file photo

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने जामिया हिंसा में गिरफ्तार मोहम्मद शादाब और आसिफ तन्हा के पर अब अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (UAPA) भी लगा दिया है…

दिल्ली। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने जामिया हिंसा (Jamia Violence) में गिरफ्तार मोहम्मद शादाब और आसिफ तन्हा (Aisf Tanha) के उपर अब अवैध गतिविधि रोकथाम अधिनियम (यूएपीए) भी लगा दिया है। साथ ही दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने गुरुवार को शादाब को अदालत से सात दिनों की पुलिस रिमांड पर भी ले लिया।

संबंधित खबर : सफूरा जरगर के पति ने कहा- मुझे न्याय व्यवस्था में भरोसा, सोशल मीडिया में बदनाम करने की हो रही कोशिश

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल (Delhi Police) के एक अधिकारी ने इसकी पुष्टि की। मो. शादाब को कुछ दिन पहले ही दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया था। उस पर जामिया हिंसा का षडयंत्र रचने का आरोप है। शादाब (Shadab) को गुरुवार को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने स्पेशल सेल के आग्रह पर शादाब को सात दिनों की पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के एक अधिकारी के मुताबिक, शादाब कुछ दिनों से क्राइम ब्रांच की टीम के पास था। उससे स्पेशल सेल को अब आगे की पूछताछ करना जरूरी था, इसलिए उसे सात दिनों की रिमांड पर लिया गया है।

जरूरी खबर : लॉकडाउन के बीच तिहाड़ जेल में बंद है गर्भवती महिला, दिल्ली पुलिस ने UAPA के तहत लगाया था आरोप

Support people journalism

स्पेशल सेल के अधिकारी ने पुष्टि की कि शादाब पर अब तक यूएपीए नहीं लगा था, मगर अपराध की गंभीरता को देखते हुए अब उस पर यूएपीए भी लगा दिया गया है। स्पेशल सेल के एक अन्य अधिकारी के मुताबिक, आसिफ तन्हा पर भी यूएपीए लगा दिया गया है। जामिया हिंसा में उसकी भी महत्वपूर्ण भूमिका मिली है।

पुलिस का आरोप है कि आसिफ तन्हा पूर्व में गिरफ्तार हो चुकी शफूरा और शरजील इमाम मुख्य सहयोगी है। गौरतलब है कि यूएपीए एक बेहद सख्त कानून है और इसे आतंकवादी और देश की अखंडता एवं संप्रभुता को खतरा पहुंचाने वाली गतिविधियों को रोकने के लिए बनाया गया है, जिसका उपयोग दिल्ली पुलिस छात्रों और आंदोलनकारियों पर कर रही है।