समाज

मुंह में कपड़ा ठूंस गर्म तवे से प्रीति को जलाती थी क्रूर सास, ननद और ससुर भी पीछे नहीं थे हैवानियत में : मानसिक रूप से कमजोर पति की बीवी की रोंगटे खड़े करने वाली दास्तां

Janjwar Desk
22 Sep 2022 2:41 PM GMT
मुंह में कपड़ा ठूंस गर्म तवे से प्रीति को जलाती थी क्रूर सास, ननद और ससुर भी पीछे नहीं थे हैवानियत में : मानसिक रूप से कमजोर पति की बीवी की रोंगटे खड़े करने वाली दास्तां
x

मुंह में कपड़ा ठूंस गर्म तवे से प्रीति को जलाती थी क्रूर सास, ननद और ससुर भी पीछे नहीं थे हैवानियत में : मानसिक रूप से कमजोर पति की बीवी की रोंगटे खड़े करने वाली दास्तां

पीड़िता सास और ननद के जुल्मों की दास्तां बताते है, आग में तवे को दहकाकर गर्म तवे से मुझे जलाते थे, कई बार मुझ पर गर्म पानी डाल देते थे, किसी को मेरी चीख न सुनाई दे इसलिए यह लोग मेरे मुंह में कपड़ा ठूंस देते थे...

Dehradun Crime news : जनज्वार के पास एक विचलित कर देने वाली फोटो प्रीति नाम की एक खूबसूरत युवती की आयी है, जिसे उसकी सास और ननद ने आग में दहकते लोहे और तवे से दागा। उसके बाद खौलता हुआ पानी डालकर शैतानों की भी रूह कंपा देने वाली हरकत कर उसका बुरा हाल कर डाला। इस युवती के साथ नारकीय हैवानियत की पराकाष्ठा का यह मामला उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से सटे विकासनगर का है। कठोर पुलिसकर्मियों को भी दहला देने वाले इस मामले की दो गुनाहगार महिलाएं ही हैं, तो एक हैवान सेना की नौकरी में कार्यरत है।

टिहरी के जाखणीधार ब्लाक की धारमंडल के रिंडोल गांव निवासी पीड़ित युवती प्रीति की मां सरस्वती देवी के मुताबिक प्रीति की शादी जीवनगढ़, विकासनगर देहरादून निवासी अनूप जगूड़ी से 12 साले पहले हुई थी। बीते एक सप्ताह से वह अपनी बेटी को फोन कर रहे थे, मगर उसका मोबाइल बंद आ रहा था। किसी अनहोनी की आशंका से वह अपने बेटे जितेंद्र रतूड़ी के साथ बेटी की ससुराल जीवनगढ़, विकासनगर पहुंची तो प्रीति की सास ने प्रीति से मिलाने से साफ इनकार कर दिया। वह लोग जबरदस्ती घर में घुसे तो रसोई घर में प्रीति अर्द्धनग्न हालत में पड़ी मिली।

प्रीति की मां कहती हैं, मेरी फूल सी बेटी के शरीर पर जलने के करीब 20 निशान मिले। वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी। ऐसी हालत में वे लोग प्रीति को रिंडोल ले आए। जानकारी के मुताबिक प्रीति का पति अनूप मानसिक रूप से कमजोर है। प्रीति के मायके वालों की आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण उस पर बीते कई सालों से अत्याचार किया जा रहा था। बार-बार उत्पीड़न न करने का आश्वासन देकर ससुराल वाले ले जाते थे, मगर उसकी शारीरिक और मानसिक यंत्रणा लगातार जारी रही।

प्रीति पर जुल्म ढाने वाले सास और ननद को भेज दिया गया है जेल

पीड़ित प्रीति के मुताबिक सास और ननद उसे लंबे समय से प्रताड़ित कर रहे थे। वह आग में तवे को दहकाकर गर्म तवे से मुझे जलाते थे। कई बार मुझ पर गर्म पानी डाल देते थे। किसी को मेरी चीख न सुनाई दे, इसलिए यह लोग मेरे मुंह में कपड़ा ठूंस देते थे। कई.कई दिनों तक यह लोग मुझे खाना भी नहीं देते थे। झूठी थालियों में बचा खाना खाकर वह किसी तरह जी रही थी। बच्चों के साथ पति उसे बचाने की कोशिश करता भी था तो पति मानसिक और बच्चे शारीरिक रूप से कमजोर होने कारण कुछ नहीं कर पाते था। प्रीति का ससुर सेना में है। ससुर भी जब छुट्टी आता था तो वह भी उसे मारता था।

प्रीति की मां सरस्वती देवी के मुताबिक उसके पति चिरंजीलाल भी गंभीर रोग से ग्रस्त होने के कारण बिस्तर पर हैं। आर्थिक तंगी और बेटी के ससुरालियों की धमकी के कारण वह मजबूर होकर अपनी बेटी पर ससुरालियों की हैवानियत सहते रहे। वर्ष 2017 में भी ससुरालियों ने बेटी पर अत्याचार किया था, लेकिन तब उन्होंने अपनी गलती मानते हुए भविष्य में ऐसी गलती नहीं करने का आश्वासन दिया था। बावजूद इसके प्रीति से हैवानियत भरा व्यवहार जारी रहा।

सोशल मीडिया पर न डलता वीडियो तो दब गयी होती प्रीति की हर चीख

जीते जी साक्षात नरक भोगने वाली प्रीति की यह दास्तान शायद ही कभी सामने आ पाती, यदि गांव के ही क्षेत्र पंचायत सदस्य बुद्धिराम और रविंद्र जोशी ने प्रीति का वीडियो सोशल मीडिया पर डालकर वायरल न किया होता। सोशल मीडिया पर प्रीति का वीडियो वायरल होते ही इलाके भर में प्रीति की हालात देखकर रोष पनप गया। जगह-जगह से जलाई गई महिला का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल पर लोग अाक्रोशित हो उठे। लोगों की कड़ी प्रतिक्रिया के बाद ग्रामीणों ने बेटी को न्याय दिलाने की ठान ली, जिसके बाद ढालवाला पालिकाध्यक्ष रोशन रतूड़ी, जिला पंचायत सदस्य बलवंत रावत, प्रधान मनोज रतूड़ी, गुरु प्रसाद भट्ट और गांव के लोग पीड़ित परिवार के साथ एसएसपी से मिलने पहुंच गए।

हैवानियत के निशान देखकर पुलिस भी सकते में

शादी के बाद से जुल्म सह रही प्रीति के शरीर पर जलने के 20 से ज्यादा निशान देख टिहरी पुलिस भी सकते में आ गई। एसएसपी ने पीड़िता की मेडिकल जांच कराने के बाद इलाज के लिए उसे देहरादून कोरोनेशन भेजने को कहा है। फिलहाल पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सास और ननद को हिरासत में ले लिया। पुलिस प्रीति के तीनों बच्चों को भी अपने साथ ले टिहरी ले गई है। बताया जा रहा है कि दिल दहला देने वाली इस घटना के बारे में प्रीति के आस पड़ोस के लोगों को भी जानकारी नहीं थी।

मुकदमा दर्ज होने के बाद सास और ननद गिरफ्तार

एसएसपी नवनीत सिंह ने बताया कि तहरीर के आधार पर पीड़िता की सास सुभद्रा देवी, ननद जया जगूड़ी और ससुर देवेंद्र दत्त के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। बताया जा रहा है कि देवेंद्र दत्त सेना में तैनात है। स्वास्थ्य परीक्षण के बाद पीड़िता को उपचार के लिए देहरादून भेज दिया गया है।

नामजद पीड़िता की सास और ननद को दहेज उत्पीड़न, हत्या की कोशिश समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जीवनगढ़ विकासनगर से गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि विकासनगर कोतवाली प्रभारी शंकर सिंह बिष्ट का कहना है कि पीड़ित महिला का पति अनूप जगूड़ी व उसका छोटा भाई अमित मानसिक बीमार हैं। इसके अलावा महिला के ससुर देवेंद्र जगूड़ी सेना में है जो कभी कभार ही घर पर आता है। महिला के तीन छोटे बच्चे हैं जिन्हें महिला की सास व ननद के साथ टिहरी पुलिस अपने साथ ले गई है। उन्होंने बताया कि फिलहाल घर पर मानसिक रूप से बीमार महिला के पति व देवर के अलावा कोई दूसरा ऐसा व्यक्ति नहीं है, जिससे घटना के संबंध में बात की जा सके।

फिलहाल ननिहाल पहुंचे पीड़िता प्रीति के तीनों बच्चों की जिम्मेदारी उसके भाई यानी बच्चों के मामा जितेंद्र पर आ गई है। जितेंद्र ऋषिकेश में किसी होटल में काम करता है, जबकि उसके पिता चिरंजी लाल रतूड़ी गंभीर बीमार है। ऐसे में तीन बच्चों सहित परिवार के जिम्मेदारी जितेंद्र के कंधों पर आ गयी है।

Next Story

विविध