आर्थिक

शेयर होर्ल्डस के लिए बड़ी खबर : Adani प्रोपर्टीज के इस फैसले के बाद अडानी पावर स्‍टॉक मार्केट से नहीं होगी डी लिस्ट

Janjwar Desk
18 Sep 2022 8:58 AM GMT
शेयर होर्ल्डस के लिए बड़ी खबर : Adani प्रोपर्टीज के इस फैसले के बाद अडानी पावर स्‍टॉक मार्केट से नहीं होगी डी लिस्ट
x

file photo

Adani Group : अडानी प्रॉपर्टीज द्वारा लिस्‍ट करने का प्रस्‍ताव वापस लेने से अब अडानी पावर के शेयर बाजार में लिस्‍टेड रहेंगी और इसके खरीद और बिक्री पर किसी तरह की रोक नहीं होगी।

Adani Group : अडानी पावर ( Adani Power ) के शेयर होर्ल्डस के लिए एक बड़ी खबर है। अडानी पावर की प्रमोटर कंपनी अडानी प्रॉपर्टीज ( Adani Properties ) ने कंपनी को डी लिस्‍ट ( delist ) करने का प्रस्‍ताव वापस ले लिया है। यानि अब अडानी पावर शेयर बाजार में लिस्‍टेड रहेगी और इसके खरीद और बिक्री पर किसी तरह की रोक नहीं होगी। बता दें कि जब किसी कंपनी को शेयर मार्केट से डी लिस्‍ट किया जाता है तो उस कंपनी के शेयर की खरीद और बिक्री नहीं किया जा सकता है। पिछले कुछ समय से अडानी पावर ( Adani Power ) के निवेशक इस बात को लेकर चिंतित थे कि अगर अडानी पावर शेयर मार्केट से डि लिस्ट हो गया तो उनका क्या होगा?

कंपनी ने डी लिस्टिंग का प्रस्ताव लिया वापस

अडानी पावर कंपनी ने एक नियामकीय फाइलिंग में कहा है कि उसे प्रवर्तक समूह के एक सदस्य से एक पत्र मिला है, जिसमें डीलिस्टिंग प्रस्ताव को वापस लेने की मांग की गई है। अडानी पावर को कंपनी के प्रमोटर और प्रमोटर समूह के एक सदस्य अडानी प्रॉपर्टीज प्राइवेट लिमिटेड से 17 सितंबर, 2022 को डी लिस्‍ट करने का प्रस्‍ताव वापस लेने का पत्र स्‍टॉक एक्‍सचेंज को भेजा गया था। बीएसई फाइलिंग ने बताया कि 29 मई 2020 को डीलिस्टिंग करने का प्रस्‍ताव और बीएसई लिमिटेड और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज ऑफ इंडिया लिमिटेड को भेजा गया था। कंपनी के इक्विटी शेयरों को स्वेच्छा से यहां से हटाने का प्रस्‍ताव भेजा था। अब इस प्रस्‍ताव को एक पत्र के माध्‍यम से जानकारी देकर कंपनी ने वापस ले लिया है।

निकासी प्रस्ताव पर ध्यान देने की जरूरत

अब अडानी प्रापर्टीज अन्य बातों के साथ कंपनी के निदेशक मंडल द्वारा निकासी पत्र को रिकॉर्ड में लेने सहित आवश्यक कदम उठाएगी। अडानी प्रॉपर्टीज ने कहा कि कंपनी को अभी तक स्टॉक एक्सचेंजों की ओर से डी लिस्टिंग ऑफर के लिए मंजूरी नहीं मिली है। स्टॉक एक्सचेंजों की सैद्धांतिक मंजूरी नहीं मिलने के कारण कंपनी और एपीपीएल आगे बढ़ने में असमर्थ हैं। अडानी प्रॉपर्टीज ने पत्र में कहा कि डिलिस्टिंग ऑफर और इसके परिणामस्वरूप डीलिस्टिंग ऑफर के साथ आगे बढ़ने और स्वैच्छिक डीलिस्टिंग प्रक्रिया को लागू करने में काफी और महत्वपूर्ण देरी हुई है। अडानी प्रॉपर्टीज ने कंपनी के निदेशक मंडल से अपील की है कि वह अपने निकासी प्रस्ताव पर ध्यान दें और इसे प्रभावी करने के लिए आवश्यक कदम उठाएं।

बता दें कि अडानी प्रॉपर्टीज के पास अडानी पावर के 2,89,16,12,567 पूरी तरह से भुगतान किए गए इक्विटी शेयर हैं। प्रत्येक इक्विटी शेयर का प्राइज 10 रुपए प्रति शेयर है जो सामूहिक होल्डिंग जारी और बकाया इक्विटी के 74.97 प्रतिशत से बराबर है।ॅ

Next Story

विविध