राजनीति

पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर लखनऊ से गिरफ्तार, रेप पीड़िता को आत्मदाह के लिए मजबूर करने का आरोप

Janjwar Desk
27 Aug 2021 11:36 AM GMT
पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर  लखनऊ से गिरफ्तार, रेप पीड़िता को आत्मदाह के लिए मजबूर करने का आरोप
x

रेप पीड़िता को आत्मदाह के लिए उकसाने वाले मामले में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर गिरफ्तार

सुप्रीम कोर्ट के आगे आत्मदाह करने वाली महिला और उसके साथी को गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां 21 अगस्त को गवाह सत्यम राय और 25 अगस्त को दुष्कर्म पीड़िता की मौत हो गई...

जनज्वार। जबरिया रिटायर IPS अमिताभ ठाकुर को आज 27 अगस्त को लखनऊ पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अमिताभ ठाकुर पर सुप्रीम कोर्ट के आगे आत्मदाह करने वाले जोड़े ने आरोप लगाया था कि वह महिला का रेप करने वाले सांसद अतुल राय की मदद कर रहे थे। इन दोनों की बाद में इलाज के दौरान मौत हो गयी। अब पुलिस ने अमिताभ ठाकुर को रेप पीड़िता को आत्मदाह के लिए उकसाने और रेप आरोपी सांसद अतुल राय की मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि योगी सरकार के खिलाफ खुलकर बोलने वाले पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को जबरन रिटायर कर दिया गया था। उनके खिलाफ लखनऊ पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह करने वाली रेप पीडिता को आत्महत्या के लिए उकसाने को लेकर मामला दर्ज किया था, जिसके बाद उनकी गिरफ्तारी हुई है। फिलहाल अमिताभ ठाकुर को हजरतगंज कोतवाली में रखा गया है। इससे पहले विधानसभा चुनाव जनसंपर्क के लिए उन्हें गोरखपुर जाने से पुलिस ने रोककर नजरबंद किया था, जिसकी जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से साझा की थी।

उन्होंने ट्वीट कर योगी सरकार पर आरोप लगाया था, 'मेरे अयोध्या गोरखपुर यात्रा के निकट आते व नयी राजनीतिक पार्टी की घोषणा करते ही फिर नज़रबंद कर दिया गया। अजीबोगरीब स्थिति! मानो कानून का नहीं व्यक्ति विशेष का राज हो! इतना डर क्यों सरकार? इससे पहले 21 अगस्त को पुलिस ने अमिताभ ठाकुर को नजरबंद कर दिया था। वहीं अमिताभ की पत्नी नूतन ने इसे अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण तथा असंवैधानिक बताया है।'

Live Suicide Case : सांसद पर रेप का आरोप लगाकर सुप्रीम कोर्ट के बाहर आत्मदाह मामले में पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर तलब

इसी माह 16 अगस्त को दिल्ली सुप्रीम कोर्ट के बाहर एक युवती और उसके पुरुष मित्र ने ज्वलनशील पदार्थ डालकर आत्मदाह करने का प्रयास किया था। दोनों सुप्रीम कोर्ट के अंदर जाना चाहते थे, लेकिन पर्याप्त आईडी नहीं होने के कारण उन्हें रोक दिया गया, जिसके बाद दोनों ने खुद को आग लगा ली थी। इस घटना से पहले दोनो ने फेसबुक पर लाइव भी किया था जो वायरल हुआ था। आत्मदाह के बाद गंभीर हालत में दोनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां 21 अगस्त को गवाह सत्यम राय और 25 अगस्त को दुष्कर्म पीड़िता की मौत हो गई।

फेसबुक लाइव के दौरान ही दोनों ने खुद को आग लगा ली थी। फेसबुक लाइव में युवती ने सांसद अतुल राय पर दुष्कर्म करने सहित अमिताभ ठाकुर पर भी कई आरोप मढ़े थे। मामले के तूल पकड़ने के बाद यूपी के योगी सरकार ने IPS नीरा रावत और आरके विश्वकर्मा को जांच सौंपी थी। जांच टीम पीड़िता द्वारा फेसबुक पर लाइव के आरोपों के आधार पर नीरा रावत ने अमिताभ ठाकुर को 23 अगस्त को सुबह 11 बजे हजरतगंज विधानसभा मार्ग स्थित उत्तर प्रदेश भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड कार्यालय पहुंच कर जबाव बयान दर्ज कराने का निर्देश दिया है।

यह है पूरा मामला

बीते साल 18 दिसम्बर 2020 को पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर ने मऊ जिले की घोसी लोकसभा सीट से सांसद अतुल राय के खिलाफ बलात्कार का मुकदमा लिखाने वाली युवती और उसके सहयोगी के खिलाफ केस दर्ज कराया था। अमिताभ ने युवती और उसके सहयोगी पर उन पर और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ अशिष्ट टिप्पणी का आरोप लगाया था। आईपीएस ठाकुर ने एफआईआर में आरोप लगाया था कि बीते 6 नवम्बर 2020 को रात 9 बजे युवती और 7 नवम्बर को 11 बजे युवती के सहयोगी ने अमिताभ ठाकुर को फोन कर धमकाया था। इतना ही नहीं, युवती ने सांसद अतुल राय से पैसे लेकर राजनीतिक पार्टी के एजेंट के रूप में काम करने का आरोप भी लगाया था। इसके बाद दोनों ने वीडियो जारी कर भी अतुल राय के एजेंट के तौर पर अमिताभ पर काम करने का आरोप लगाया था।

अतुल राय के खिलाफ रेप का केस दर्ज कराने वाली युवती की मौत, सुप्रीम कोर्ट के सामने खुद को किया था आग के हवाले

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने एक हफ्ते पहले सीएम योगी के खिलाफ यूपी विधानसभा 2022 चुनाव लड़ने का ऐलान किया था। वह सीएम योगी आदित्यनाथ के खिलाफ चुनावी जनसंपर्क के लिए गोरखपुर जाने वाले थे। इस बीच उन्हें एसीपी गोमतीनगर ने आकर रोक लिया। अमिताभ ठाकुर फिलहाल आईजी रूल्स एंड मैनुअल के पद जबरन रिटायर किया गया था। अमिताभ ठाकुर 1992 बैच के आईपीएस हैं।

Next Story
Share it