राष्ट्रीय

Aaj Ki Taza Khabar, 8 October 2021: पढ़िए आज की सभी ताजा खबरें और मुख्य समाचार

Janjwar Desk
7 Oct 2021 5:59 PM GMT
Aaj Ki Taza Khabar, 8 October 2021: पढ़िए आज की सभी ताजा खबरें और मुख्य समाचार
x
Aaj Ki Taza Khabar, 8 October 2021: पढ़िए आज की सभी ताजा खबरें और मुख्य समाचार।

Aaj Ki Taza Khabar, 8 October 2021 : 1. उत्तर प्रदेश के लखीमपुर हिंसा के मुख्य आरोपी केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय टेनी के बेटे आशीष मिश्रा को शुक्रवार, 8 अक्टूबर 10 बजे क्राइम ब्रांच के सामने पेश होना था। पर मंत्री के 'राजकुमार' पुलिस के सामने पेश नहीं हुए। आशीष मिश्रा ने यूपी पुलिस के सामने पेश होने के बजाय एक पत्र लिखा है। पुलिस को लिखे पत्र में आशीष मिश्रा ने कहा कि उसका स्वास्थ्य ठीक न होने के कारण वे पुलिस के सामने पेश नहीं हो सकते। आरोपी आशीष मिश्रा ने पुलिस को आने की तारीख बताते हुए लिखा कि वह शनिवार, 9 अक्टूबर को 11 बजे पुलिस के सामने पेश होंगे। आपको बता दें कि लखीमपुर खीरी में हिंसा के आरोपी आशीष मिश्र को आज यानि शुक्रवार, 8 अक्टूबर को क्राइम ब्रांच के सामने पेश होना था। सुबह 10 बजे क्राइम ब्रांच पूछताछ के लिए आशीष को समन किया गया था। गुरुवार, 7 अक्टूबर को मंत्री अजय मिश्र टेनी के घर पर इसको लेकर नोटिस भी चिपकाया गया था। लेकिन खराब स्वास्थ्य का हवाला देकर मंत्री का बेटा आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच के सामने पेश नहीं हुआ।

Read Full Story : Lakhimpur Kheri मामले पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, पूछा आरोपी आशीष मिश्र अबतक गिरफ्तार क्यों नहीं, हम चाहते हैं जिम्मेदार सरकार

2. समुद्र के बीचोंबीच ड्रग्स पार्टी करने के मामले में फंसे आर्यन खान (Aryan Khan) को शुक्रवार दोपहर नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) दफ्तर से मेडिकल जांच के लिए जेजे अस्‍पताल ले जाया गया। मेडिकल जांच के बाद उन्हें ऑर्थर रोल जेल ले जाया गया। वहीं यूपी के चर्चित मामले लखीमपुर खीरी हिंसा मामले के आरोपी ने पुलिस को हाजिर ना होने का कारण बताया है।आज शुक्रवार 8 अक्टूबर आर्यन खान ड्रग्स केस की किला कोर्ट में आर्यन की जमानत याचिका पर भी सुनवाई हो रही है। यह सब इस तरह हुआ जैसे सबकुछ आनन फानन में हो रहा है। ऐसे में सवाल यह उठता है कि सुनवाई के बीच ही आर्यन को जेल क्यों भेजा जा रहा है? इससे पहले भी आर्यन की गिरफ्तारी को लेकर सवाल उठे थे जिसमें कुछ भाजपा नेता ही शाहरूख खान के पुत्र को गिरफ्तार करने पहुँचे थे।

Read Full Story : Aryan Khan Drugs Case : अडानी पोर्ट से ज्यादा की खेप में पकड़े गये आर्यन को जेल तो लखीमपुर वाले टेनी का सरकार-पुलिस को ठेंगा

3 . हाल में ही किसानों के समर्थन में खडी मेनका गांधी – वरुण गांधी (Menaka Gandhi -Varun Gandhi), अर्थात मां-बेटा की जोड़ी को बीजेपी ने कार्यकारिणी से बाहर का रास्ता दिखाया है, और दूसरे तरफ अजय मिश्रा – आशीष मिश्रा के अपराधी जोड़ी के समर्थन में खुलेआम खड़ी है। ऐसे तो बीजेपी (BJP) के साथ ही सरकार का चाल, चरित्र और चेहरा लगातार उजागर होता है, पर लखीमपुर खीरी (Lakhimpur Kheri) के नरसंहार काण्ड के बाद से तो यह पूरी तरह से दुनिया के सामने आ गया है। बीजेपी का मौलिक स्वभाव अपराधियों को बचाना और जनता के साथ ही हरेक उस आवाज का दमन है जो उसके विरुद्ध उठती हैं।

Read Full Story : Varun Gandhi के कांग्रेस में जाने के वो 10 कारण जिससे कोई नहीं कर सकता इनकार

Next Story

विविध

Share it