Top
सिक्योरिटी

राष्ट्रीय अधिवेशन के बाद और ताकतवर हो गए चीनी राष्ट्रपति

Janjwar Team
24 Oct 2017 6:23 PM GMT
राष्ट्रीय अधिवेशन के बाद और ताकतवर हो गए चीनी राष्ट्रपति
x

2,300 डेलीगेटों ने पार्टी संविधान में संशोधन को मंजूरी देकर नए मार्गदर्शक वैचारिक सिद्धांत के रूप में चीनी विशेषताओं वाले समाजवाद पर शी जिनपिंग की विचारधारा को किया शामिल...

बीजिंग से जय प्रकाश पांडे

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) की 19वीं कांग्रेस आज मंगलवार 24 अक्तूबर को संपन्न हो गयी। कांग्रेस में शी जिनपिंग के नाम और उनके वैचारिक योगदान को पार्टी संविधान में शामिल किया गया।

2,300 डेलीगेटों ने पार्टी संविधान में संशोधन को मंजूरी देकर नए मार्गदर्शक वैचारिक सिद्धांत के रूप में चीनी विशेषताओं वाले समाजवाद पर शी जिनपिंग की विचारधारा को शामिल किया। माओ त्से तुंग और तंग शिआओपिंग के बाद शी को यह सम्मान मिला है। इसके बाद शी और ताकतवर नेता बनकर उभरे हैं, चीन के कम्युनिस्ट इतिहास में उनका कद भी बढ़ गया है।

जयप्रकाश पांडे को और पढें : चीन में नेता का दौरा कुछ यूं बदल देता है गांव की तकदीर

कांग्रेस ने शी के दूसरे कार्यकाल के लिए नई केंद्रीय कमेटी के 204 सदस्यों को भी चुना। केंद्रीय कमेटी बुधवार को 25 सदस्यीय पोलित ब्यूरो और स्टेंडिंग कमेटी का चयन करेगी। शी द्वारा 18 अक्टूबर को प्रस्तुत की गयी कार्य रिपोर्ट को भी मंजूरी दी गयी। शी ने कहा कि राष्ट्रीय कायाकल्प को वास्तविक लक्ष्य बनाने में हम आज पहले की तुलना में करीब, अधिक आत्मविश्वास और अधिक सक्षम हैं।

शी ने समापन समारोह की अध्यक्षता की। इस मौके पर उनके दो पूर्ववर्ती नेता हू चिंताओ और चियांग जेमिन भी मौजूद थे। इन दोनों नेताओं के विचारों को उनके कार्यकाल समाप्त होने के बाद बिना नाम के पार्टी संविधान में शामिल किया गया था।

जयप्रकाश पांडे को और पढें : माओ ने इसी गांव से की थी 'लॉन्ग मार्च' की शुरुआत

पार्टी संविधान में भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई जारी रखने के लिए व्यापक प्रयास, शी जिनपिंग की सैन्य सोच और सशस्त्र बलों पर पार्टी का पूर्ण नेतृत्व, बेल्ट और रोड प्रयास को जारी रखने के संशोधन भी शामिल किये गए।

कांग्रेस के प्रतिनिधियों ने कहा कि चीन ने पिछले पांच सालों में उल्लेखनीय परिवर्तन किये हैं और देश ने नए युग में प्रवेश किया है। चीनी विशेषताओं के साथ समाजवाद के निर्माण की नई यात्रा शुरू कर दी है।

जयप्रकाश पांडे को और पढें : ब्रिक्स में आतंकवाद के मुद्दे पर भारत की पहली बड़ी जीत

कांग्रेस ने पार्टी सदस्यों और चीन की जनता से वर्ष 2035 तक चीन को आधुनिक समाजवादी देश बनाने जबकि वर्ष 2050 तक समृद्ध, मजबूत, लोकतांत्रिक और सांस्कृतिक रूप से उन्नत देश बनाने को कहा।

संबंधित खबरें :
भारत से विवादों को बातचीत से सुलझायेगा चीन : शी जिनपिंग

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी का सम्मेलन कल से, भारत भी एजेंडे में

Next Story

विविध

Share it