Top
राजनीति

रामदेव और शिवराज ने WHO के मानकों को दिखाया ठेंगा, मध्यप्रदेश में जड़ी-बूटी से शुरू हुआ कोरोना का इलाज

Nirmal kant
21 May 2020 3:30 AM GMT
रामदेव और शिवराज ने WHO के मानकों को दिखाया ठेंगा, मध्यप्रदेश में जड़ी-बूटी से शुरू हुआ कोरोना का इलाज
x

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में कोरोना के इलाज एवं संक्रमण रोकने की श्रेष्ठतम व्यवस्था की गई है। साथ ही लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग किया जा रहा है...

जनज्वार। मध्य प्रदेश में कोरोना के संक्रमण के खिलाफ आयुर्वेदिक दवाओं के जरिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की दिशा में किए गए प्रयासों की योग गुरु बाबा रामदेव ने सराहना की है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बाबा रामदेव से प्रदेश के तमाम मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ चर्चा की।

धिकारिक तौर पर बुधवार को दी गई जानकारी में बताया गया है कि चर्चा के दौरान योगगुरू बाबा रामदेव ने कहा, 'मुख्यमंत्री चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में आयुर्वेदिक दवाओं के माध्यम से लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाकर कोरोना संक्रमण रोकने की दिशा में सराहनीय कार्य हुआ है। कोरोना मरीजों पर भी प्रदेश में आयुर्वेद दवा का उपयोग कारगर रहा है। कोरोना को नियंत्रित करने की मध्यप्रदेश से जो दिशा निकलेगी उससे पूरे विश्व को लाभ होगा। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक औषधियां कोरोना को रोकने एवं उसके इलाज में अत्यंत उपयोगी हैं।'

संबंधित खबर : अंधविश्वास पर टिकी है रामदेव की इलाज पद्धति, अब सरसों के तेल से कोरोना वायरस मारने का दावा

मुख्यमंत्री चौहान ने इस दौरान कहा, 'प्रदेश में कोरोना के इलाज एवं संक्रमण रोकने की श्रेष्ठतम व्यवस्था की गई है। साथ ही लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं का प्रयोग किया जा रहा है। अभी तक लगभग दो करोड़ लोगों को आयुष विभाग के सहयोग से त्रिकटु काढ़े के पैकेट्स वितरित किए गए हैं। कोरोना कार्य में लगे स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी आदि को भी काढ़ा पिलाया जा रहा है।'

चौहान ने बाबा रामदेव को प्रदेश के चिकित्सा अधिकारियों को आयुर्वेदिक दवाओं के इस्तेमाल एवं प्राणायाम संबंधी मार्गदर्शन देने के लिए हार्दिक धन्यवाद दिया तथा आशा व्यक्त की कि आयुर्वेदिक दवाओं एवं प्राणायाम का उपयोग कोरोना के विरुद्घ जंग जीतने में अत्यधिक सहायक होंगे।

बाबा रामदेव ने कहा कि जिस व्यक्ति की इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) अच्छी है उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक दवाओं के उपयोग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है। बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण को तोड़ने में अश्वगंधा एवं गिलोए अत्यंत कारगर होते हैं। कोरोना मरीजों के उपचार में इनके उपयोग के अच्छे परिणाम सामने आए हैं।

संबंधित खबर : क्या रामदेव पतंजलि को उबारने के लिए कर रहे कोरोना वायरस के नाम पर इलाज के फर्जी दावे?

बाबा रामदेव ने बताया, 'कोरोना से बचाव के लिए छह प्राणायाम भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम, विलोम, भ्रामरी एवं उज्जयी प्राणायाम नियमित रूप से करें। कोरोना के मरीज भी ये प्राणायाम कर सकते हैं। प्राणायाम का तुरंत लाभ होता है।इसके अलावा गिलोए, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी एवं अदरक का काढ़ा रोज पिएं। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी अच्छी हो जाती है। गिलोए, अश्वगंधा एवं अणुतेल भी काफी उपयोगी हैं।'

Next Story

विविध

Share it