Top
बिहार

ट्रिपल मर्डर केस : नीतीश सरकार और RJD में आरपार, रोक के बावजूद निकले तेजस्‍वी, गिरफ्तारी संभव

Raghib Asim
29 May 2020 8:07 AM GMT
ट्रिपल मर्डर केस : नीतीश सरकार और RJD में आरपार, रोक के बावजूद निकले तेजस्‍वी, गिरफ्तारी संभव
x

तिहरे हत्याकांड के विरोध में पूर्वघोषित कार्यक्रम के अनुसार विधायकों के साथ गोपालगंज मार्च नहीं कर पाए बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव। पुलिस ने उन्हें 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास के बाहर ही काफिला सहित रोक लिया...

राजेश पांडेय की रिपोर्ट

गोपालगंज/पटना, जनज्वार। तिहरे हत्याकांड के विरोध में पूर्वघोषित कार्यक्रम के अनुसार विधायकों के साथ गोपालगंज मार्च नहीं कर पाए बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव। पुलिस ने उन्हें 10 सर्कुलर रोड स्थित आवास के बाहर ही काफिला सहित रोक लिया। राजद कार्यकर्ताओं ने यहां नारेबाजी भी की।पर भारी संख्या में तैनात पुलिसबल ने काफिले को आगे नहीं बढ़ने दिया। यहां घँटों अफरातफरी का माहौल बना रहा।तेजस्वी यादव ने इसे विशेषाधिकार हनन का मामला बताते हुए बिहार विधानसभा अध्यक्ष से मिलने का समय मांगा है।साथ ही हत्याकांड की सीबीआई जांच की भी मांग की है।

यह भी पढ़ें : आरोग्य सेतु ऐप के 9 करोड़ यूजर्स की प्राइवेसी खतरे में, जानिए क्या है पूरा मामला

ससे पूर्व लॉकडाउन के कारण पटना सिटी मजिस्ट्रेट ने तेजस्वी यादव को विधायकों के साथ गोपालगंज जाने की अनुमति नहीं दी थी।पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास 10 सर्कुलर रोड पर आज सुबह से ही भारी गहमागहमी थी। आवास के अंदर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में आरजेडी विधायकों की बैठक चल रही थी तो आवास के बाहर पुलिस जगह-जगह बैरिकेटिंग कर रही थी।

हां भारी संख्या में जिला पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती की गई थी। सड़क पर बड़ी संख्या में आरजेडी कार्यकर्ता भी मौजूद थे।थोड़ी देर बाद नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और तेजप्रताप यादव अपनी गाड़ियों में बैठकर बाहर निकले। बाहर निकलते ही पुलिस ने उन्हें रोक लिया और गोपालगंज न जाने के लिए मनाने की कोशिश करने लगे।

संबंधित खबर : मजदूर की बेटी पूछी, कानपुर जंक्शन पर तीन दिन से पड़ी मेरे पापा की लाश सड़ चुकी है, आखिर कब होगा पोस्टमॉर्टम

रजेडी कार्यकर्ता नारेबाजी करने लगे तो तेजस्वी ने उन्हें रोका।यहां मीडिया से बात करते हुए तेजस्वी ने कहा कि वे गोपालगंज कोई मारपीट करने तो जा नहीं रहे।वे तो वहां हुए तिहरे हत्याकांड और अन्य हत्याओं के पीड़ितों से मिलने जा रहे हैं।सरकार अपने विधायक को बचा रही है।इसी का वे विरोध कर रहे हैं।उन्होंने आरोपित विधायक अमरेंद्र कुमार पाण्डेय उर्फ पप्पू पाण्डेय पर कई गंभीर आरोप भी लगाए और कहा कि उन्हें बिहार पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं।उन्होंने इन हत्याओं की सीबीआई से जांच की मांग भी उठाई।

संबंधित खबर : गुजरात- पिता की हत्या के आरोपी बेटे की क्वारंटीन सेंटर में मौत, पुलिस ने बताया आत्महत्या

हीं से उन्होंने बिहार विधानसभा अध्यक्ष से मोबाइल पर बात की और कहा कि विधानसभा अध्यक्ष उनके संरक्षक हैं और वे उनसे मुलाकात कर अपनी बात रखना चाहते हैं।इसलिए वे पुलिस को निर्देश दें कि उन्हें विधानसभा अध्यक्ष के पास जाने दिया जाय। तेजस्वी यादव ने उन्हें हाउस अरेस्ट किए जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि आरोपित विधायक की गिरफ्तारी नहीं हुई तो वे चुप नहीं बैठेंगे।

धर भाकपा माले की टीम भी आज गोपालगंज जाने वाली है।भाकपा माले के राज्य सचिव कुणाल,पोलित ब्यूरो सदस्य धीरेंद्र झा और विधायक अमरनाथ यादव भी गोपालगंज जाने वाले हैं।

frameborder='0' allowfullscreen=''> है कि विगत रविवार को गोपालगंज जिला के हथुआ थाना क्षेत्र के रूपनचक गांव में बाइक सवार अपराधियों ने आरजेडी नेता जेपी यादव के पूरे परिवार पर अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी।फायरिंग में जेपी यादव के माता-पिता की घटनास्थल पर ही मृत्यु हो गई थी जबकि बुरी तरह से घायल जेपी यादव और उनके भाई को अस्पताल ले जाया गया था।अस्पताल में जेपी यादव के भाई की भी मृत्यु हो गई थी।घायल जेपी यादव का इलाज अभी पटना के पीएमसीएच में चल रहा है।

टना के बाद घायल जेपी यादव के बयान पर जेडीयू विधायक अमरेंद्र कुमार पांडेय उर्फ पप्पू पाण्डेय,उनके बड़े भाई बाहुबली सतीश पाण्डेय और उनके भतीजे गोपालगंज जिला परिषद अध्यक्ष मुकेश पाण्डेय और एक अज्ञात सहित चार लोगों को आरोपित करते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी।पुलिस आरोपित सतीश पाण्डेय और मुकेश पाण्डेय को गिरफ्तार कर चुकी है।आरजेडी आरोपित विधायक की गिरफ्तारी की मांग कर रही है।

Next Story

विविध

Share it