Top
अंधविश्वास

रायपुर एम्स का डॉक्टर फैला रहा अंधविश्वास, गायत्री मंत्र और शिव तांडव से कोरोना दूर करने का किया दावा

Nirmal kant
17 May 2020 12:01 PM GMT
रायपुर एम्स का डॉक्टर फैला रहा अंधविश्वास, गायत्री मंत्र और शिव तांडव से कोरोना दूर करने का किया दावा
x

एम्स रायपुर के मेडिकल सुपरिटेंडेट का दावा, हर शनिवार को एम्स परिसर में किया गायित्री मंत्र, इसलिए कोरोना मुक्त हो रहा छत्तीसगढ़, इससे एम्स रायपुर का झारखंड से इंग्लैंड तक हुआ नाम..

जनज्वार ब्यूरो। देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरु ने हमेशा साइंटिफिक टेंपर की बात की, लेकिन लगता है कांग्रेस की छत्तीसगढ़ सरकार इस बात को भूल गयी है, नहीं तो, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने उस डॉक्टर के खिलाफ अबतक कोई कार्रवाई क्यों नहीं की जो गायत्री मंत्र और शिव तांडव से कोरोना वायरस के संक्रमण को खत्म करने का दावा कर रहा है।

दरअसल प्रदेश की राजधानी रायपुर के एम्स से हैरान करने वाली खबर सामने आ रही है। रायपुर के एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट का एक वीडियो बीते एक सप्ताह सोशल मीडिया के अलग अलग प्लेटफॉर्म पर वायरल हो रहा है। जिसमें वह दावा करते हुए दिखाई दे रहे हैं कि गायित्री मंत्री और शिव मंत्र के जाप से रायपुर कोरोना वायरस के संक्रमण से मुक्त हुआ है। म्स रायपुर के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. करण पीपरे ने वीडियो में यह बताते हुए दिखाई दे रहे हैं कि विज्ञान के बजाय गायंत्री मंत्र औऱ यज्ञ के द्वारा मरीज ठीक हो रहे हैं। हर शनिवार को बड़े पैमाने पर गायत्री यज्ञ एम्स परिसर में आयोजित किया जाता है।

एम्स रायपुर के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. करण पीपरे ने क्या कहा

'आज हम एम्स रायपुर में कोरोना वायरस से जो इनफेक्शन है, विश्वव्यापी जो महामारी फैली हुई है, एक आपात स्थिति चिकित्सा जगत की आ गई है। उससे हम युद्धस्तर पर लड़ाई लड़ रहे हैं। हमारे चिकित्सक, हमारे नर्सिंग ऑफिसर्स, हमारे इनफेक्शन कंट्रोल के अधिकारी और कर्मचारी, सुरक्षा अधिकारी, पैरामेडिकल स्टाफ और एडमिनिस्ट्रेशन का स्टाफ है, आज कोरोना वायरस से युद्द लड़ रहा है। मुझे याद है जब चीन से कोरोना वायरस के संक्रमण पूरे विश्व में और हमारे रायपुर तक पहुंचने की खबर आई। तो हमने सोचा हमारे पास एक ही सहारा है मां गायित्री।'

संबंधित खबर : हजारों टन सोना दबा होने की घोषणा करने वाले शोभन सरकार मरते-मरते भी करा गए हजारों पर मुकदमा

'मां गायित्री याद करें, उनकी पूजा करें, उनके नाम से महायज्ञ और आरती करें और उनसे विनती करें कि इस महामारी से हमारे प्रदेश-देश की जो जनता है, जो बच्चे, बड़े बुजुर्ग, माताएं बहनें हैं, उनकी सुरक्षा हो। हम सब गायित्री परिवार को बहुत-बहुत धनन्यवाद देते हैं और शुभकामनाएं देते हैं। जनवरी से लेकर अभी तक प्रत्येक शनिवार को गायित्री परिवार के सदस्य हमारे साथ मिलकर हमारे एम्स रायुपर के इस प्रांगण में सुबह पूजा करते हैं, आरती करते हैं, यज्ञ करते हैं।'

'यज्ञ में जितनी भी सामग्रियां जो पॉजिटिव एनर्जी के लिए उपयोग की जाती हैं चाहे वह घी हो, आम की लकड़िया हो, चाहे जौ-तिल हो, इसका पूरा -पूरा संबंध हर एक पॉजिटिव एनर्जी और मानव सुरक्षा, प्रकृति को सुंदर बनाए रखने के लिए और बीमारियों को जड़ से मिटाने के लिए है और जो धुंआ उससे निकलता है वो निगेटिव उर्जा को नष्ट कर देता है। यह हमने उस समय मां से विनती किया कि हमारे रायपुर छत्तीसगढ़ को एम्स आए मरीज को जो खतरनाक संक्रमण लेकर आया है या और भी जो बीमार आया है उससे निजात दें, मुक्ति दें।'

https://www.facebook.com/surya.bali.923171/videos/794553137742238/UzpfSTEwMDAwMTkzOTI1NDgwNTozMDYwNjExMjk0OTk0MTQ6MTA6MDoxNTkwOTk0Nzk5OjcxMDE2NzA3MzM3NjM2NjgxMjE/

'हमने जो मां से प्रार्थना किया उसका यह परिणाम निकला कि आज हमारा ये प्रदेश कोरोना नाम के रोग से मुक्त हो रहा है। जितने भी मरीज आए हैं, वो 100 प्रतिशत ठीक होकर अपने घरों को प्रस्थान किए हैं। एक भी मौत किसी मरीज की नहीं हुई जबकि पूरी दुनिया में लोग इस बीमारी से मारे जा रहे हैं। इस बीमारी से ग्रस्त हैं। इस बीमारी से संघर्ष कर रहे हैं। लेकिन हमने अपने गायित्री परिवार के जितने भी भाई बंध लोग हैं उनके साथ मिलकर जो हमने पूजा-पाठ किया है, जो यंत्र और मंत्र का उच्चारण किया है, शिव तांडव का जो हमने पाठ किया है, उसकी वजह से हमारा एम्स विजयी हुआ है।'

संबंधित खबर : अंधविश्वास पर टिकी है रामदेव की इलाज पद्धति, अब सरसों के तेल से कोरोना वायरस मारने का दावा

'पूरा विश्व देख रहा है कि हमें प्रतिदिन शुभकामनाएं मिल रही हैं। माननीय प्रधानमंत्री जी, मुख्यमंत्री जी, माननीय स्वास्थ्य मंत्री जी और हमारे डायरेक्टर महोदय, आसपास की जितनी जनता है हमें शुभकामनाएं दे रहे हैं। एम्स रायपुर का झारखंड से इंग्लैंड तक नाम हुआ है, मैं गायित्री परिवार का धन्यवाद करता हूं, शुभकामनाएं देता हूं।'

Next Story

विविध

Share it