Top
राजनीति

तमिलनाडु के वन मंत्री ने मंदिर में प्रवेश करने के लिए आदिवासी बच्चे से उतरवाए अपने जूते

Nirmal kant
7 Feb 2020 7:42 AM GMT
तमिलनाडु के वन मंत्री ने मंदिर में प्रवेश करने के लिए आदिवासी बच्चे से उतरवाए अपने जूते
x

तमिलनाडु के वन मंत्री श्रीनिवासन का विवादों से है नाता, मुदुमलाई टाइगर रिज़र्व के उद्घाटन के दौरान आदिवासी बच्चे से उतरवाए जूते, साल 2018 में भी एक अधिकारी से उतरवाए थे जूते...

जनज्वार। मुदुमलाई टाइगर रिज़र्व (MTR) में कैद हाथियों के लिए एक कायाकल्प शिविर के उद्घाटन गुरुवार 6 फरवरी को को एक घटना हुई, जिसमें तमिलनाडु के वन मंत्री डिंडीगुल सी श्रीनिवासन ने आदिवासी लड़के को अपने पैर के जूते निकालने के लिए कहा, ताकि वह मंदिर में प्रवेश कर सकें। बच्चे से जूते उतरवाने वाला उनका यह वीडियो और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है और उनकी तरह—तरह से आलोचना हो रही है।

हिंदू की रिपोर्ट के मुताबिक श्रीनिवासन ने जैसे ही लड़के से अपनी जूते निकालने के लिए कहा तो वहां मौजूद फोटोग्राफरों ने तस्वीरें लेने की कोशिश की, लेकिन श्रीनिवासन ने उन्हें रोकने के लिए कह दिया।

संबंधित खबर : मृत बैल का मांस निकाल रहे आदिवासी को झारखंड में हिंदूवादियों ने मार डाला

श्रीनिवासन मुदुमलाई मुदुमलाई टाइगर रिज़र्व में हाथी शिविर का उद्धाटन करने पहुंचे थे। वह जब जिला कलेक्टर और अन्य अधिकारियों के साथ शिविर की ओर बढ़ रहे थे, तभी उन्होंने एक आदिवासी लड़कों को बुलाया।

न्‍होंने उस लड़के से उनके जूते उतारने को कहा, ताकि वह मंदिर में जाकर पूजा कर सकें। वीडियो में श्रीनिवासन कह रह रहे हैं, 'ऐ, यहां आओ, यहां आओ, मेरे जूते उतारो।'

सके बाद लड़के ने सभी की मौजूदगी में मंत्री के जूते उतारे। लड़के ने जब उनके जूते उतार दिए तो वह मुस्कुराते हुए आगे बढ़ गए। यह स्पष्ट नहीं है कि श्रीनिवासन ने लड़के से अपने जूते क्यों उतरवाए। इस घटना को लेकर सोशल मीडिया पर मंत्री की काफी आलोचना हो रही है। लोग उनके खिलाफ एससी/एसटी कानून के तहत कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

संबंधित खबर : SC के आदेश के बाद भी एमपी के बांध प्रभावित 300 से ज्यादा आदिवासी परिवारों को न मुआवजा मिला, न जमीन, 197 आदिवासी गिरफ्तार

हीं मंत्री डिंडीगुल ने कहा कि वह मेरे पोते की तरह लग रहा था, इसलिए मैंने उसे फोन किया और अपने जूते के बकल को हटाने के लिए उसे कहा जो उसने किया।

ह पहली बार नहीं है जब श्रीनिवासन विवादों में आए हों। इससे पहले साल 2018 में भी श्रीनिवासन एक अधिकारी से अपने सैंडल बंधवाने के कारण विवादों में घिर गए थे। पहले भी ऐसे ही कारणों से चर्चा में रह चुके हैं। जुलाई 2018 में भी श्रीनिवासन ने एक अधिकारी से अपने सैंडल बंधवाए थे। सोशल मीडिया पर उनका इससे जुड़ा वीडियो भी वायरल हो गया था। उस समय चेन्नई में एक कार्यक्रम खत्म होने के बाद जब सभी लोग जाने लगे तो वन मंत्री ने सीएम के पीआरओ को बुलाया और सैंडल पहनने में मदद मांगी।

Next Story

विविध

Share it