दुनिया

राहत की खबर: Omicron Variant की चपेट में आए 38 देशों में एक भी मौत नहीं- विश्व स्वास्थ्य संगठन

Janjwar Desk
5 Dec 2021 3:53 AM GMT
कई डॉक्टर्स और रिसर्चर्स का मानना है कि ओमिक्रॉन वैरिएंट लोगों तक फैलने देना चाहिए
x

(कई डॉक्टर्स यह भी दावा कर रहे हैं कि ओमिक्रॉन काफी कम घातक है)

Omicron Update: ओमिक्रॉन का पहला मामला 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका में मिला था। अफ्रीका से निकलकर नया कोरोना वैरिएंट अब दुनिया के 38 देशों तक पहुंच चुका है...

Omicron Variant Covid-19: कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन (Omicron Variant) को लेकर हर रोज नई जानकारी सामने आ रही है। विशेषज्ञों के अनुसार, कोरोना का यह नया वैरिएंट अन्य किसी भी वैरिंएट से ज्यादा घातक हो सकता है और इसके फैलने की क्षमता डेल्टा वैरिएंट (Delta Variant) से अधिक तेज है। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि यह वैरिएंट विश्व में कोरोना की तीसरी लहर (Corona Third Wave) का कारण बन सकता है। सभी देशों ने जांच में एक बार फिर से तेजी दिखानी शुरू कर दी है। बाहर से आने वाले यात्रियों के लिए विशेष सतर्कता बरती जा रही है। मगर इसी बीच राहत की एक खबर विश्व स्वास्थ्य संगठन यानि WHO ने दी है। WHO के मुताबिक, अबतक दुनिया के 36 देशों तक पहुंच चुका ओमिक्रॉन (Omicron Cases) से एक भी मौत के मामले सामने नहीं आए हैं।

बता दें कि ओमिक्रॉन का पहला मामला 24 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका (South Africa Omicron) में मिला था। अफ्रीका से निकलकर नया कोरोना वैरिएंट अब दुनिया के 38 देशों तक पहुंच चुका है। WHO ने ओमिक्रॉन को लेकर बड़ी राहत की बात कहा कि पहला मामला मिलने के दो सप्ताह बाद अब तक किसी भी देश में इस वैरिएंट से संक्रमित व्यक्ति की मौत की खबर नहीं आई है। WHO के डायरेक्टर (इमरजेंसी) माइकल रयान ने बताया कि बेहद ज्यादा म्यूटेशन वाला यह कोविड-19 स्ट्रेन कितना खतरनाक है, इसकी सही जानकारी मिलने में अभी कई सप्ताह और लगेंगे। साथ ही यह वैक्सीन के खिलाफ कैसा प्रभाव दिखा रहा है, यह भी कुछ समय बाद ही स्पष्ट हो पाएगा।

भारत में ओमिक्रॉन ने बढ़ाई चिंता

कोरोना के नए वैरिएंट के संदिग्ध मामले भारत (Omicron In India) में भी मिलने लगे है। अबतक मुंबई, कर्नाटक और गुजरात से कुल 4 ओमिक्रॉन संक्रमित मरीजों की पहचान की गई है। महाराष्ट्र स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि एक 33 वर्षीय व्यक्ति जो हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से लौटा है, वो ओमिक्रोन से संक्रमित पाया गया है। वहीं, गुजरात में संक्रमित शख्स दो दिन पहले जिम्बाब्वे से भारत लौटा था।

ओमिक्रॉन के खतरे के बीच दक्षिण अफ्रीका से लौट रहे यात्रियों ने भारत सरकार की चिंता बढ़ा दी है। ऐसे कई लोग सामने आए हैं, जो दक्षिण अफ्रीका से लौटे तो हैं, लेकिन उसके बाद से लापता हैं। बेंगलुरू से अब तक ऐसे 10 दक्षिण अफ्रीकी यात्रियों के लापता होने की खबरें सामने आ चुकी हैं।

कितना घातक होगा Omicron Variant

कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर वैज्ञानिक भी साफ नहीं बता पा रहे हैं कि ओमिक्रॉन कोरोना के अन्य वैरिएंट्स से ज्यादा संक्रामक साबित होगा या नहीं। बता दें कि ओमिक्रॉन की जीनोम सीक्वेंसिंग में कोरोना वायरस के मूल वैरिएंट SARS-CoV-2 में 30 म्यूटेशन के बाद होने की बात सामने आई थी। रिसर्चर्स का कहना है कि ओमिक्रॉन जैसा जेनेटिक सीक्वेंस कोरोना वायरस के अब तक सामने आ चुके डेल्टा, अल्फा, बीटा या किसी अन्य वैरिएंट में नहीं पाया गया है। विशेषज्ञों की माने तो अभी यह कहना मुश्किल है कि यह वैरिएंट पहले आ चुके वैरिएंट्स से ज्यादा खतरनाक साबित होगा या नहीं। इन सवालों का जवाब पाने के लिए अभी कुछ सप्ताह का इंतजार और करना होगा।


Next Story

विविध