिछले साल मोदी सरकार में मिला नीरव मोदी को 11 हजार करोड़ का लोन

गौरतलब है कि बैंक धोखाधड़ी मामले में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ ईडी और सीबीआई जांच कर रहे हैं।

पढ़ें : पीएनबी घोटाले में एसआईटी जांच से क्यों डर रही मोदी सरकार

यह भी पढ़ें— नया खुलासा : पंजाब नेशनल बैंक से भी बड़ी लूट गुजरात में, 5 पूंजीपतियों ने किया 26 हजार 500 करोड़ का नया बैंक घोटाला

यह भी पढ़ें—रोटोमैक का भगोड़ा मालिक दिखा दैनिक जागरण के मालिक की बेटी की शादी में

यह भी पढ़ें— पीएनबी लूट : अंबानी का चचेरा भाई है नीरव मोदी की कंपनी का चीफ फाइनेंसियल आॅफिसर

Next Story

विविध

Share it