दुनिया

Kabul Blast: अफगानिस्तान में आत्मघाती हमला, 46 महिलाओं और लड़कियों समेत 53 की मौत

Janjwar Desk
3 Oct 2022 4:17 PM GMT
Kabul Blast: अफगानिस्तान में आत्मघाती हमला, 46 महिलाओं और लड़कियों समेत 53 की मौत
x

Kabul Blast: अफगानिस्तान में आत्मघाती हमला, 46 महिलाओं और लड़कियों समेत 53 की मौत

Kabul Blast: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के स्कूल में आत्मघाती बम विस्फोट हमला हुआ है। इस हादसे में 46 लड़की और महिला समेत 53 लोगों की मौत हुई है। एएफपी न्यूज एजेंसी ने जानकारी दी।काबुल में शिया बहुल इलाके में शुक्रवार को भी तड़के विस्फोट हुआ था।

Kabul Blast: अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के स्कूल में आत्मघाती बम विस्फोट हमला हुआ है। इस हादसे में 46 लड़की और महिला समेत 53 लोगों की मौत हुई है। एएफपी न्यूज एजेंसी ने जानकारी दी।काबुल में शिया बहुल इलाके में शुक्रवार को भी तड़के विस्फोट हुआ था।

तालिबान के अगस्त 2021 में देश की बागडोर अपने हाथ में लेने के बाद से उसके बड़े प्रतिद्वंद्वी इस्लामिक स्टेट ग्रुप ने दशती बारची इलाके में कई बार हजारा समुदाय को निशाना बनाया है। अफगानिस्तान में तैनात अमेरिका की उप-राजदूत कैरेन डेकर और यूनिसेफ ने हमले की निंदा की है।

काबुल में एक आत्मघाती हमलावर ने शिया बहुल इलाके में स्थित एक शिक्षा केंद्र पर शुक्रवार को हमला कर दिया था, जिसमें 19 लोगों की मौत हो गई और 27 अन्य लोग घायल हो गए। तालिबान के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी दी। प्रवक्ता खालिद जदरान ने बताया कि दशती बारची इलाके में एक केंद्र में शुक्रवार को सुबह विस्फोट हुआ था।

अफगानिस्तान की राजधानी के पश्चिमी हिस्से में सोमवार को एक और विस्फोट हुआ, जिसमें एक अन्य हजारा आबादी वाले इलाके को निशाना बनाया गया। खामा प्रेस समाचार एजेंसी ने बताया कि विस्फोट शहीद मजारी रोड के पास पुल-ए-सुखता इलाके के पास हुआ। शहीद मजारी इलाके में हुआ विस्फोट कथित तौर पर हजारा आबादी वाला इलाका है।

संयुक्त राष्ट्र ने तालिबान से लड़कियों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने का आह्वान किया था जिसके बाद यह नियुक्ति की गयी। संयुक्त राष्ट्र का अनुमान है कि पिछले साल 10 लाख से अधिक लड़कियों को स्कूल जाने से रोका गया। अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक शिया समुदाय के लोग रहते हैं। जदरान ने बताया कि हताहत हुए लोगों में कई छात्र-छात्राएं भी शामिल हैं।

इस्लामिक स्टेट समूह ने दशती बारची और अन्य शिया बहुल इलाकों में विद्यालयों, अस्पतालों एवं मस्जिदों को हाल में कई बार निशाना बनाया है। इस केंद्र का नाम 'काज हायर एजुकेशनल सेंटर' है, जहां छात्रों को कॉलेज प्रवेश परीक्षा की तैयारी कराई जाती है। हमले में बचे 19 वर्षीय शफी अकबरी ने बताया कि केंद्र में सुबह साढ़े छह बजे करीब 300 छात्र पहुंचे थे और करीब एक घंटे के सत्र के बाद विस्फोट हुआ।

Next Story

विविध