Top
राजनीति

क्या अनुराग ठाकुर के गोली मारने के बयान से उत्साहित था यह दंगाई युवक ?

Nirmal kant
30 Jan 2020 10:46 AM GMT
क्या अनुराग ठाकुर के गोली मारने के बयान से उत्साहित था यह दंगाई युवक ?
x

शाहीनबाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान एक शख्स ने चलाई गोली, विपक्षी दलों ने की अनुराग ठाकुर, कपिल मिश्रा और प्रवेश वर्मा की गिरफ्तारी की मांग, अनुराग ठाकुर ने समर्थकों को 'गोली मारो' के नारों के लिए उकसाया था...

जनज्वार। नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक शख्स ने फायरिंग की। जिसमें शादाब आलम नाम के छात्र को हाथ में गोली लग जाने के कारण बुरी तरह से घायल होने की खबर है। इस घटना के बाद अब सवाल उठने शुरु हो गए हैं कि क्या गोली मारने वाला यह युवक केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर से प्रेरित था। दरअसल केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार 27 जनवरी को रिठाला में भाजपा उम्मीदवार मनीष चौधरी की जनसभा में भड़काऊ नारे के लिए समर्थकों को उकसाया था।

भाजपा उम्मीदवार मनीष चौधरी के समर्थन में एक जनसभा में अनुराग ठाकुर ने चुनावी रैली में आए लोगों को 'गद्दारों को गोली मारने वाला' भड़काऊ नारा लगाने के लिए उकसाया। रैली में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा, 'देश के गद्दारों को', जिसपर भीड़ ने कहा, 'गोली मारो सालों को।'

संबंधित खबर : भाजपा के स्टार प्रचारकों की बस एक ही तमन्ना, किसी तरह सांप्रदायिक बन जाए दिल्ली चुनाव

नीष चौधरी के समर्थन में एक जनसभा में ठाकुर ने शाहीन बाग में नागरिकता कानून के खिलाफ चल रहे प्रदर्शन और कथित देश विरोधी नारों से विपक्षी पार्टियों को जोड़ा और भीड़ से विवादित नारे लगाने को कहा था।

नफरत से भरे बयानों के बीच भाजपा सांसद प्रवेश वर्मा और अनुराग ठाकुर का नाम पार्टी के स्टार प्रचारकों की सूची से नाम हटा दिया गया। अनुराम ठाकुर और प्रवेश वर्मा के बयानों पर एक्शन लेते हुए चुनाव आयोग ने दोनों सांसदों का नाम स्टार प्रचारकों की लिस्ट से हटाने का आदेश जारी किया था।

शाहीनबाग और जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले 45 दिनों से लगातार प्रदर्शन किए जा रहे है। लोग नागरिकता संशोध कानून के विरोध में सड़कों पर बैठे हुए है। ऐसे में प्रदर्शनों के बीच में जामिया कॉऑडिनेशन कमेटी ने 30 जनवरी को महात्मा गांधई की पुण्यतिथि पर राजघाट तक नौ किलोमीटर लंबा मार्च निकालने का आह्रान किया था।

संबंधित खबर : जामिया मिल्लिया के छात्र को हिंदूवादी युवक ने मारी गोली, पुलिस ने किया गिरफ्तार

अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा की गिरफ्तारी की मांग

हीं इस मामले के बाद सोशल मीडिया पर भाजपा नेता अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा की गिरफ्तारी की मां उठने लगी है। सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि जामिया में गोली मारने की घटना के बाद लोगों की मांग है कि अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा के भड़काऊ बयान के बाद यह घटना हुई है। इसलिए जल्द से जल्द अनुराग ठाकुर और कपिल मिश्रा को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। गिरफ्तारी की मांग को लेकर लोग ट्विटर पर #ArrestAnuragThakur हैशटैग चलाकर ट्वीट कर रहें हैं।

पूरे मामले पर सीपीआई नेता कन्हैया कुमार ने ट्वीट करते हुए कहा कि नफरत में अंधा होकर आजाद भारत के पहले आतंकवादी नाथूराम गोडसे ने 72साल पहले इसी तरह गांधीजी की हत्या कर दी थी क्योंकि उसे लगता था कि बापू ‘देश के गद्दार’ हैं। आज राम का नाम लेकर सत्ता में आए लोग नाथूराम का देश बना रहे हैं। जागिए, इससे पहले कि पूरा देश बर्बाद हो जाए।

सीपीआई (एम) ने ट्वीट कर कहा, दिल्ली पुलिस को 'गोली मारो' नारे का उपयोग करके हिंसा भड़काने के लिए अनुराग ठाकुर, प्रवेश वर्मा और कपिल मिश्रा के खिलाफ एफआईआर दर्ज करनी चाहिए। यह उसी का परिणाम है।

हीं समाजवादी पार्टी ने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से लिखा, 'शर्मनाक दृश्य है यह! दिल्ली पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है और एक सिरफिरा तमंचा लहराते हुए शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे जामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों पर फायरिंग करता है। देश ने देखा कैसे केंद्रीय मंत्री ने उकसाया।'

माजवादी पार्टी के पूर्व प्रवक्ता अनिल यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि 72 साल पहले गोली लगने वाले ने मारते हुए राम का नाम लिया था। आज मारने वाला राम का नाम ले रहा है। बापू का देश बदल गया।

हीं इस घटना पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी की प्रतिक्रिया भी सामने आई है। प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा- जब भाजपा सरकार के मंत्री और नेता लोगों को गोली मारने के लिए उकसाएँगे, भड़काऊ भाषण देंगे तब ये सब होना मुमकिन है। प्रधानमंत्री को जवाब देना चाहिए कि वे कैसी दिल्ली बनाना चाहते हैं? वे हिंसा के साथ खड़े हैं या अहिंसा के साथ? वे विकास के साथ खड़े हैं या अराजकता के साथ?

भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल करते हुए लिखा कि मैं देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी से पूछना चाहता हूं कि आपको तो कपड़ों की बड़ी पहचान है इसके कपड़े देखकर बताएं ये कौन है?

.

Next Story

विविध

Share it