Top
उत्तर प्रदेश

इटावा कारागार में कैदियों के दो गुटों में संघर्ष, डिप्टी जेलर समेत 2 दर्जन से अधिक कैदी व जेलकर्मी घायल

Janjwar Team
2 April 2020 9:01 AM GMT
इटावा कारागार में कैदियों के दो गुटों में संघर्ष, डिप्टी जेलर समेत 2 दर्जन से अधिक कैदी व जेलकर्मी घायल
x

उत्तर प्रदेश के इटावा कारागार में कैदियों के दो गुटों में संघर्ष, कुख्यात मोनू पहाड़ी की मौत, डिप्टी जेलर समेत 2 दर्जन से अधिक कैदी व जेलकर्मी घायल हुए...

मनीष दुबे की रिपोर्ट

जनज्वार ब्यूरो। उत्तर प्रदेश के इटावा जिला कारागार में उस समय अफरातफरी मच गई जब वर्चस्व को लेकर कैदियो के दो गुटों में जबरदस्त बवाल हो गया। कैदियो के दोनो गुटो में आमने सामने जमकर लाठी डंडे और ईंट पत्थर चले। बीच बचाव करने पहुंचे जेल कर्मियों पर भी कैदियो ने हमला बोल दिया। हमले में डिप्टी जेलर समेत एक दर्जन पुलिसकर्मी तथा कुछ कैदी भी घायल हुए है।

कैदियो में गंभीर रूप से घायल एक कैदी को इलाज के लिए सैफई के जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। उसके सिर में गम्भीर चोट बताई जा रही है। स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए एसएसपी समेत कई थानों के पुलिस बल और पीएसी बल को बुला लिया गया है। पूरी वारदात दो अलग अलग जेलों से आये कैदियों के बीच वर्चस्व को लेकर विवाद होने की बात कही जा रही है।

संबंधित खबर : कोरोना के खौफ में हुआ लॉकडाउन तो मौके का फायदा उठा जेल से फरार हो गये ये 4 कैदी

कारागार के अधीक्षक राजकिशोर सिंह ने बताया कि आज शाम को जेल बन्द होने के समय जेल में कैदियो के दो गुटों में झगड़ा हो गया। जिसके बाद दोनों गुटों में लाठी डंडे और पत्थर चलने लगे। विवाद होता देख जेल में मौजूद जेलकर्मियों ने बीचबचाव करने का प्रयास किया तो झगड़ रहे कैदियो के गुट ने जेलकर्मियों पर हमला बोल दिया। घटना में एक दर्जन कैदियो और डिप्टी जेलर समेत एक दर्जन से अधिक जेल कर्मी भी घायल हुए है।

स झगड़े में एक कैदी छुन्ना गम्भीर रूप से घायल हुआ है जिसे इलाज के लिए जिला अस्पताल सैफई में भर्ती करवाया गया है। शेष घायलों का इलाज जेल अस्पताल में चल रहा है। स्थिति को काबू में करने के लिए मौके पर जिला प्रशासन को सूचना देकर कई थानों की पुलिस बल और पीएसी को बुलाना पड़ा। कैदियो में मुन्ना खालिद जो कि आगरा जेल और मोनू पहाड़ी कानपुर नगर की जेल से इटावा जेल स्थानांतरित किये गए है। यह लोग उपद्रवी किस्म के कैदी है, इन्ही के बीच वर्चस्व को लेकर झगड़ा हुआ था।

कैदियों के बीच झगड़े की सूचना पर जिला कारागार इटावा का निरीक्षण करने आए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने बताया कि जेल में कैदियो के दो गुटों के बीच मे झगड़ा हुआ है। जिसके बाद दोनों गुटों में बीच बचाव के दौरान कैदियो ने जेलकर्मियों पर हमला बोल दिया। जिसमे डिप्टी जेलर जगदीश प्रसाद समेत कई लोग घायल हुए है। मामले की जांच की जा रही है दोषियों के ऊपर सख्त कानूनी कार्यवाही की जा रही है।

संबंधित खबर : कोरोना के चलते जेलों से छूटेंगे 7 साल से कम की सजा वाले कैदी, सुप्रीम कोर्ट का आदेश

कानपुर के मशहूर शार्प शूटर मोनू पहाड़ी की इटावा जेल में कल देर शाम हुई कैदियों के बीच खूनी संघर्ष में मृत्यु हो गई। जेल में हुए संघर्ष में मोनू पहाड़ी को गंभीर चोंटें आयी थीं। कानपुर समेत आसपास जिलों के गैंगवार में मोनू पहाड़ी एक नामी गिरामी नाम था। कानपुर के डी-2 गैंग से बनी थी मोनू पहाड़ी की पहचान। सबसे पहले बम चलाकर अपराध की दुनिया मे रखा था कदम। जिसके बाद एक के बाद एक जघन्य आपराधिक वारदातों ने उसे डॉन बना दिया था।

Next Story

विविध

Share it