Top
राष्ट्रीय

तमिलनाडु में सत्ताधारी पार्टी के 2 कार्यकर्ताओं ने स्कूली छात्रा को जिंदा जलाया, स्टालिन ने की कड़ी सजा की मांग

Nirmal kant
11 May 2020 3:13 PM GMT
तमिलनाडु में सत्ताधारी पार्टी के 2 कार्यकर्ताओं ने स्कूली छात्रा को जिंदा जलाया, स्टालिन ने की कड़ी सजा की मांग
x

डीएमके के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने सत्ताधारी एआईडीएमके पार्टी के दोनों आरोपियों को कड़ी सजा देने की मांग करते हुए हुए दावा किया कि दोनों आरोपियों ने जयश्री (मृतक स्कूली छात्रा) के हाथ, पैर बांधकर और उसके मुंह को कपड़े से बांधकर आग के हवाले कर दिया......

जनज्वार ब्यूरो। तमिलनाडु के विल्लुपुरम जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। सोमवार को कथित तौर पर सत्ताधारी एआईएडीएमके के दो सदस्यों ने 14 वर्षीय एक स्कूली छात्रा को आग के हवाले कर दिया, जिससे छात्रा का 95 प्रतिशत शरीर झुलसने से उसकी मौत हो गई।

डीएमके के अध्यक्ष एमके स्टालिन ने सोमवार को दोनों आरोपियों को त्वरित और कड़ी सजा देने की मांग करते हुए हुए दावा किया कि दोनों आरोपियों ने जयश्री (मृतक स्कूली छात्रा) के हाथ, पैर बांधकर और उसके मुंह को कपड़े से बांधकर आग के हवाले कर दिया।

संबंधित खबर : तमिलनाडु में दो दलितों की हत्या के बाद तनाव, गांव में तैनात किए गए 150 से ज्यादा पुलिसकर्मी

थिरुवेनैनल्लुर के पास सिरुमदुरई कॉलोनी में रविवार को यह अपराध तब हुआ जब लड़की अपने घर पर अकेली थी। आरोपियों ने कहा कि उसके पिता जयपाल के साथ उसकी पुरानी दुश्मनी होने के कारण ऐसा किया।

ने कहा कि आग से लड़की 95 प्रतिशत जल गई, उसको फौरन सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के परिवार वालों ने एआईएडीएमके के दो सदस्यों पर इस वारदात को अंजाम देने का आरोप लगाया है।

संबंधित खबर : तमिलनाडु में कोविड-19 के शव को अंतिम संस्कार से रोकने पर अब 3 साल की होगी जेल

स्टालिन के अनुसार, एआईएडीएमके के सदस्यों द्वारा छात्रा को जिंदा जलाने का यह दूसरा मामला है। इससे पहले साल 2000 में एआईएडीएमके के सदस्यों द्वारा धर्मपुरी में एक बस में आग लगा दी गई थी, जिसमें तमिलनाडु कृषि विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले तीन छात्राएं जिंदा जल गई थीं।

स्टालिन ने पुलिस से निष्पक्ष जांच करने और दोषियों को सख्त सजा दिया जाना सुनिश्चित करने का आग्रह किया।

क वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, 38 वर्षीय जयपाल और उनके भाई के कुमार के पास अपनी पैतृक भूमि का एक एकड़ जमीन है। उनके और मुरुगन (57 वर्षीय) के बीच जमीन को लेकर विवाद था, जो एआईडीएमके का कार्यकर्ता है।

विवार को मुरुगन का सहयोगी सिगरेट खरीदने के लिए जयपाल की छोटी दुकान में पहुंचा। जहां जयपाल के बेटे जयराज (17 वर्षीय) और मुरुगन के दोस्त के बीच जमीन को लेकर झगड़ा शुरु हो गया। झगड़े में जयराज को कई चोटें आईं।

सके बाद जयपाल ने मुरुगन के दोस्त के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। मुरुगन और उनके करीबी सहयोगी कलियापेरूमल जो सिरुमदुरई गांव में एआईडीएमके का शाखा सचिव है, उसने जयपाल की बेटी को आग लगा दी और मौके से भाग गए।

Next Story
Share it