समाज

जामिया मिल्लिया के छात्र को हिंदूवादी युवक ने मारी गोली, पुलिस ने किया गिरफ्तार

Vikash Rana
30 Jan 2020 9:07 AM GMT
जामिया मिल्लिया के छात्र को हिंदूवादी युवक ने मारी गोली, पुलिस ने किया गिरफ्तार
x

जनज्वार। दिल्ली के जामिया इलाके में एक युवक ने CAA के विरोध में आंदोलन कर रहे छात्रों पर फायरिंग की। इस घटना के बाद पुलिस ने युवक को हिरासत में ले लिया है। उससे पूछताछ की जा रही है।

नागरिकता संशोधन कानून और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर के विरोध में दिल्ली की जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च के दौरान एक शख्स ने फायरिंग की। जिसमें शादाब आलम नाम के छात्र को हाथ में गोली लग जाने के कारण बुरी तरह से घायल हो चुका है।

जामिया में गोली चलाने वाले हिंदूवादी युवक की पहचान कर ली गयी है। गोलीकांड करने से काफी देर पहले से वह फेसबुक पर लाइव था और तमाम तरह के स्टेटस लिख रहा था, जिस पर सैकड़ों कमेंट हैं जो उसे अपना हीरो साबित कर रहे हैं। इसका फेसबुक प्रोफाइल रामभक्त गोपाल के नाम से बना है।

दिल्ली पुलिस के अनुसार गोली चलाने वाल राम गोपाल नोएडा के जेवर का रहने वाला है गोपाल ने अपने फेसुबक इंट्रो में लिखा है- रामभक्त गोपाल नाम है हमारा बायो में इतना ही काफ़ी है। बाकी सही समय आने पर जय श्री राम गोपाल अपने फेसबुक में खुद को आरएसएस के संगठन बजरंग दल से जुड़े हुए है। हालांकि 28 जनवरी को एक पोस्ट में गोपाल ने लिखा था- मैं सभी संगठनों से मुक्त हूं.

संबंधित खबर: क्या अनुराग ठाकुर के गोली मारने के बयान से उत्साहित था यह दंगाई युवक ?

पने एक स्टेटस में उसने लिखा है, ‘मेरी अंतिम यात्रा पर मुझे भगवा में ले जायें और जय श्री राम के नारे हों…’ उसके इस स्टेटस से स्पष्ट होता है कि वह जामिया में दंगा फैलाने के इरादे से ही गया था।

गोलीकांड से लगभग 1 घंटे पहले उसने फेसबुक लाइव किया और स्टेटस लगाया था ‘शाहीनबाग का खेल खत्म’, जिस पर जयश्री राम, हिंदुत्व और राष्ट्रवाद जय श्रीराम जैसे तमाम कमेंटों की भरमार है। इससे ठीक पहले अपने एक और स्टेटस में उसने लिखा है, ‘कोई हिन्दू मीडिया नहीं है यहाँ…’

क अन्य स्टेटस में गोपाल लिखता है, ‘चंदन भाई ये बदला आपके लिए है…’ जिस चंदन की वह बात कर रहा है वह वही युवक है जो कासगंज में हुए दंगे के दौरान गोली लगने से मारा गया था। चंदन भी हिंदूवादी संगठन से जुड़ा हुआ था।

पने बारे में वह फेसबुक पर लिखता है, रामभक्त गोपाल नाम है हमारा, BIO में इतना काफी है, बाकी सही समय आने पर, जय श्री राम…’ उसने एफबी प्रोफाइल में खुद को जेवर से बजरंग दल का कार्यकर्ता लिखा हुआ है।

संबंधित खबर: BREAKING : जामिया के छात्र पर गोली चलाने से पहले गोपाल ने FB पर लिखा ‘शाहीनबाग का खेल खत्म’

ह हिंदू अतिवादी गोपाल जामिया का छात्र नहीं है। फायरिंग से पहले गोपाल कई बार जामिया से अपने फेसबुक अकाउंट पर लाइव भी हुआ था, ताज्जुब की बात तो यह कि उसकी फेसबुक लाइव पोस्ट को जहां सैकड़ों लोगों ने शेयर किया है, वहीं हजारों लोगों ने वीडियो देखी हुई है। उसकी एफबी प्रोफाइल पर शेयर की गयी तमाम पोस्टें, तस्वीरों से जाहिर होता है कि वह हिंदू अतिवाद से कितना ज्यादा प्रभावित था, कि उसके लिए जान तक न्यौछावर करने को तैयार रहता था।

शाहीनबाग और जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पिछले 45 दिनों से लगातार प्रदर्शन किए जा रहे है। लोग नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में सड़कों पर बैठे हुए है। ऐसे में प्रदर्शनों के बीच में जामिया कॉऑडिनेशन कमेटी ने 30 जनवरी को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर राजघाट तक नौ किलोमीटर लंबा मार्च निकालने का आह्रान किया था।

हीं सोशल मीडिया पर सुभाष शर्मा लिखते है आज फिर एक बंदूकधारी गोडसे की राह पर उतरा जामिया के छात्र को गोली मारी 'हे राम'

Next Story

विविध