Top
राष्ट्रीय

'भूखे प्रवासी मजदूरों से किराया वसूलने वाले रेल मंत्रालय के पास पीएम केयर फंड में देने के लिए कहां से आए 151 करोड़'

Manish Kumar
4 May 2020 4:38 AM GMT
भूखे प्रवासी मजदूरों से किराया वसूलने वाले रेल मंत्रालय के पास पीएम केयर फंड में देने के लिए कहां से आए 151 करोड़
x

राहुल गांधी ने ट्वीट कर के दावा किया, 'एक तरफ रेलवे दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों से टिकट का भाड़ा वसूल रही है वहीं दूसरी तरफ रेल मंत्रालय पीएम केयर फंड में 151 करोड़ रुपए का चंदा दे रहा है...

नई दिल्ली: लॉकडाउन में फंसे मजदूरों से किराया वसूलने के लिए केंद्र सरकार पहले ही आलोचनाओं का सामना कर रही है. अब राहुल गांधी ने सरकार पर बड़ा हमला बोला है.

सोमवार को राहुल गांधी ने ट्वीट कर के दावा किया, 'एक तरफ रेलवे दूसरे राज्यों में फंसे मजदूरों से टिकट का भाड़ा वसूल रही है वहीं दूसरी तरफ रेल मंत्रालय पीएम केयर फंड में 151 करोड़ रुपए का चंदा दे रहा है। जरा ये गुत्थी सुलझाइए!

यह भी पढ़ें- EXCLUSIVE : जयपुर से पटना जा रहे मजदूरों से 4500 रुपए किराया वसूल रहे बस मालिक, सबकुछ बेचकर घर जाने को मजबूर

कांग्रेस उठाएगी घर लौट रहे मजूदरों की रेल यात्रा का खर्च

इस बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने लॉकडाउन के बाद अपने घर लौट रहे मजदूरों के लिए बड़ा ऐलान किया है. कांग्रेस ने फैसला लिया है कि प्रत्येक राज्य कांग्रेस कमेटी जरूरतमंद श्रमिक और प्रवासी मजदूरों की रेल यात्रा का खर्च उठाएगी और इस संबंध में आवश्यक कदम उठाएगी. सोनिया गांधी ने कहा कि यह कांग्रेस पार्टी का यह देशवासियों की मदद और उनके साथ कंधा से कंधा मिलाकर खड़े होने की एक कोशिश भर है.



?s=20

गौरतलब है कि घर जाने की इजाजत मिलने के बाद भी मजदूरों की मुश्क्लिें कम नहीं हुई हैं. लॉकडाउन के बाद अपना रोजगार गंवा चुके और एक महीने से भी ज्यादा समय से मुश्किलों में घिर दो वक्त के खाने के लिए संघर्ष कर रहे मजदूरों के लिए किराया देना बहुत मुश्किल है.

यह भी पढ़ें- देश के सबसे अमीर मंदिर तिरुपति बालाजी ने निकाले 1300 कर्मचारी

बता दें लॉकडाउन के कारण देश के अलग ​अलग हिस्सों में फंसे प्रवासी मजदूर, छात्र, पर्यटकों सहित अन्य लोगों के लिए उनके शहरों और गांवों तक पहुंचाने की इजजात केंद्र सरकार ने शुक्रवार को दी थी. शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घर पर हुई बैठक के बाद इस पर निर्णय लिया गया. इस बैठक में पीएम के साथ गृह मंत्री अमित शाह, रेल मंत्री पीयूष गोयल समेत कई वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे. गृहमंत्रालय ने इस बारे में विस्तृत गाइडलाइन भी जारी की थी.

Next Story

विविध

Share it